'राष्ट्र चिन्ह' जितेंद्र के हवाले, आरई बने अमोल, नई जिम्मेदारी मिली रुपेश को

E-mail Print PDF

गोरखपुर : हिन्दी दैनिक राष्ट्र चिन्ह के वयोवृद्ध संस्थापक एवं सम्पादक रामवचन प्रसाद ने अपनी बीमारी व उम्र को देखते हुए अपने पौत्र जितेन्द्र कुमार को अखबार की सभी जिम्मेदारियों को बीते 12 सितम्बर को सौंप दिया. इस बाबत उन्होंने लिखित शपथ पत्र उच्चाधिकारियों को भेज दिया है. उल्लेखनीय है कि राष्ट्र चिन्ह का स्वामित्व हथियाने का कुचक्र रामवचन के पुत्रों ने किया. प्रेस पंजीयक नई दिल्ली ने पुत्रों के फर्जी घोषणापत्र को अवैध करार दिया और रामवचन को ही स्वामी माना.

पटना : आर्यन टीवी से खबर है कि रुपेश कुमार को इनपुट हेड की जिम्मेदारी दी गई है. भड़ास4मीडिया को एक फोन के जरिए मिली सूचना के मुताबिक अभी तक आर्यन में इनपुट हेड का पद खाली था. इस पर रुपेश की नियुक्ति कर दी गई है. रुपेश ईटीवी में कई वर्षों तक काम कर चुके हैं.

आगरा : एनसीआर इंडिया नामक अखबार जल्द ही आगरा शहर से प्रकाशित होने वाला है. इस अखबार का स्थानीय संपादक अमोल दीक्षित को बनाया गया है. अखबार के संपादक धर्मेंद्र भाटी हैं. आगरा एडिशन 12 पेज का होगा जिसमें 6 पेज रंगीन होंगे. सूत्रों का कहना है कि यूपी में विधानसभा चुनावों को देखते हुए कई छुटभैय्ये अखबारों ने अपने संस्करणों को लांच करने का काम शुरू कर दिया है. देखना ये है कि ये अखबार चुनाव बाद भी चलते रहते हैं या इनका शटर गिर जाएगा.


AddThis
Comments (0)Add Comment

Write comment

busy