दैनिक भास्‍कर देश का सबसे बड़ा अखबार समूह

E-mail Print PDF

एक करोड़ 81 लाख पाठक संख्या के साथ दैनिक भास्कर समूह देश का सबसे बड़ा अखबार समूह बना हुआ है। शुक्रवार को जारी भारतीय पाठक सर्वेक्षण (आईआरएस) के 2011 की पहली तिमाही क्यू-1 की सर्वे रिपोर्ट में भास्कर समूह शीर्ष पर कायम है। हरियाणा में 13.33 लाख पाठकों के साथ दैनिक भास्कर अग्रणी है। पंजाब, चंडीगढ़ और हरियाणा राज्यों में भी 23.65 लाख पाठकों के साथ भास्कर सबसे आगे है।

पंजाब के प्रमुख शहरों - जालंधर, अमृतसर और लुधियाना में 4.36 लाख सामूहिक पाठक संख्या के साथ यह किसी भी अन्य अखबार के मुकाबले 25 प्रतिशत आगे है। चंडीगढ़ में भास्कर के 1.70 लाख पाठक हैं और यह निकटतम अखबार द ट्रिब्यून से 78 प्रतिशत की बढ़त लिए हुए है। मध्यप्रदेश में पिछले तीन महीनों के दौरान करीब दो लाख नए पाठक जोड़े। राज्य में भास्कर की पाठक संख्या अब 37.30 लाख हो गई है। यह राज्य में निकटतम प्रतिद्वंद्वी अखबार से तीन गुना अधिक है। पिछले तीन महीनों के दौरान भोपाल शहर में भास्कर ने 23 हजार नए पाठक जोड़े। जबकि इंदौर की पाठक संख्या में 16 हजार की वृद्धि हुई।

अन्य राज्यों में भी शिखर पर : छत्तीसगढ़ में भी दैनिक भास्कर 9.66 लाख की पाठक संख्या के साथ शीर्ष पर बना हुआ है। राजस्थान में शिखर पर मौजूद दैनिक भास्कर के 63.12 लाख पाठक हैं। जयपुर शहर में 10.23 लाख पाठक संख्या के साथ भास्कर अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी अखबार से 43 फीसदी बढ़त बनाए है। राजस्थान के शहरी इलाकों में 35.20 लाख पाठकों के साथ भास्कर शीर्ष पर बना हुआ है। राज्य के चार बड़े शहर जयपुर, जोधपुर, कोटा और बीकानेर में 17.07 लाख पाठकों के साथ भास्कर सबसे आगे है। गुजरात में भी दैनिक भास्कर समूह का गुजराती अखबार दिव्य भास्कर छह शहरों अहमदाबाद, सूरत, वड़ोदरा, राजकोट, भावनगर और जामनगर में अग्रणी बना हुआ है।

दैनिक भास्कर हरियाणा, चंडीगढ़ और पंजाब में भी 23.65 लाख पाठक संख्या के साथ सबसे आगे है। दैनिक भास्कर समूह ने झारखंड की राजधानी रांची में अगस्त 2010 में दैनिक भास्कर और महाराष्ट्र के औरंगाबाद में मई 2011 में दैनिक दिव्य मराठी की लांचिंग कर इन दोनों राज्यों में अपना विस्तार किया है। आईआरएस की प्रक्रिया के मुताबिक किसी भी नए अखबार की पाठक संख्या के आंकड़े रिपोर्ट में शामिल होने में एक साल से अधिक समय लगता है। इसलिए दैनिक भास्कर झारखंड और औरंगाबाद की पाठक संख्या रिपोर्ट में शामिल नहीं है।

यह खबर दैनिक भास्‍कर ने अपने पहले पन्‍ने पर प्रकाशित किया है.


AddThis