लखनऊ से शीघ्र प्रकाशित होगा चैतन्‍य समाचार

E-mail Print PDF

लखनऊ से जल्‍द ही एक साप्‍ताहिक अखबार का प्रकाशन होने जा रहा है. चैतन्‍य समाचार के नाम से प्रकाशित इस साप्‍ताहिक की टीम गठन का जिम्‍मा मोहित सिंह के ऊपर हैं. इस संदर्भ में मोहित ने बताया कि दैनिक समाचार पत्रों में प्रतिस्‍पर्धा एवं अन्‍य कारणों से बड़ी खबरें के सूचनापरक बनकर ही रह जाती हैं. इसी को देखते हुए हमारा प्रयास है कि हम खबरों की तह तक पहुंचे तथा आम लोगों की आवाज सत्‍ता के गलियारों तक पहुंचाएं.

उन्‍होंने बताया कि इस साप्‍ताहिक समाचार पत्र की टीम को अंतिम स्‍वरूप दिया जा रहा है. शीघ्र ही इसके प्रकाशन, उद्देश्‍य एवं टीम की घोषणा कर दी जाएगी. फिलहाल मेरे साथ सुर्कीत श्रीवास्‍तव भी जुड़े हुए हैं. हमलोग कुशल पत्रकारों को अपनी टीम से जोड़ने की कोशिशों में लगे हुए हैं.


AddThis
Comments (10)Add Comment
...
written by ravish sharma, April 23, 2011
can v talk now 09713411453
...
written by Media, April 08, 2011
सेवा में

मीडिया परिवार


निवेदन ये है की हिंदुस्तान(Hindustan Times) के फोटो ग्राफ़र आज़म हुसैन को जान से मारने की धमकी दी जिसकी खबर ७-०४-२०११ के अमर उजाला में छपी है. आज़म हुसैन का दोष सिर्फ इतना था की वोह पूरी इमानदारी से फोटो ग्राफी व रिपोर्टिंग करते है जिसकी तारीफ में हमें कुछ नहीं कहना है उसकी इमानदारी और होसले के बारे में लखनऊ की मीडिया जगत में काफी अच्छी पहचान है. इस वक़्त आवशकता है की मीडिया परिवार को एक होने की. आज़म हुसैन जैसे कितने पत्रकार है जिन्हें समाज के भय से खामोश हो जाना पड़ता है .
घटना उस समय की है जब ६ अप्रैल को दिन में एक बजे नगर निगम के अधिकारी व ठाकुर गंज पोलिस बगैर किसी नोटिस के महजबीं फातिमा पति महताब अली निवासी ४६७/ १५२ क के घर में घुस गए उस समय महजबीं फातिमा की पुत्री रिंकी १९ वर्षीय अकेली थी घर में उसके साथ गली गलोच की और घर के कमरे में धकेल कर बंद कर दिया और घर का बाथरूम व कुछ हिस्सा तोड़ डाला. बड़े अफ़सोस की बात है की इस घटना को नगर निगम के अधिकारी व ठाकुर गंज पोलिस ने इस दूरभागय कम को अंजाम दिया जो देश के सविधान को भूल चुके है.ये अधिकारी मोहम्मद अली जफ़र व उनके तीनो पुत्र मीसम नकवी, शान नकवी, (जो पेशे से खुद को वकील बताते है) मीसम नकवी शिया कॉलेज में दलाली करके स्टुडेंट का एडमीशन करवाते है जबकि इरम नकवी की खुद की परचून की दुकान है से हाथ मिला चुके है जबकि ठाकुरगंज की पुलिस अभी तक शान नकवी और मीसम नकवी का साथ देते आ रहे है. एक वर्ष से ज्यादा वक़्त बीत चुका है अपने पडोसी महजबीं फातिमा के परिवार को परेशान करते हुवे जिसकी रिपोर्ट ठाकुरगंज पोलिस को भी है.
अजाम हुसैन की जान को खतरा है जबकि आज़म हुसैन की माँ काफी समय से बीमार है इस घटना से वोह और ज्यादा बीमार हो गेई है मीडिया से अनुरोध है की वोह मामले की विस्तृत जानकारी लेकर अपने मित्र आज़म हुसैन की मदद करे.इस देश को इमानदार पत्रकार की ज़रुरत है. आशा है की आप सब सहयोग देंगे.
आपका आभारी

थ्रू मीडिया परिवार
...
written by mithilesh dubey, April 06, 2011
Mohit ji se sampark karna chahta hun tatha unke pepar se judna chahta hun, mai apna contact no de raha hun, agar mohit ji ke pass samay ho to mujhse sampark karene ka kasht karen ...........

09457582334
...
written by Anshul Srivastava, March 31, 2011
AAJ KAL TO PATRAKARITA EK BUSSINESS HO GYA HAI 2 MAHINE REPORTING KRNE K BAD EDITOR HI BANNA CHAHTE HAI SAB
...
written by Devendra patel, March 31, 2011
bhai,apaka mission apane mukammal jahan ko hasil kare,yahi meri shubhakamana hai.
...
written by mohd umair, March 30, 2011
mohit g se sampark kase hoga
...
written by jitendra tiwari, March 29, 2011
best of luck
...
written by shashi verma / journalist, March 29, 2011
har daal pe ullu bhata hai anjam e gulista kya hoga
...
written by shripal teotia, March 29, 2011
aapko bahut bahut subhkaamnayein.
...
written by shripal teotia, March 29, 2011
aapko bahut bahut subhkamnayein.

Write comment

busy