सहारनपुर से भी जनवाणी लांच, यशपाल ने लिखा विशेष संपादकीय

E-mail Print PDF

जनवाणी, मेरठ का विस्तार लगातार जारी है. कई जिलों के संस्करण लांच करने के बाद अब जनवाणी का सहारनपुर संस्करण भी शुरू हो चुका है. इस मौके पर अखबार के संपादक और वरिष्ठ पत्रकार यशपाल ने पहले पेज पर एक संपादकीय लिखा है. शीर्षक है ''बनेंगे आपकी जिंदगी का हिस्सा''. जनवाणी अखबार से साभार लेकर यशपाल के संपादकीय को यहां प्रकाशित किया जा रहा है जिसमें जनवाणी की यात्रा के बारे में यशपाल ने चर्चा की है और अपने पाठकों का दिल से आभार जताया है.

बनेंगे आपकी जिंदगी का हिस्सा

यशपाल सिंह

जो गरजते हैं, वो बरसे भी यह लाजिमी तो नहीं। इसलिए उन स्याह बादलों पर विश्वास किया जाता है जो बगैर किसी गर्जन के बरस जाया करते हैं। इसी तरह दैनिक जनवाणी ने भी खामोशी के साथ अखबार जगत में दमदार दस्तक दी है। विगत चार माह में जनवाणी ने एक सकारात्मक सोच के रंग में रंगी खबरों के साथ जुदा कलेवर में पाठकों का दिल जीता है।

मेरठ, बागपत, मुजफ्फरनगर और बिजनौर में सफलतम पदार्पण के बाद अब आपके शहर में इस नवप्रवेशी अखबार ने दस्तक दी है। पारिवारिक परिवेश, परपंरा के रंग में सराबोर होने के बावजूद बदलाव की पटकथा लिखने के हिमायती इस अखबार को स्नेही पाठकों ने जो दुलार दिया है, जिस स्नेह के साथ अंगीकार किया है, उससे पूरा प्रबंधन अभिभूत है। यह कोई आत्मश्लाघा नहीं और न ही यहां यह आंकड़ा देने का उद्देश्य शेखी बघारना है। विगत चार माह में जनवाणी की प्रसार संख्या करीब सवा लाख तक पहुंच गई है। इन पाठकों की अपेक्षाओं पर मीडिया जगत का यह शिशु खरा उतरा है।

यह हमारे सफर की शुरुआत भर है, अभी मंजिल तक पहुंचने के कई चुनौती भरे पड़ाव बाकी हैं। कला, संस्कृति, राजनीति, उद्योग, खेल, साहित्य और अध्यात्म के सरोकारों के लिए मशहूर इस ऐतिहासिक जनपद में जनवाणी अपनी जुदा पहचान कायम करने की कोशिश में जुटेगा। आपके दर्द, आपके चिंतन, घर से लेकर खलिहान और आंगन से लेकर युवा वर्ग की मुश्किलें, उनकी सोच और विकास के रास्ते में मील का पत्थर हम बन सके, तो यह हमारा सौभाग्य होगा। 14 फरवरी को मेरठ में जनवाणी का पहला अंक पाठकों के बीच पहुंचा था।

मेरठ में पहले ही दिन से गजब का प्रतिउत्तर हमें पाठकों की तरफ से मिला और इसी हौसलाअफजाई ने हमें लगातार संस्करण लांच करने के हौसले बख्श दिए। मेरठ, बागपत, मुजफ्फरनगर, बिजनौर और अब सहारपुर में जनवाणी के आगाज से साथ आपसे एक गुजारिश भी कि इस नवप्रवेशी अखबार को एक सजग आलोचक की तरह घर और दिल में जगह दें। आपके बेशकीमती सुझाव हमें अखबार में बेहतर साज सज्जा और कथ्य देने के लिए प्रेरित करेंगे। आप, हम समेत समूची दुनिया बदलाव के दौर से गुजर रही है लेकिन इस बदलाव की बयार में हमें अपनी संस्कृति, सोच और नैतिक दायित्वों के प्रति सजग रहना होगा। कोशिश करेंगे कि प्रगति के पथ पर चलते हुए, सामाजिक सरोकारों का समृद्ध करते हुए जनवाणी एक सार्थक मंच बनेगा आप सबके लिए।


AddThis
Comments (9)Add Comment
...
written by sonal singh, June 19, 2011
sardar jitendra bajwa ji kab neend khulegi. kahi janboojh kar to nahi kar rahe hai. akhbaar nikaal diya good hai stafff bharti kiya good hai. lekin sampadak kyo nahi kisi bade akhbaar se liya bina sampadak k akhbaar aise hi niklega . jis din sampadak apke akhbaar me aayega tab janwani ki wani me mahurta aayegi. ye mahodaya yashpaal to apni naukari bachane me hi dimaag lagaye hue hai saath hi ravi shrma se bhi tota kiye hue hai. yashpaal ji janwani k baad kise naya akhbaar launch karaoge.
...
written by sunil garg, June 18, 2011
DANIK JANWANI KE LAUNCHING PAR YASHPAL G. AZAM G AUR RAM BHAGAT WALIA KO MUBARK BAD
...
written by rajkumar, June 17, 2011
जब तक सरदार जी का सारा माल रद्दी में न बिकवा दो यूँ ही आलेख लिखते रहो यशपाल जी ...............और भडाश पर प्रोपोगंडा भी करते रहे ताकि नोकरी बची रहे .........
...
written by shalabh, June 16, 2011
sir good day
...
written by Pawan, June 16, 2011
Sir....Ati Sunder Suprabhat......Ati Sunder Shuruaat............Badhai Aapko-Humko Hriday ki gehraiyon se...........Banti Rahe Sada Yun Hi Apni Baat ! Saharanpur Me Mission JANWANI Ke Safal Shubh Aarambh Ke Liye Aapka Shat Shat Aabhaar ! Jai JANWANI ! From:- Pawan Sharma & Team Janwani (Saharanpur)
...
written by ashutosh sharma, June 16, 2011
Yashpal sir ko pranam
aap ko or team ko badhai. ap isi tarah aage badhate rahen. har mah naye edition launch karte rahen. hum apke sath hai.

aapka choto bhai
Ashutosh sharma,shahjahanpur.9450844191
...
written by Charanjeet, June 16, 2011
all the best Yashpal G
...
written by kamlesh mishra chief sub editor ST, June 15, 2011
Yashpal sir ko pranam
ishwar ki kripa se aap isi tarah aage badhate badhate rahen. nit naye edition launch karte rahen.

aapka
kamlesh mishra
...
written by Sunil Amar journalist 09235728753, June 15, 2011
Hairatangej badlav ke jis daur me ham ji rahe hain aisi khabren Yash Pal Ji, nihsandeh bahut sukoon deti hain. Apko aur apki samuchi team ko badhayi.

Write comment

busy