दैनिक जागरण के चार सौ से ज्‍यादा पत्रकार नाकारा!

E-mail Print PDF

: इस बार कंप्यूटराइज्ड तरीके से कर्मियों का एचआर ने किया मूल्‍यांकन : 10 से 25 फीसदी तक का इंक्रीमेंट मिला बाइस सौ पत्रकारों को : दैनिक जागरण समूह ने अपने पत्रकारों को 10 से 25 फीसदी तक का इंक्रीमेंट दे दिया है. यह लाभ समूह के करीब 22 सौ पत्रकारों को मिला है. कुल 28 सौ पत्रकारों वाले इस समूह के बाकी करीब छह सौ कर्मचारी इस लायक ही नहीं समझे गये कि उन्‍हें वार्षिक बढोत्‍तरी दी जा सके.

इस वार्षिक समीक्षा में बड़े पत्रकारों का मूल्‍यांकन केंद्रीयकृत व्‍यवस्‍था के तहत संजय गुप्‍ता ने किया है, जबकि छुटभैये पत्रकारों की समीक्षा का जिम्‍मा दूसरे गुप्‍ताज को थमाया गया था. इस प्रकार जागरण समूह ने अपने पत्रकार कर्मियों की वार्षिक उपलब्धि का निर्धारण कर दिया और सर्वश्रेष्‍ठ से लेकर सामान्‍य पत्रकारों तक को 10 से 25 फीसदी तक की वार्षिक वेतन बढोत्‍तरी का लिफाफा पकड़ा दिया है. इनमें से करीब दौ सौ पत्रकार तो हाल ही में इस समूह में आये हैं, सो उन्‍हें नियमत: इसका लाभ नहीं मिल सका.

लेकिन बाकी चार सौ पत्रकारों को इस लायक ही नहीं समझा गया कि उन्‍हें एक चवन्नी तक अतिरिक्त थमाया जा सके. सूत्रों का कहना है कि इस तरह इन कर्मचारियों को इशारा कर दिया गया है कि भैया अपना ठौर-ठीहा कहीं और देख लो, जागरण को अब तुम्‍हारी जरूरत नहीं. दैनिक जागरण समूह में यह पहली बार हुआ है कि इतने बड़े पैमाने पर पत्रकारों की वाट लगायी जा रही है. जागरण के इस फैसले के बाद समूह के पत्रकारों में हडकंप मचा हुआ है.


AddThis