उधमसिंह नगर में दो पत्रकारों को उठा लेने की धमकी दे रहे हैं गुंडे, पुलिस खामोश

E-mail Print PDF

: एसपी आफिस पर पत्रकारों के धरने से भी नहीं जागी पुलिस : उत्तराखण्ड के उधमसिंह नगर जिले के रुद्रपुर में कवरेज के लिये गये एक खबरनवीस के साथ पहले तो बदतमीजी की गई फिर उसके साथ मारपीट की गई। पत्रकार की रिपोर्ट पर कायम किये गये मुकदमे के मामले में कोतवाल ने अपराधियों को गिरफ्तार करने के बजाय उल्टा पत्रकारों पर ही मामला सुलटाने का दवाब बना डाला। इसी के साथ हमलावरों से हमसाज होकर पुलिस ने पत्रकारों के खिलाफ भी घर में घुसकर मारपीट करने का मामला पिछली तारीख में दर्ज कर लिया।

जिस पत्रकार के खिलाफ यह मामला दर्ज किया गया उसने कथित तौर पर मारपीट करने वाले के घर में घुसना तो दूर उसका घर तक नहीं देखा था। सारे घटनाक्रम को लेकर जिले भर के खबरनवीसों ने पुलिस अधीक्षक के कार्यालय पर धरने का आयोजन किया। लेकिन नतीजा सिफर निकला। पूरे घटनाक्रम में हमलावरों के निशाने पर रहे राष्ट्रीय सहारा के पत्रकार नरेन्द्र राठौर व दैनिक हाक के मान्यता प्राप्त पत्रकार सौरभ गंगवार जहां एक ओर गुंडों के कहर से बचते फिर रहे हैं, वहीं पुलिस की शह पर गुंडे उन्हें सरेआम उठा ले जाने की धमकी देने पर आमादा हैं।

वैसे इस समय राज्य के मुख्यमंत्री पद पर इस समय पत्रकार, कवि हृदय व्यक्ति आसीन है, तब पत्रकारों का यह हाल है। पत्रकारों के लिये इस मामले में एक और आघात पहुंचाने वाली बात यह है कि क्षेत्र के प्रमुख माने जाने वाले अमर उजाला व दैनिक जागरण ने पत्रकारों की जंग में उनका साथ तो क्या देना था, खबर छापना तक गंवारा नहीं समझा। दोनो ही अखबारों के मैनेजमैंट ने अपने पत्रकारों से यह पता करने की जहमत तक नहीं उठाई कि जनता से पत्रकारों के आंदोलन को क्यों छिपाया जा रहा है।


AddThis