हिंदुस्तान में खूब हो रही हैं गड़बड़ियां, छप रही हैं गल्तियां

E-mail Print PDF

हिंदुस्तान अखबार में आजकल खूब गल्तियां जा रही हैं. और की तो छोड़िए, दिल्ली एडिशन को उठा लीजिए तो यहां प्रूफ, ग्रामर की ढेर सारी अशुद्धियां तमाम खबरों में मिल जाया करेंगी. खासकर शशिशेखर के कार्यकाल के दौरान गल्तियों की संख्या में तेजी से इजाफा हुआ है. दिल्ली के बार के एडिशन्स में भी आए दिन गल्तियां होने की खबरें मिलती रहती हैं. मेरठ से जानकारी मिली है कि 24 मई के सिटी एडिशन में पेज 17 पर बिजनेस की एक ही न्यूज अगल बगल लग गई है.

हिन्दुस्तान बदायूं के 26 मई के अंक में पेज नम्बर चार पर ''मुसाफिरों को सिर छुपाने की जगह भी मयस्सर नहीं'' हेडिंग से छपी परिचर्चा में दो लोगों के फोटो दो जगह छापे गये हैं. मुरादाबाद से छपी एक खबर ''बिलारी में चाकुओं से गोदकर बच्चे की हत्या'' पेज छह पर भी छपी है और इसे पेज आठ पर संक्षेप में भी छाप दिया गया है यानि एक ही खबर दो दो बार.

आपको भी अगर किसी अखबार में कोई गड़बड़ी दिखे तो उसे भड़ास4मीडिया तक पहुंचाएं, This e-mail address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it पर मेल करके.


AddThis