डीएम बोला- बहनजी कहें तो मीडिया को ठीक कर दूं

E-mail Print PDF

यशवंत जी, आज तड़के जैसे ही उठा, मेरी नजर आज के हिंदुस्तान अखबार के प्रथम पेज पर गई. एक खबर देखकर मेरा माथा ठनक उठा. इस खबर को पढ़कर ऐसे लगा जैसे लोकतंत्र के चौथे स्तंभ पर बिजली सी गिरा दी गयी हो. अनायास ही दिल से आवाज निकली कि क्या अब बहन जी के राज मे खबर छापने के लिये पत्रकारों को डीएम महोदयों से परमीशन भी लेनी पड़ेगी? खबर आप भी पढ़ लें. और उचित लगे तो भड़ास के पाठकों को भी पढ़ा दें. -घनश्याम, जनपद औरैया, उत्तर प्रदेश

प्रेस वार्ता बुलाकर बांदा डी.एम. ने पत्रकारों को धमकाया

बहनजी कहें तो मीडिया को कर दूं ठीक

बांदा । कार्यालय संवाददाता

“बहुत लोग आ गये। एक चैनल में खबर चल रही थी कि आर्थिक तंगी से किसान ने खुदकुशी कर ली। मौके पर जाकर देखा गया तो जिस स्थान पर शव पडा था, उसके आस पास 50 मीटर तक पेड़ ही नहीं था। क्या किसान ने घास के पेड़ पर खुदकुशी की थी। झूठी खबर छापने से जनता का विश्वास उठता। समीक्षा मीटिंग में बहन जी (मुख्यमंत्री) से कहा कि आप कहें तो पत्रकारों को एक घंटे में ठीक कर दूं। बहन जी ने कहा कि नहीं पत्रकारों को समझा कर काम करो”। यह बातें जिलाधिकारी कैप्टन एके. द्विवेदी ने प्रेस वार्ता बुलाकर धमकाने के अंदाज में पत्रकारों से कहीं।

द्विवेदी ने साथ में यह भी जोडा कि यह बातें (धमकी) वह ऑफ द रिकार्ड कह रहे है। एक पत्रकार ने डीएम. से कहा कि कहिये तो छाप दे आपके राज में राम राज्य चल रहा है। डीएम. झुंझला गये और उस पत्रकार से कहा कि मेरी बातें आपके समझ में नहीं आती तो बाहर निकल जाइये। इसी बीच एसपी आरके श्री वास्तव आ गए। एक पत्रकार ने कहा जब आप पत्रकारों से बात नहीं करते तो प्रशाषन का पक्ष कैसे छापा जाय। डीएम ने कहा कि सब झूठ छापते है। जिसे मेरी बात बुरी लगे वह चला जाय और जो करना है कर ले। पत्रकार चले गए, दरअसल प्रशासन परेशान है। कि कर्ज पीडित किसानों कि आत्महत्या की घटनाए रुक नहीं रहीं है। और सरकार को 15 जुलाई तक हाईकोर्ट में जवाब दाखिल करना है। बांदा प्रशासन चाहता है कि किसानों की आत्महत्या की खबर न छपें।


AddThis
Comments (27)Add Comment
...
written by ganesh ji verma, September 15, 2011
Bahan ji kahegi to meadia to thik kar denge.wo DM hain ya bahan ji sarvent. samajh me nahi aata.
...
written by sandeep tiwari, July 28, 2011
isme dm ka koi dosh nahi hai kuch patrakaar hi jakaar adhikario ke yaha darbar lagate hai to adhikari bhi samjhte hai ki patakaro ki yahi aukaat hai isme sudhar hona chahiye
...
written by V P SINGH, July 21, 2011
DM SAHAB AP MIDIYA SE PANGA NA LE VARNA GALAT HOGA

V P SINGH MO.9453267239, 9506709147
...
written by tahir saifi, July 10, 2011
डी एम लगे मीडिया को धमकाने..अमा दिवेदी जी कोई सही पत्रकार पीछे लग गया तो मिटटी के तेल और चीनी की कालाबाजारी से लेकर ठेकेदारी के दो प्रतिशत कमीशन लेने के भी लाले पड़ जायेगे.
...
written by S.N.THAKUR, July 09, 2011
Aise bhrst D.M. ke khilaf court me 4 mamle darj karane ki jarurat hai inka dimag thik ha jayga, mai bhi ek D.M. ko uski aukat dikha chuka hu. DWEVEDY jaise D.M. ki janm kundali nikalo banda ke patrakar bhai aur uska parcha chhapwakar pure sahar me baat do
...
written by girish , July 05, 2011
DARBHANGA DAINIK JAGRAN OFICE ME INDINO SAHEB AAYE HAI JINKA NAAM HAI PRAMOD PANDEY OR M EKHLAKH OFICE KO SUDHARNE LEKIN YE YAHA AAKAR SUDHARNE KE VAJAY AATANK FAILA DIYE HAI YAHA TAK KI EK FRENCHAYJI PHOTOGRAPHER JO SARV VIDIT RUP SE DARBHANGA ME DAAGI CHARITRA KA HAI KE NAAM M EKHLAKH NE EK COLOM CHALAYA HAI JISME IS BRAST PHOTOGRAPHER KO BY LINE KARIB EK SAPTAH SE DIYA JA RAHA HAI JABKI STAF PHOTOGRAPHER KO YE PHOTO LANE MANAHI KAR DIYA GAYA HAI ISSE DARBHANGA JAGRAN OFICE ME HRACAMP MACHA HAI
...
written by neeraj anand, July 05, 2011
yah d m to apne aap ko keya samajh rahe hai keya myabati ke rajy me adhikari gunda girdi karenge,,,,,,,,,,,,sayad yah bah kahabat bhul gae hai ki jab gidad ke bure din aate hai to bah gaun ki taraf bhagta hai ab bakt hai ki sabhi patrkar apni or dundai dikhane walo ko unki aukat dikha de
...
written by gyanendra.shukla, July 03, 2011
dm sahab ko aapni aaukat nahi pata hai. dm ka hi ake senior ias bahan ji ko jooti pahana raha tha. kisi patrakar ne aisa kam kabhi nahi kiya hai
...
written by rk singh crime reporter, July 03, 2011
yah ptrakarita ka hanan hai. kya samachar patron ki halat aisi hai ki adna sa adhikari dhamaki de.
...
written by sahid pathan, July 03, 2011
bahnje ke talve chat kar lakho ka golmal karke banda me gareebo ko lootne vale de dewedi je par akhir kar gaj gir hi gayi hundustan je tarha sacche khabar likh kar un naukarsahon ko inki aukat batai hai mai uske liye unka sukrgujar hu anya akhbaro ko bhi sachi kahbar likhne me darna nahi chaiye, sabhi patrkaron ko ekjut rahkar kam karna chkaiye- sahid pathan 9793045666
...
written by BIJAY SINGH, July 03, 2011
SATTA KA DALAL HAI YE DM.
kahe to DM ko hi thik kar de,char din ghapla ghotala chapega,dimag thikane aa jayega.shukra hai Jharkhnad me nahi posted hain.

...
written by Sanjay Sharma. Weekand Times, July 02, 2011
बधाई ऐसे डी एम को. कोई तो ऐसा अफसर शेर है जो बहन जी के सामने इतनी बात कह सकता है. अब अपनी मर्दानगी की कहानी बांदा के पत्रकारों को ही सुना सकते है..लखनऊ के पत्रकार तो जानते ही है कि किसी डी एम की इतनी ओकात नहीं जो बहन जी के सामने एक शब्द भी बोल सके. एक गैर आई ए एस शशांक शेखर सिंह ने सबकी इतनी बैंड बजा दी की बेचारे चार साल से अपनी एसोसिएशन की बैठक तक नहीं कर पाए..और साहब लगे मीडिया को धमकाने..अमा दिवेदी जी कोई सही पत्रकार पीछे लग गया तो मिटटी के तेल और चीनी की कालाबाजारी से लेकर ठेकेदारी के दो प्रतिशत कमीशन लेने के भी लाले पड़ जायेगे.
...
written by IMRAN ZAHEER, MORADABAD, July 02, 2011
BECHARA DM KARE BHI TO KYA... PRASHASAN KI BAGDOR SAMBHALI NAHI JAATI....AISE ME YE JANAAB AISA HI KARENGE.. DM SAHAB TO JAISE BIDKE HUE GHODA LAG RAHE HAI.
...
written by अमित गर्ग. जयपुर, राजस्थान. , July 02, 2011
डीएम साहब, बहनजी कहें तो अपनी वर्दी और अपने काम को भी बेच देना, ईमान तो आप बहुत पहले ही बेच चुके लगते हैं. पर शायद आप एक बात भूल चुके हैं कि सीएम-पीएम तो आते-जाते रहेंगे, आपको नौकरी जिन्दगी भर करनी है. वैसे आपका यही हाल रहा तो आप ज्यादा दिन नौकरी कर नहीं पायेंगे, इसीलिए बेहतर होगा आप बहनजी के घर जाकर झाडू-पौंछा कर लें.
...
written by sahid pathan, July 02, 2011
dewedi je.. sacchi khabre chapne ke liye dm- dig- ke adesh ke jarrurat nahi hoti, cm ko khush karne ke chakker me bechare banda ke dm bhool gaya ke election ane wala hai aisa me patrkar samaj he unka sabse bada hitasi hota hai- dallal patrakoro ko unki dhamki se darna chaiye aap likho raho ham sab aapke sath hai----- sahid pathan daink swatantra chetna crime reportar kanpur 9793045666
...
written by deepak bisht, July 02, 2011
गलत आदमी हमेशा सच का सामना करने से घबराते हैं,,,,डीएम साहब भी अछूते नहीं हैं....पत्रकार की लेखनी चुभने लगी तो डीएम साहब का दर्द खुलकर सामने आ गया,,,,
...
written by कुमार मयंक, July 02, 2011
भ्रष्ट बुद्धि के बादशाह है डीएम... यूपीएसी के इंटरव्यू में अपनी भविष्य की इच्छा बताने की हिम्मत क्यों नहीं की थी... मीडिया बहुत मज़बूत है ज़नाब ... पानी भरेंगे जब करेंगे गैरकानूनी बात ... अदालत भी है देश में...
...
written by ishwar singh, July 02, 2011
DM saheb, ap janta ke naukar hain aur patrakar pratinidhi. jis tarah khabar chhapi hai, agar usme sachchai hai to tay hai ki ap iemandaar officer nahin hain.
...
written by Pushpendra mishra, July 02, 2011
Ho sakta hai ki DM ki bateyn kuch had tak jayaj ho lekin prastuti ka tarika ekdam Galat hai. Dwevedi ji ko sochana chahiyen ki wohada bhale hi bada ho lekin unaki haishiyat ek ek sarkari naukar ki hi hai. Media to ek tantra hai Jiski viswasniyata awam Samajik sarokaro ke nimit kiye gaye karyo ne savidhan me na darj hote hue v chothe stambh ke nam se pahchn mile hai. ab DM sahab apani aoukat khud hi nap jokh le pata chal jaega. ha ek bat aour hai kabi kabhi hamare patrakar bhai v nam aour shohrat ke khatir khabro ko galat tarike se prastut karte hai aisi galtiyo se unhe v bachana chahie " because credibility is sole of Media" and we have to preserve it .
...
written by घनश्याम क्रष्ण पोरवाल, July 02, 2011
आप लोगों द्वारा मेरे सहयोग के लिये कोटि-कोटि धन्यवाद, आशा करता हूं कि भविष्य में इस प्रकार की घटिया सोच वाले आला अधिकारी ध्यान से सुन ले कि मीडिया स्वतंत्र है और स्वतंत्र ही रहेंगी।

रिपोर्टर, जनपद औरैया
मो. +91 9897164100
...
written by rajendra kandpal, July 01, 2011
captain dwivedi thoda aundhe officer lagate hai. bahanji saamne baithi hongii toh laga hoga ki pakistan ke saamne baithe hain, so aisii baat kah dii hogi. poorv sainkon ka khyal rakha karen patrakaargan. kya dm kii post se bhii poorv karane ka iraada hai?
...
written by Kr Ashok S Rajput, July 01, 2011
On Friday, Government transfer the DM Banda Capt AK Dwidi as DM Unnao.
...
written by anurag sharma., July 01, 2011
दोस्तों हर शहर में कुछ ऐसे पत्रकार है जिन्हें प्रशासन ने दलाली करने और पत्रकारों को कमजोर करने के लिए पाल रखा है. ऐसे पत्रकारों को समय समय पर जूते मारे जाये तो ड़ी एम् क्या सी.एम्. और पी.एम्. भी अपनी औकात में रहकर जनता के प्रवक्ता पत्रकारों पर प्रहार नहीं कर पाएंगे. फिर भी जो लोग आगे पीछे की बात भूलकर निर्भीक पत्रकारिता कर रहा है. वे मेरे साथ नारा बुलंद करें..........पत्रकारिता जिंदाबाद...लोकतंत्र जिंदाबाद....तानाशाही मुर्दाबाद,..गुंडागर्दी मुर्दाबाद.
...
written by राधा, July 01, 2011
डीएम बेचारा है ....... बच्चा है..... अभी दीन-दुनिया का तजुर्बा नहीं है.....लिहाजा उसे बख्‍श दिया जाए.....मैडम के तलवे चाटते-चाटते खुद ही समझदार हो जाएगा।
...
written by mukesh chandra, July 01, 2011
kyo nahin chhapi jay. dm ke baap ka raj hai kya...
...
written by Dharmendra bharti raibareli up 9450035911, July 01, 2011
are bhai up ki c m kuchh bhi kar sakti kyonki wo sabki bahan ji hai
...
written by श्रीकांत सौरभ, July 01, 2011
अरे भाई,बांदा जैसे एक छोटे से जनपद के डीएम के कहने से मीडिया का भला क्या उखड़ जाएगा.बांदा के हिन्दुस्तान दैनिक ने उनके बयान को प्रमुखता से छापकर उनकी औकात बता दी है.डीएम साहब जानले कि भारत में तकरीबन 550 डीएम हैं,वे सारे चाहे तो मिलकर भी मीडिया का कुछ नहीं बिगाड़ सकते. डीएम ए.के. द्विवेद्वी शायद भूल गए हैं कि हाल ही में मीडिया से पंगा लेने के कारण लखनऊ के एसएसपी का क्या हश्र हुआ.यहीं नहीं उनका यह दोगला(दोयम दर्जेंवाला ) कथन कि "पत्रकारों को देख लेंगे" यूपी सरकार की शासन करने की गंदी नीति व भ्रष्ट अफसरशाहों की ओछी मानसिकता को बयां करता है.जरूरत इस बात की है कि मीडिया बिरादरी पर जब भी ऐसी कोई भड़ास निकले,पूरे पत्रकार एकजुट होकर इसका कड़ा विरोध करें. श्रीकांत सौरभ,संपर्क: 9473361087

Write comment

busy