बेवहज इस मामले में मुझे और मेरे परिवार वालों को घसीटा जा रहा है

E-mail Print PDF

आदरणीय। यशवंत जी। नमस्कार मेरे भाई मुजाहिद, निवासी कस्बा लावड जिला मेरठ की शादी सत्ताईस सितंबर दो हजार दस को रेशमा पुत्री अल्ला राजी निवासी राम बाग कालोनी,  थाना नौचंदी,  मेरठ से बिना दान दहेज के हुई थी। शादी के बाद से मेरे भाई की पत्नी अलग रहने की बात करने लगी। मेरा भाई अपनी पत्नी के साथ अलग रहने लगा। उसके बाद से हमारा इनसे कोई लेना देना नहीं है।

मेरे भाई की पत्नी ने अब मेरे भाई और हम सब परिवार वालों को नामजद करते हुए डीआईजी मेरठ को दहेज उत्पीड़न का एक प्रार्थना पत्र दिया, डीआईजी साहब ने इस प्रार्थना पत्र को परिवार परामर्श केन्द्र पुलिस लाइन मेरठ को भेज दिया। मेरा भाई अपनी पत्नी को अपने साथ ले जाने और उसके एवज में शपथ पत्र देने के लिए भी परिवार परामर्श केन्द्र में कहा,  लेकिन मेरे भाई की पत्नी ने साथ रहने से साफ मना कर दिया और हम लोगों पर दहेज उत्पीड़न का मुकदमा दर्ज कराने की मांग करने लगी।

अधिकारियों ने इस मामले में मेरी भाई की पत्नी के खिलाफ कार्रवाई की बात कही है। उनका कहना है कि जब लड़का पक्ष लड़की को ले जाने की बात कह रहा है तो दहेज उत्पीड़न का मामला बनता नहीं है। श्रीमान जी मेरा और मेरे परिवार वालों का इस प्रकरण से कोई ताल्लुक नहीं है। हमें बेवजह इस प्रकरण में घसीटा जा रहा है। लड़की पक्ष के लोग दबंग है। आपसे निवेदन है कि इस प्रकरण को भडास फोर मीडिया से समाप्त करने की कृपा करें।

मुसाहिद

मोदीपुरम

मेरठ


AddThis