प्रधानमंत्री अखबार के सम्‍पादकों के सामने तोड़ेंगे अपनी चुप्‍पी

E-mail Print PDF

महत्वपूर्ण मुद्दों पर कथित संवादहीनता के लिए सामाजिक संगठन के कार्यकर्ताओं, मीडिया और अपनी पार्टी के कुछ सदस्यों का निशाना बनने वाले प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने मीडिया के साथ बातचीत करने का फैसला किया है. प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह बुधवार को कुछ वरिष्ठ सम्पादकों से मुलाकात करेंगे. पीएम के मीडिया सलाहकार हरीश खरे ने कहा कि मुझे उम्मीद है कि प्रधानमंत्री और संपादकों के समूहों के साथ बातचीत का यह तरजीही तरीका होगा.

ज्ञात हो कि मनमोहन सिंह ने अपने सात वर्षों के प्रधानमंत्रित्व काल में केवल तीन बार राष्ट्रीय स्तर पर टेलीविजन के जरिए संवाददाता सम्मेलन किया है.  वह कभी भी भारतीय मीडिया को साक्षात्कार देने के लिए नहीं जाने गए हैं. मनमोहन सिंह ने चार महीने पहले टेलीविजन चैनलों के सम्‍पादकों से मुलाकात की थी. गौरतलब है कि प्रधानमंत्री को अपनी चुप्पी तोडने की नसीहत कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने दी है. बताया जाता है कि पिछले दिनों हुई सीडब्ल्यूसी की बैठक में सभी मसलों पर सरकार का पक्ष रखने के लिए मीडिया के बीच जाने की नसीहत प्रधानमंत्री को दी गई थी.

संसद सत्र एक अगस्त से शुरू होने वाला है और इसके पहले विपक्ष महंगाई और भ्रष्टाचार सहित कई मुद्दों पर सरकार को घेरने की तैयारी में है. इसे देखते हुए कांग्रेस के नेतृत्व वाली सरकार ने बातचीत की एक नई रणनीति तैयार की है. सूत्रों के मुताबिक छवि सुधारने की योजना के हिस्से के रूप में नई रणनीति के तहत प्रधानमंत्री और प्रिंट एवं इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के वरिष्ठ सम्पादकों के बीच अक्सर बैठकें होंगी. आगे चलकर यह बैठक करीब प्रत्येक सप्ताह होगी.


AddThis