यूपी पुलिस में करप्शन के खिलाफ लड़ने वाला कांस्टेबल सुबोध यादव बर्खास्त

E-mail Print PDF

Subodh Yadav: पुलिस अधीक्षक, रेलवे, गोरखपुर अमिताभ यश के हस्ताक्षर से जारी हुआ बर्खास्तगी का पत्र : अन्ना के मंच से आईपीएस बृजलाल को भ्रष्टाचारी कहने वाले सुबोध यादव पर अंततः गिरा दी गई गाज : सुबोध यादव ने अंतिम दम तक करप्शन और तानाशाही के खिलाफ लड़ने का ऐलान किया :

भड़ास4मीडिया के पाठकों के लिए सुबोध यादव का नाम अपरिचित नहीं है. इसलिए उनके बारे में ज्यादा न बताते हुए, उनके हश्र के बारे में सूचित किया जाता है कि इस जांबाज कांस्टेबल को माया सरकार के वरिष्ठ पुलिस अफसरों ने 'शहीद' कर दिया है. करप्शन और डिक्टेटरशिप के खिलाफ लड़ने वाले इस सिपाही को बर्खास्तगी का पत्र थमा दिया गया है. यह नेक काम किया है आईपीएस अमिताभ यश ने. अमिताभ यश इन दिनों पुलिस अधीक्षक रेलवे गोरखपुर के पद पर कार्यरत हैं और सुबोध इन्हीं के अधीन पदस्थ थे. भड़ास4मीडिया से बातचीत में सुबोध यादव ने ऐलान किया कि बर्खास्तगी से उन्हें न तो डराया जा सकता है और न ही झुकाया जा सकता है. करप्शन और डिक्टेटरशिप के खिलाफ उनकी लड़ाई अब और बड़े पैमाने पर लड़ी जाएगी.

...कांस्टेबल सुबोध यादव और उनके संघर्ष के बारे में ज्यादा जानने के लिए इन शीर्षकों पर क्लिक करें...

1. नरेंद्र यादव का स्‍वागत करना पड़ा महंगा, पुलिस एसोसिएशन के उपाध्‍यक्ष सुबोध यादव निलंबित

2. एक एसपी ने होमगार्डों को बना डाला सफाई कर्मचारी

3. तानाशाह बृजलाल की नींद नहीं खुली तो पुलिसकर्मियों का सब्र टूट जाएगा

4. 'मुर्दों के पैसे भी पुलिस अधिकारियों की जेब में'

5. आवाज दबाने की कोशिश : निलंबित सुबोध यादव अब किए जाएंगे बर्खास्‍त!

6. बर्खास्त सिपाही सुबोध यादव ने अन्ना के मंच से लिया दो आईपीएस अफसरों का नाम

उल्लेखनीय है कि सुबोध यादव ने अन्ना हजारे के मंच से भाषण देते हुए यूपी पुलिस के सबसे भ्रष्ट अफसर के रूप में बृजलाल का नाम लिया था. इसके बाद यूपी पुलिस के सर्वेसर्वा और मायावती के खासमखास बृजलाल ने लगभग तय कर लिया कि उन्हें सुबोध यादव को बर्खास्त करके सबक सिखाना है और बदला लेना है. पर अपने धुन के धनी सुबोध यादव ने पुलिस वालों को अपने शोषण के खिलाफ संगठित करने और तानाशाही के खिलाफ आवाज उठाने का काम जारी रखा. सुबोध यादव ने भ्रष्टाचार के खिलाफ अन्ना हजारे द्वारा चलाए गए मुहिम से प्रभावित होकर अपना उपनाम अन्ना रख लिया है. वैसे, सुबोध यादव को खुद भी अपने बर्खास्त किए जाने की आशंका पहले से थी. इस बारे में एक खबर भड़ास4मीडिया पर प्रकाशित की जा चुकी है जिसे उपर दिए गए शीर्षकों में तलाश सकते हैं. अब यहां नीचे अमिताभ यश के हस्ताक्षर से जारी सुबोध यादव की बर्खास्तगी के आदेश की प्रति का प्रकाशन किया जा रहा है...


AddThis