पुलिस के गांधी का गाजीपुर में जोरदार स्वागत

E-mail Print PDF

: डबडबा गईं ब्रजेंद्र यादव की आंखें : जान का खतरा बता सुरक्षा की मांग की : सिपाही ब्रजेंद्र यादव बहाल हो गए हैं. उन्हें पुलिस वालों का संगठन बनाने के आरोप में और मीडिया के सामने अपनी बात रखने के आरोप में पुलिस अफसरों द्वारा सस्पेंड कर दिया गया था. इन्हीं ब्रजेंद्र की वर्षों की मेहनत के बाद प्रदेश में आईपीएस एसोशियेसन द्वारा किए जा रहे घोटाले का पर्दाफाश हो पाया.

ब्रजेंद्र ने पुलिस कर्मियों को जागरूक करने के लिए पुलिस संगठन की स्थापना की. इस संगठन को कोर्ट और डीजी ने मान्यता दे दी है. ब्रजेंद्र कल गाजीपुर जिले पहुंचे तो उनका जोरदार स्वागत किया गया. गाजीपुर के जमानिया थाने में तैनात सिपाही ब्रजेन्द्र यादव को बहाल हाईकोर्ट ने किया. गाजीपुर में उनके स्वागत के लिए सैकड़ों पुलिसकर्मी इकट्ठा थे. अपने इस स्वागत से लबरेज ब्रजेंद्र की आंखें खुशी से डबडबा गईं. उन्होंने अपने अधिकारियों द्वारा किए गये कृत्यों की जानकारी मीडिया को दी.

उन्होंने बताया कि हमारा जो भी काम होगा वो संविधान के दायरे में रहकर और पुलिस रेगुलेशन एक्ट के दायरे में होगा. साथ ही हम अपने आला अधिकारियों को किसी भी तरह शिकायत का मौका नही देंगे. हां, लेकिन जुल्म भी बर्दाश्त नही करेंगे. ब्रजेंद्र ने अपनी जान को खतरा बताते हुए सुरक्षा की मांग की. इस मांग को लेकर उन्होंने कोर्ट में याचिका भी दाखिल की है. कोर्ट ब्रजेंद्र की सुरक्षा के पक्ष में अपनी सहमति जता चुका है. ब्रजेंद्र द्वारा बनाए गए संगठन में पूरे प्रदेश के लगभग 95 प्रतिशत पुलिसकर्मी शामिल हैं.

ब्रजेंद्र को उम्मीद है कि जो शेष 5 फीसदी सिपाही हैं, वे भी समय के साथ आ जाएंगे. अब वे लोग भी खुलकर सामने आने लगे हैं जो कभी ब्रजेंद्र से असहमति जताते थे. ब्रजेंद्र के कई करीबी पुलिस वाले ब्रजेंद्र को उनकी त्याग, तपस्या, साहस, ईमानदारी और अहिंसक आंदोलन के लिए गांधी की संज्ञा देने लगे हैं. इन पुलिसवालों का मानना है कि जिस तरह से गांधीजी ने धीरे-धीरे अंग्रेजी शासकों को झुकने पर मजबूर कर दिया था और गांधी व अन्य भारतीय नेताओं की ताकत का लोहा मानने के लिए प्रेरित किया था उसी प्रकार ब्रजेंद्र यादव ने भी बिना डरे अपना जो काम किया, उसके कारण आज बड़े बड़े आईपीएस अफसर उनसे खौफ खाने लगे हैं.

ब्रजेंद्र के बारे में ज्यादा जानने के लिए इस शीर्षक पर क्लिक करें.... ये सिपाही विद्रोह करवा देगा, इसको अरेस्ट करवा लिया जाए

गाजीपुर से अनिल की रिपोर्ट


AddThis