दिल्‍ली से स्‍वाभिमान टाइम्‍स का प्रकाशन बंद

E-mail Print PDF

दिल्‍ली में कुछ और पत्रकार बेरोजगार हो गए हैं. कारण दिल्‍ली से एक और अखबार बंद हो गया है. खबर है कि स्‍वाभिमान टाइम्‍स का प्रकाशन अब नहीं हो रहा है. यह अखबार पिछले चार दिनों से प्रकाशित नहीं हो रहा है. लांचिंग के बाद से ही आपसी विवादों और मनमुटावों से जूझ रहा स्‍वाभिमान टाइम्‍स आखिरकार बंद कर दिया गया है. हमारा महानगर, समय सारांश के बाद दिल्‍ली से बंद होने वाला यह तीसरा अखबार है.

सूत्रों ने बताया कि अखबार का प्रकाशन फिलहाल ग्‍वालियर से हो रहा है. यहां कार्यरत कर्मचारियों ने बताया कि  दिल्‍ली एडिशन को अखबार के सीएमडी बनवारी लाल कुशवाहा के आदेश के बाद बंद कर दिया गया है. इसी के साथ अखबार से जुड़े सैकड़ों कर्मचारी और पत्रकार बेरोजगार हो गए. एक साल से भी कम समय तक जीवन जी पाने वाले बिग ब्राडकास्टिंग एंड मल्‍टीमीडिया कारपोरेशन लिमिटेड के बैनर तले प्रकाशित स्‍वाभिमान टाइम्‍स की शुरुआत अच्‍छी रही थी. परन्‍तु आपसी गुटबाजी के चलते यह अखबार बंद हो गया.

कुछ दिन पहले ही इसके संपादक निर्मलेंदू शाहा यहां से इस्‍तीफा देकर साई प्रसाद ग्रुप के अखबार हमवतन से जुड़ गए थे. उसके पहले वरिष्‍ठ समाचार संपादक चण्‍डीदत्‍त शुक्‍ला ने इस्‍तीफा दे दिया था. हालांकि प्रबंधन की योजना इस अखबार को यूपी, उत्‍तराखंड, हरियाणा, एमपी, छत्‍तीसगढ़ और राजस्‍थान से लांच करने की थी, परन्‍तु अब दिल्‍ली एडिशन के बंद होने के बाद इन उम्‍मीदों को गहरा झटका लगा है.


AddThis