घूस नहीं देने पर जागरण के संवाददाता ने छाप दी झूठी खबर

E-mail Print PDF

दैनिक जागरण, शाहजहांपुर के कलान स्‍टेशन के प्रतिनिधि प्रदीप कुमार पर आरोप लगाया गया है कि पैसे नहीं दिए जाने पर उन्‍होंने गलत खबर प्रकाशित कर दी.  गुंदउरा दाउदपुर स्थित सेठ गयादीन संस्‍कृत महाविद्यालय से जुड़े वेदरत्‍न आर्य ने दैनिक जागरण, बरेली के सीजीएम चंद्रकांत त्रिपाठी को पत्र लिखकर शिकायत की है कि उनके प्रतिनिधि प्रदीप कुमार ने उनसे पांच हजार रुपये की घूस मांगी.

उनके द्वारा घूस न दिए जाने पर प्रदीप ने संस्‍कृत महाविद्यालय में नकल की एक फर्जी खबर छाप दिया. इस संबंध में जब वेदरत्‍न से बात की गई तो उन्‍होंने इसे सच बताते हुए कहा कि अब तक उस संवाददाता के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं हुई है. वो मुझे अब और परेशान करने की धमकी देते हुए कह रहा है कि शिकायत करके क्‍या करवा लिया, मौका आने दो समझाउंगा. इस संबंध में जब प्रदीप कुमार का पक्ष जानने के लिए उनके मोबाइल पर सम्‍पर्क किया गया तो स्विच आफ बताता रहा, जिससे उनका पक्ष नहीं जाना जा सका. अगर उनका पक्ष आता है तो उसे भी ससम्‍मानित प्रकाशित किया जाएगा. नीचे वेदरत्‍न द्वारा भेजा गया पत्र.

लेटर


AddThis
Comments (4)Add Comment
...
written by प्रदीप कुमार सिंह , July 04, 2011
यशवंत जी नमस्कार, मै प्रदीप कुमार दैनिक जागरण कलान शाहजहॉंपुर का
संवाददाता हूॅ । यह क्षेत्र अति पिछड़ा व नकल के गढ़ के रुप में पूरे प्रदेश
में विख्यात है। मै तकरीबन 8 बर्ष से दैनिक जागरण से जुड़ा हूॅं मैने नकल
माफियाओं की जड़े हिलाने के लिए अखवार के माध्यम से काफी प्रयास किए है
जिस कारण शिक्षा माफिया रंजिश मानते है और मुझ पर कीचड़ उछालने का
मौका तलाशते रहते है। मैने अपने कार्यकाल में ऐसा कोई कार्य नही किया
है जिससे मेरा या पत्रकारिता का सिर शर्म से झुक सके। क्षेत्र के संस्कृत
विद्यालय गुदौरा दाऊदपुर विद्यालय में कार्यरत वेदरत्न आर्य द्वारा मुझ पर लगाये
गये सारे आरोप निराधार व बेबुनियाद है। क्षेत्र के इस संस्कृत विद्यालय मे
पूरे बर्ष पढ़ाई नही होती है केवल परीक्षा के समय विद्यालय भवन मे चहल
पहल रहती है। इस बर्ष जिला विद्यालय निरीक्षक श्यामाकुमार द्वारा भी छापामारी
के दौरान भारी मात्रा में नकल पकड़ी गयी थी और कई छात्र बुक भी हुये
थे जिसे मैने प्रमुखता से प्रकाशित कराया था खबर शत प्रतिशत सत्यता पर
आधारित है जिससे खिन्न होकर वेदरत्न आर्य द्वारा मुझ पर कीचड़ उछालकर
घृणित कार्य किया गया है। ब्यूरो प्रमुख व महाप्रबन्धक महोदय को मैने
सच्चाई से अवगत करा दिया है।
आपसे अनुरोध है कि मेरा पक्ष भड़ास पर प्रदर्शित करने का कष्ट करें।
प्रदीप कुमार सिंह दैनिक जागरण संवाददाता कलान शाहजहॉंपुर।
मो0-9559528236,7275196140,9956366639,
...
written by khalid, June 20, 2011
भाई पाराशरी जी पहले तो आप भी जागरण में ही थे क्‍या आप भी ले देकर शाहजहांपुर में इंचार्ज बने थे। आरोप लगाना आसान है पर सभी एक जैसे नहीं होते,
...
written by pappu pandit , June 20, 2011
संस्कृत विद्यालय के साथ ही ग्रामीण अंचलो के प्राइवेट विद्यालयों में नकल की खबर कोई नई नही है | रही बात घूस के मांग की तो यह कुछ हजम नही हो रहा है | घूस देकर परीक्षा का सेंटर लेने वालो की करनी से ही देव भाषा संस्कृत पतन की और अग्रसर है | संस्कृत विद्यालय ज्ञान केंद्र के बजाय प्रमाण पत्र बाँटने का सेंटर बन गये है | जहा क्लास तो चलता नही पर परीक्षा देने वालो की संख्या सैकड़ो में रहती है वह भी कापी किताब के साथ बैठकर | शिकायतकर्ता ने लिखा है कि एक और केंद्र है उसकी खबर नही ली गयी मेरी छाप दी गयी | यह तो वही हाल हुआ हमने कराया तो छाप दिया, उसने कराया तो नाम भी नही लिया ..........| पप्पू पंडित
...
written by arun parashri , June 19, 2011
jagarn walo to yah hi dhndha hai, is me nai baat kya hai, upar tak dete hain bhai, to lenge kyun nhin

Write comment

busy