पुलिस का रवैया स्तब्धकारी है : हरिवंश

E-mail Print PDF

प्रिय यशवंत, अभी-अभी जस्टिस फॉर माँ कैंपेन के बारे में जानकारी मिली. मां के साथ पुलिस ने जो सुलूक किया, वह स्तब्धकारी है. आज भी पुराने युग के बर्बर कानूनों को सत्ता इस्तेमाल करे, इससे बड़ा दुर्भाग्य क्या हो सकता है.

यह सिर्फ किसी एक व्यक्ति के माँ या परिवार का सवाल नहीं है, सवाल यह है कि क्या हम सभ्य समाज बनाना चाहते हैं या लगातार प्रगति के नारों को लगाते हुए अंधे युग के कानूनों मैं लौटना चाहते हैं. इसका व्यापक स्तर पर विरोध होना चाहिए. सबसे जरूरी बात यह है कि दिल्ली में कैसे इन सवालों पर परिवर्तन का माहौल बनाया जाये. क्योंकि इस देश का भविष्य और भाग्य दिल्ली ही तय कर रही है. आधुनिक बनती मीडिया के लिए ऐसे सवाल अब धीरे-धीरे मात्र खबर स्वरूप ही हैं. जरूरत है कि दिल्ली में ऐसे सवालों पर कैम्पेन चले ताकि बदलाव का मानस बन सके.

हरिवंश 
प्रधान संपादक
प्रभात खबर
रांची


AddThis