प्रज्ञा में भी खलबली, नौ लोग कार्यमुक्‍त किए गए

E-mail Print PDF

महुआ ग्रुप वाले पीके तिवारी के ही धार्मिक चैनल में भी दर्जनों पत्रकारों की दीवाली खराब हो गई है. चैनल के भविष्‍य को लेकर चल रहे कयासों के बीच नौ लोगों को बिना नोटिस के कार्यमुक्‍त कर दिया गया. बताया जा रहा है कि यह ग्रुप अंदर से पूरी तरह खोखला हो चुका है. कभी भी धराशायी हो सकता है. चर्चाओं अफवाहों के बीच बताया जा रहा है कि दिसम्‍बर तक प्रज्ञा को पूरी तरह बंद कर दिया जाएगा.

महुआ न्‍यूज की तरह यहां भी नशा तारी है. प्रबंधन ने बिना नोटिस दिए, बिना कोई कारण बताए नौ लोगों का त्‍योहार खराब कर दिया. बताया जा रहा है कि सोमवार को लगभग दो दर्जन और लोगों की दीवाली खराब करने की योजना बनाई जा चुकी है. सूत्रों की माने तो पीसीआर में कार्यरत 42 लोगों में से 22 लोगों को सोमवार को बाहर का रास्‍ता दिखाने की तैयारी की गई है. इसको लेकर पूरे प्रज्ञा में मातमी माहौल है. जिस मौके पर महुआ ग्रुप के चैनलों में छंटनी की जा रही है, वह बहुत दुखदायी है. कर्मचारी कह रहे हैं कि हमलोगों की आह जरूर पीके तिवारी तथा उनके लोगों को लगेगी. ये लोग भी जल्‍द ही सड़क पर आएंगे.

जिन लोगों को फिलहाल कार्यमुक्‍त किया गया है, उनमें स्क्रिप्‍ट राइटर टीना शर्मा, रुचि शुक्‍ला, प्रोड्यूसर एवं एंकर चारू, बिंदिया चावला तथा गुंजन, प्रोमो प्रोड्यूसर आशीष पाण्‍डेय, ग्राफिक्‍स डिजाइनर आबिद अंसारी, अस‍िस्‍टेंट प्रोड्यूसर कम एडिटर चंचल सैनी, असिस्‍टेंट प्रोड्यूसर रेनु शर्मा शामिल हैं. ये लोग काफी समय से प्रज्ञा से जुड़े हुए थे. इनमें कुछ का परिवार तो इस नौकरी पर ही आश्रित था. बताया जा रहा है कि प्रबंधन ने जिन लोगों को निकाला है, उनसे दिसम्‍बर तक का काम कराया जा चुका है. इतने प्रोग्राम इन लोगों से बनवाए जा चुके हैं कि एमसीआर के सहारे दिसम्‍बर तक इस चैनल को चलाया जा सके.

बताया जा रहा है कि प्रवर्तन निदेशालय के छापे के बाद से पूरे महुआ ग्रुप की ही हालत खराब हो गई है. इसी कारण पगला-पगला कर निर्णय लिए जा रहे हैं. प्रज्ञा को लेकर तो काफी दिनों से तमाम अफवाहें चल रहीं थी, पर अब जिस तरह से प्रबंधन अपने कर्मचारियों से जबरिया इस्‍तीफा ले रहा है, उससे तो यह बात पूरी तरह साफ होती दिख रही है कि यह चैनल जल्‍द ही बंद होने वाला है.


AddThis