खुशखबरी : 'भड़ास आनलाइन सोल्यूशन्स' की शुरुआत

E-mail Print PDF

: क्या है bhadas online solutions : क्या-क्या लाभ ले सकते हैं इस सेवा से : वेब मीडिया के बढ़ते असर को देखते हुए और इस राह में आने वाली मुश्किलों को समझते हुए भड़ास4मीडिया की तरफ से एक नई सेवा 'भड़ास आनलाइन सोल्यूशन्स' (BOS) शुरू किया जा रहा है. यह सेवा उन लोगों के लिए है जो स्तरीय और क्वालिटी साइट, लेआउट, वर्किंग, टेक्नालोजी और सर्वर को प्रीफर करते हैं.

ब्लाग या वेबसाइट बनाना बेहद आसान काम है. यह किसी के लिए फ्री, तो किसी के लिए कुछ सौ रुपये या फिर किसी के लिए कुछ हजार रुपये का काम है. पर देखा जाता है कि छह महीने साल भर बीतने के बाद भी ब्लाग या वेबसाइट को वो लोकप्रियता, रैंकिंग, चर्चा हासिल नहीं हो पाती, जिसकी वह हकदार है. इसके पीछे कई कारण है. कमजोर कंटेंट, स्तरहीन कंटेंट और कापी-पेस्ट किया हुआ कंटेंट तो जिम्मेदार है ही, साइट की घटिया कोडिंग और घटिया डिजाइन, घटिया सर्वर, ब्रांडिंग और प्रमोशन का अभाव, ज्यादा ट्रैफिक आने पर सर्वर व साइट का बैठ जाना, अटैक्स और वायरस का शिकार हो जाना, रेगुलर अपडेट न होना, नए साफ्टवेयर का अपलोड न होना... भी इसके लिए जिम्मेदार हैं.

कुछ ऐसे लोग होते हैं जो शुरुआती दौर में वेब / ब्लाग को बनाकर चला ले जाते हैं पर सेकेंड फेज में, जहां उन्हें बेहतर सर्वर, बेहतर टेक सपोर्ट आदि की जरूरत होती है, वे चूक जाते हैं और नए दौर में साइट को नई उंचाई नहीं दे पाते. कई बार इस काम में उनका माइंडसेट भी बाधक बन जाता है. जैसे कि.. फिलहाल इतने सस्ते में वेबसाइट चल रही है, इसे महंगा करने की क्या जरूरत. या फिर ये कि सब कुछ तो ठीक है, इसलिए टेंपलेट-लेआउट बदलने की क्या जरूरत, आडियो-वीडियो-चैटिंग आदि जैसी सेवाएं पोर्टल पर शुरू करने की क्या जरूरत, ब्रांडिंग-प्रमोशन की क्या आवश्यकता... यह संतुष्टिदायक और आत्ममुग्ध सोच वेबसाइट को सफलता के नए लेवल पर ले जाने में रोड़ा पैदा करती है.

इन सेकेंड फेज वाले लोगों के लिए 'भड़ास आनलाइन' ज्यादा मददगार साबित होगा. हम लोगों का मानना है कि फर्स्ट फेज में डोमेन नेम बुक करा लेना, एक साइट बना लेना और उसको चलते हुए देख लेने जैसा सुख हर कोई अपने संपर्कों संबंधों और जानकारियों के आधार पर संभव करा लेता है पर जहां प्रोफेशनली, कंपनी की तरह रन करने, आपरेट करने की बात आती है तब एक उचित सलाहकार, उचित टेक्नाल्जी और सर्वर की जरूरत होती है. ऐसे ही समय में 'भड़ास आनलाइन सोल्यूशन्स' आपकी मदद कर सकता है. वैसे, हम लोग डो़मेन नेम बुक कराने, साइट बनाने, साइट होस्ट करने, सर्वर उपलब्ध कराने जैसे काम भी कराएंगे लेकिन यह उनके लिए नहीं होगा जो सबसे सस्ते की तलाश में हो.

सबसे सस्ते की तलाश वाले लोग कई जगह जब परेशान हो लेते हैं, थक हार कर काफी एनर्जी-टाइम व धन वेस्ट कर लेते हैं तब किसी क्वालिटी सर्विस प्रोवाइडर के पास पहुंचते हैं. अगर आपको विश्वसनीय सेवा चाहिए,  इंटरनेट पर किसी भी तकनीकी या गैर-तकनीकी काम के लिए हेल्प चाहिए तो हमें मेल करें, हमसे संपर्क करें. हमारा मेल से पत्राचार का पता This e-mail address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it है. सभी पत्राचार इसी मेल आईडी के जरिए किए जाएंगे.

इस भड़ास आनलाइन सोल्यूशन्स को शुरू किया है भड़ास4मीडिया के संस्थापक यशवंत सिंह ने. उनका कहना है कि भड़ास की अब तक की यात्रा में जितने उतार चढ़ाव देखे हैं, उसके बाद यही लगा कि आने वाले समय में किसी भी कंटेंट वाले या नए बंदे को वेबसाइट, पोर्टल आदि चलाने को लेकर उस परेशानी का सामना नहीं करना चाहिए, जो उन्होंने खुद भड़ास4मीडिया को चलाते हुए झेला है, भुगता है.

यशवंत के मुताबिक कई बार हमारे लिए पैसे कम कराना या सस्ती सेवा लेना प्रमुख एजेंडा नहीं रहता, हम पैसे देने चाहते हैं पर सबसे ज्यादा जरूरी हो जाता है विश्वसनीय सेवा का मिल पाना, सही आदमी को तलाश पाना. इंटरनेट की दुनिया में कदम-कदम पर लुटेरे हैं. कदम कदम पर धोखेबाज हैं. ऐसे में सही सर्वर, सही साइट, सही कोडिंग, सही ट्रेनिंग, सही सुझाव को तलाश पाना मुश्किल हो जाता है.

भड़ास आनलाइन सोल्यूशंस के जरिए हमारी कोशिश रहेगी कि हिंदी में किसी भी तरह की साइट चलाने के इच्छुक लोगों को विश्व स्तरीय सेवा प्रदान की जाए. साथ ही उन्हें ट्रेंड भी किया जाए जिससे टेकनालजी की इस अबूझ दुनिया को पूरी तरह समझ कर इसे इंज्वाय करते हुए अपने काम को अंजाम दे सकें. यशवंत के मुताबिक भड़ास वेब सोल्यूशंस पर काम काफी पहले शुरू कर दिया गया था. अब जाकर इसे मूर्त रूप दिया जा रहा है क्योंकि इस सोल्यूशन के लिए कई काबिल कंटेंट प्रोवाइडर्स, तकनीकी एक्सपर्ट, वेब विशेषज्ञों, सर्वर प्रोवाइडर्स से संपर्क साध कर उनसे एसोसिएशन किया जा चुका है.

भड़ास आनलाइन सोल्यूशन्स ने हर फील्ड की जानी-मानी कंपनियों से उनकी सेवाएं ली हैं ताकि स्तर व गुणवत्ता को कायम रखते हुए एक ही जगह हर चीज को उपलब्ध कराया जा सके. इस सेवा का नेतृत्व सीधे यशवंत सिंह ही करेंगे. उनसे संपर्क This e-mail address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it के जरिए किया जा सकता है. फिर देर क्या, अगर आपके मन में वेबसाइट बनाने से लेकर किसी भी तरह का आनलाइन काम करने को लेकर कोई सोच, विचार, आइडिया पनप रहा है तो हमें फौरन लिख भेजिए This e-mail address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it पर. चाहें तो नीचे के कमेंट बाक्स के जरिए भी आप bhadas online solutions टीम से संपर्क कर सकते हैं.

Bhadas Online का क्या होगा काम...

  1. ब्लाग और वेब से संबंधित सेवाओं के बारे में सलाह देना.

  2. न्यूज या नान-न्यूज साइट डेवलप करना.

  3. आडियो, म्यूजिक, टेप, मोबाइल रिकार्डिंग अपलोड करने वाला पोर्टल बनाना.

  4. वीडियो, स्टिंग, मोबाइल वीडियो, यूट्यूब वीडियो को अपलोड करने वाला पोर्टल बनाना.

  5. सर्वर प्रोवाइड करना. स्तरीय और स्पीडी सर्वर से साइट को जोड़ना ताकि शीघ्र खुले.

  6. साइट होस्ट करना. साइट के लगातार चलते रहने की गारंटी करना. अटैक से बचाना.

  7. साइट को प्रमोट करना. चर्चा-चलन में लाना.

  8. रैंकिंग बेहतर कराना. नए यूजर्स को साइट से जोड़ना.

  9. साइट के कंटेंट की मानीटरिंग करना और उसे दुरुस्त कराना.

  10. फ्लाप वेबसाइटों को नए सिर से खड़ा कर पाने में मदद देना.

  11. कंटेंट, पिक्चर, आडियो, वीडियो खुद अपलोड करने की ट्रेनिंग देना.

  12. ब्लाग को वेबसाइट में तब्दील करना और सफलता पूर्वक संचालन कराना.

  13. न्यू मीडिया, वेब, ब्लाग की दुनिया को समझने-समझाने में मदद करना.

  14. न्यू मीडिया में सक्रिय होने के लिए ट्रेनिंग देना. कंसल्टेंसी प्रोवाइड करना.

  15. आनलाइन दुनिया की अन्य सेवाओं (डोनेशन सेवा, लाइव टेलीकास्ट सेवा आदि) को प्रोवाइड कराना.

उपरोक्त सभी सेवाएं पेड हैं. इसके बारे में अधिक जानकारी This e-mail address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it पर मेल भेजकर ले सकते हैं.


AddThis