नकल की खबर और फोटो छापने पर जागरण के खिलाफ मुकदमा

E-mail Print PDF

प्रदेश में आज नया इतिहास रचा गया। माध्यमिक शिक्षा परिषद की हाईस्कूल इंटर परीक्षाओं में अन्य स्कूलों के साथ खुद राज्य के एक काबीना मंत्री अपने विद्यालय में भी खुलेआम हो रहे नकल की पोल खुलने के बाद बौखला गए हैं। नकल करने और कराने वालों के खिलाफ एक्शन लेने की जगह नकल की पोल खोलने वाली दैनिक जागरण वाराणसी की टीम के खिलाफ औराई थाने में एक एफआईआर दर्ज करायी गयी है।

प्रदेश में पहली बार नकल की फोटो छपने पर किसी के खिलाफ एफआईआर हुई है। चर्चाकारों का कहना है कि मंत्री के निर्देश के बाद अब हर उस विद्यालय का प्रबंधक एफआईआर कराने जा रहा है जिसकी फोटो छापी गयी है। यानी अभी एक दर्ज हुई है, आठ और कतार में हैं। एक नोटिस भी आज भेज दी गयी है। वाराणसी में एक नारा गूंज गया है-नकल माफिया की जय हो! दैनिक जागरण ने इधर नकल के मामले में कई अच्छी खबरें मय फोटो छापी थीं जिनमें एक मंत्री जी के एक विद्यालय की भी हैं।

यही नहीं जिले के चौबेपुर थाने में एक एफआईआर लिखायी गयी है जो चार अज्ञात लोगों के खिलाफ है। एफआईआर लिखाने वाले माध्यमिक शिक्षा परिषद के एक कालेज के केंद्र व्यवस्थापक की दलील है कि चार अज्ञात लोग कालेज परिसर में घुस आए और बिना अनुमति फोटो खींची। जबकि परीक्षा नियमावली के अनुसार यह गैरकानूनी है। यह कृत्य परीक्षा नियम विरुद्ध होने की वजह से यह एफआईआर लिखायी जा रही है। पुलिस को जांच कर कार्रवाई करनी चाहिए। पुलिस को यह भी पता करना चहिए कि वे कौन लोग थे।

चूंकि, केंद्र व्यवस्थापक को नहीं पता कि वे कौन लोग थे लिहाजा पुलिस को जांच करनी होगी। सुना गया है कि कुछ और स्कूलों ने पुलिस को तहरीर दी है कि उनके यहां भी कुछ लोग घुस आए थे और फोटो ली थी। दैनिक जागरण पर मुकदमे की गूंज विधानसभा तक होने की संभावना जताई जा रही है। साभार : पूर्वांचलदीप


AddThis
Comments (5)Add Comment
...
written by sanjeev, May 17, 2011
yah patarkarita ko majak banana hua? is se apradhiyon ka bolvala ho jayega
...
written by Alisha, March 30, 2011
sarkari vidyalayo mein khuleaam cheating karane ya karne ka ye koi naya kissa nahi hai.Agar desh ke minister media pe ise highlight karne par FIR kara sakte hai to phir unki najro mey crime ki kya definition hai ye janana jaruri hoga ???????
...
written by c.k.tiwari, March 29, 2011
nakal karane wale schoolo ka phota lene ka vakya koi naya nahi hai, kanoon sabhi ke liye barabar hai, nakal ko ujagar karna koi apradh bhi nahi hai, Media se ulajhana mantri ji ko bhari pad sakta hai. Nakal rookne ke liye dohari niti nahi apnani chahiye. Mantri ji ko kanoon se khele ka koi adhikar nahi hai.
...
written by neelkant baba shiv shambho, March 29, 2011
badiya rachna hai; eske baare main sateek tippniyan mere3 facebook par hain;
e,g.
NEELKANT BABA SHIV SHAMBHO/FACEBOOK.COM
THANKS
...
written by jai kumar jha, March 29, 2011
बेहद शर्मनाक है की सत्य को ही कठघरे में खरा किया जा रहा है ....सत्य की रक्षा करने की जगह....?

Write comment

busy