एक्‍सप्रेस ग्रुप ने किया फाइनेंसियल टाइम्‍स से कंटेंट पार्टनरशिप

E-mail Print PDF

एक्‍सप्रेस समूह अपने कंटेंट को तेवरदार बनाने के लिए ब्रिटेन के बिजनेस अखबार फाइनेंसियल टाइम्‍स के साथ करार करने जा रहा है. इस समझौते की आधिकारिक घोषणा एक्‍सप्रेस ग्रुप के ग्रुप एडिटर शेखर गुप्‍ता ने की. उन्‍होंने बताया कि यह कदम इसलिए उठाया जा रहा है ताकि हम पाठकों तक और बेहतर कंटेंट पहुंचा सकें. इस समझौते के बाद एक्‍सप्रेस के पाठक तेजी से बदलते वैश्विक व्‍यापारिक-वाणिज्यिक परिदृश्‍य को व्‍यापक कैनवास पर देख सकें.

दूसरी तरफ फाइनेंसियल टाइम्‍स की एशिया पैसेफिक एक्‍जीक्‍यूटिव डाइरेक्‍टर एजेंला मर्केल ने उम्‍मीद जताई कि इस समझौते से दोनों अखबारों और उनके पाठकों को लाभ मिलेगा. उन्‍होंने कहा कि अपने कंटेंट को लेकर फाइनेंसियल टाइम्‍स कोई समझौता नहीं करता, जिसके लिए इस अखबार की पूरे विश्‍व में एक अलग पहचान है. उल्‍लेखनीय है कि इंडियन एक्सप्रेस के पास अपनी एक मजबूत और प्रतिष्ठित कॉलमनिस्टों का पैनल है. फाइनेंसियल टाइम्स के रेगुलर कॉलमनिस्टों के जुड़ जाने के बाद यह पैनल और मजबूत हो जाएगा.

फाइनेंसियल टाइम्‍स इसके पहले भारत के प्रमुख बिजनेस समाचार पत्र बिजनेस स्‍टैंडर्ड के साथ टाइआप किया था. ऐसा करने वाली यह पहली विदेशी मीडिया कंपनी थी, जिसने एक बड़ा इनवेस्‍टमेंट भारतीय कंपनी में किया था. पर इन दोनों कंपनियों के संबंध 2008 में खराब हो गए. जिसके बाद फाइनेंसियल टाइम्‍स अपने 13.85 प्रतिशत शेयर लेकर अलग हो गई थी.


AddThis
Comments (0)Add Comment

Write comment

busy