दैनिक जागरण के चार सौ से ज्‍यादा पत्रकार नाकारा!

E-mail Print PDF

: इस बार कंप्यूटराइज्ड तरीके से कर्मियों का एचआर ने किया मूल्‍यांकन : 10 से 25 फीसदी तक का इंक्रीमेंट मिला बाइस सौ पत्रकारों को : दैनिक जागरण समूह ने अपने पत्रकारों को 10 से 25 फीसदी तक का इंक्रीमेंट दे दिया है. यह लाभ समूह के करीब 22 सौ पत्रकारों को मिला है. कुल 28 सौ पत्रकारों वाले इस समूह के बाकी करीब छह सौ कर्मचारी इस लायक ही नहीं समझे गये कि उन्‍हें वार्षिक बढोत्‍तरी दी जा सके.

इस वार्षिक समीक्षा में बड़े पत्रकारों का मूल्‍यांकन केंद्रीयकृत व्‍यवस्‍था के तहत संजय गुप्‍ता ने किया है, जबकि छुटभैये पत्रकारों की समीक्षा का जिम्‍मा दूसरे गुप्‍ताज को थमाया गया था. इस प्रकार जागरण समूह ने अपने पत्रकार कर्मियों की वार्षिक उपलब्धि का निर्धारण कर दिया और सर्वश्रेष्‍ठ से लेकर सामान्‍य पत्रकारों तक को 10 से 25 फीसदी तक की वार्षिक वेतन बढोत्‍तरी का लिफाफा पकड़ा दिया है. इनमें से करीब दौ सौ पत्रकार तो हाल ही में इस समूह में आये हैं, सो उन्‍हें नियमत: इसका लाभ नहीं मिल सका.

लेकिन बाकी चार सौ पत्रकारों को इस लायक ही नहीं समझा गया कि उन्‍हें एक चवन्नी तक अतिरिक्त थमाया जा सके. सूत्रों का कहना है कि इस तरह इन कर्मचारियों को इशारा कर दिया गया है कि भैया अपना ठौर-ठीहा कहीं और देख लो, जागरण को अब तुम्‍हारी जरूरत नहीं. दैनिक जागरण समूह में यह पहली बार हुआ है कि इतने बड़े पैमाने पर पत्रकारों की वाट लगायी जा रही है. जागरण के इस फैसले के बाद समूह के पत्रकारों में हडकंप मचा हुआ है.


AddThis
Comments (6)Add Comment
...
written by BD PUJARI, June 01, 2011
DAINIK JAGRAN MEIN MAINE 6 MAHINE KAAM KIYA PAR SALARY NAHI MILI MUJH JAISE GAREEB KO , ITNA BAADA JAGRAN GROUP HO KAR BHI PAISE KHA GAYE HAI, AB MEIN EK FACTORY ME KAAM KAR RAHA HU , AGAR DAINIK JAGRAN CHANDIGARH KO MUJSE KUCH PAISE LENA CHAHE TO ME IS KAABIL HO GYA HU KI 1 SAAL TAK KI MUFT SALARY DE SAKTA HU, YAHA SABSE JIKAR YOG BAAT HAI KI CHAMCHA GIRI BAHUT JARURI HAI CHANDIGARH ME YAHA POATARKARO KIJARURAT NAHI BALKI HIJDO KI FOZ KI JARURAT HAI
...
written by Dinesh kumar, May 29, 2011
Himachal Mey Too Nakaraa patrkaroo ka jamwabrda laga hu. In ko ager kisi dusery State mey Tranfer kiya jayey too fail ho jayey gay. Per Mange met fir be himachal mey 50 % sey adik nakaraa logo ko yaha paal raha hai.
...
written by benaam, May 15, 2011
jan jagran ki bath ho rahi hai na
journalist sosan aur sosit varg may bhe sab say aagey hai
kabhi nai socha ya har baar soch kar bhe chup rahna he accha laga
haad ho gai hai lalat hai desh duniya ko sosan say bachaney wala patkaar aaj khud ke banaye gaye sarokaaro say he dukhi kunthit ho kar chatpata raha hai na ji paa raha hai na maar paa raha hai
haar pal koi aata hai aur usey noch khata hai subh 10 say le kar rat ka pata he nai kab subh ho jati hai aur family subh need ki tou bath bhe karna bemani hai doob marna chaiya sabhi ko ak sath ki si naley may phir ya malik aur unki ya jan jagran ya koi bhe sanstha kitni run karti hai dkho aap say sab kuch hai unsey aap nai .....zara socho aur aagey aao aaj nai tou kal ana he hoga tou aaj kyu nai ..
yaha patkaar ki nai dalal ki chapluse ki dhokebaag ki zaroorat hai na ki ak immandaar journalist ki ............aag lage naaspeeto ko.mare tou 2 gaag jamin na miley aisa hona chaiya in khoone peeno walo ke sath.
yaswant ji aap ki ak acchi surate hai ager aap na hotey tou shyaad kiai ko pata bhe na chalta ki yaha ho kya raha hai dalalo ka adda ban kar rah gaya hai patkarita aur kuch ...allahabad ...say banaras....phir kai sanstha say ho kar aap ka ya karya sahraniya hai bus aap u he lage rahey aaj nai tou kal kranti honi hai aur uskey janak aap he hogey....?
...
written by santosh, May 13, 2011
jagran main 50% patrkar 10,000 se km salary paten hain, agar 10% badhotari mili too waytan main 1000 rupess badhtain hain, gourtlab hai hain ki mudrasfiti (food inflation) 18.5% tak badha hain, aaklan krain too ye ptrkar 8% nuksan pr hain, doosro ko gyan dene wale ye ptrkar jis din ye gadit akhbar ke maliko ko samjhain gain us di unhin ye sabit krna mushkil ho gayga ki wy jagran ke karmchari hain.
...
written by manmohan , May 03, 2011
जागरण में सब तो ठेकदार है...........जागरण तो नाम से बिकता है...ज्यादातर तो अपने ठेके चला रहे है जी......
...
written by gaurav, May 03, 2011
जागरण में काम करने वालों को नहीं, राजनीति करने वालों को प्रमोशन मिलता है। प्रमोशन पाना है तो बॉस को साधना ही पड़ेगा। वरना सड़ते रहो..........। जागरण के मालिक भी चिंदी चोर हैं

Write comment

busy