अमर उजाला : इंक्रीमेंट-प्रमोशन में गड़बड़ी, फिर जारी होगी फाइनल लिस्‍ट

E-mail Print PDF

: एमडी तक पहुंची असंतोष और गड़बड़ी की शिकायत : अमर उजाला में कई लोगों के प्रमोशन की जानकारियां अब मिल रही हैं. इसके साथ ही कई गड़बडि़यों का भी पता चल रहा है. कुछ गड़बडि़यां की जानकारी एमडी तक पहुंच चुकी है. प्रमोशन पाने वालों की लिस्‍ट लम्‍बे इंतजार के बाद जारी तो हो गई है, लेकिन यह फाइनल नहीं है. जल्‍दी ही एक और सूची जारी करने की प्रकिया शुरू होने वाली है.

जुलाई के पहले सप्‍ताह हुए प्रमोशन में जम्‍मू में रिपोर्टर उमेश पंगोत्रा को डीएनई के पोस्‍ट पर प्रमोट किया गया है. सीनियर रिपोर्टर भूपेंद्र भाटिया को चीफ सब बनाया गया है. अमर उजाला के शिमला डेस्‍क पर काम कर रहे संजीव शर्मा और धर्मशाला में डेस्‍क पर काम कर रहे रमन सिंह को चीफ सब एडिटर के पोस्‍ट पर प्रमोट किया गया है.

चंड़ीगढ़ में 3 लोगों को प्रमोशन की चिट्ठी मिली है. पंजाब और हरियाणा ब्‍यूरो के इंचार्ज सुरेंद्र धीमान सीनियर स्‍पेशल करेस्‍पांडेंट बनाए गए हैं. अनिल त्रिवेदी सीनियर न्‍यूज एडिटर बने हैं. राजेंद्र कापड़ी चीफ सब एडिटर प्रमोट किए गए हैं. इन तीनों के अलावा चंड़ीगढ़ में डीएनई योगेश नारायण दीक्षित के प्रमोशन की भी चर्चा है. अभी इन्‍हें इंक्रीमेंट की चिट्ठी ही मिली है. इनका प्रमोशन नोएडा कारपोरेट ऑफिस की गड़बड़ी के कारण होल्‍ड हो गया है. ऐसी गड़बड़ी की जानकारी कई यूनिट से मिली है, जहां कई सीनियर लोग काफी परेशान हैं और अपने संपादकों पर नाइंसाफी का आरोप लगा रहे हैं.

नोएडा से पता चला कि प्रमोशन की लिस्‍ट बनाते समय कुछ लोगों के नाम गायब हो गए. इसमें पूरे ग्रुप में 24 लोगों के नाम सामने आए, जिनके प्रमोशन के लिए उनके संपादकों ने अनुशंसा की थी, लेकिन नोएडा में इन पर विचार ही नहीं हुआ. जिन लोगों के प्रमोशन किए गए उनकी बनाई हुई कुछ खबरें और पेज नोएडा मंगाए गए थे. इसी की लिस्‍ट बनाते समय गड़बडि़यां हुईं.

बताया जा रहा है कि ऑन लाइन अप्रेजल सिस्‍टम के कारण ऐसा हुआ. इसे जब एमडी राजुल माहेश्‍वरी की जानकारी में लाया गया तब तहकीकात शुरू हुई. संपादकों को मेल भेजकर बताया गया है कि इनके इंक्रीमेंट लेटर पर जारी कर दिए गए हैं. प्रमोशन लेटर शीघ्र जारी करने की जानकारी दी गई है. वैसे नोएडा में एचआर का जो हाल है उसमें यह कहना मुश्किल है कि बचे हुए 24 लोगों को कब तक लेटर मिलेगा. अभी जो इंक्रीमेंट लेटर बना है उसी में तीन महीने लग गए. उसके लिए भी संपादकों से पूछा नहीं गया कि किसे किस पोस्‍ट पर प्रोन्‍नत करना है. नतीजा है कि प्रमोशन के नाम पर पोस्‍ट कुछ भी लिख दिया गया है.

रिपोर्टर के लेटर में डीएनई का पोस्‍ट है. ऐसा लगता है कि हड़बड़ी में चिट्ठियां जारी की गई हैं. सब एडिटरों के प्रमोशन का मामला अभी लटका हुआ है. इस सुस्‍त चाल के कारण अमर उजाला के नोएडा ऑफिस समेत पूरे ग्रुप में संपादकीय कर्मियों में असंतोष फैल रहा है. संपादकीय प्रभारियों ने चुप्‍पी साध रखी है. अभी उनका इंक्रीमेंट भी लटका हुआ है. देहरादून और  हल्‍द्वानी के संपादकों के बदले जाने के बाद सभी सहमे हैं कि ना जाने अब किसकी बारी हो. वैसे भी अमर उजाला में अब संपादकों की वह स्थिति नहीं है जो अतुल माहेश्‍वरी के जमाने में थी. इस बार के अप्रेजल में भी यह साफ दिख रहा है.


AddThis
Comments (6)Add Comment
...
written by ravi, September 16, 2011
amar ujala k sabhi ache staff ab naukri dhoondh rahe hain. prabhandan lag raha hai ya to dishaheen ho gaya hai ya phir diwaliya jo apne staff ko poromotion tak nahi de pa raha. sabase jyada sub editor thaga mehsoos ker rahe hain jinhe sampadk lagataar dhairya dila rahe hain lekin september bitne ko hai hai aur ab tak promotion ka suspense khatam nahi hua. yashwant si aap is maamle alag se story pata lagayen ki aakhir kya ho raha hai. amar ujala patrakaron ka sosan q ker raha hai ager use promotion nai dena to bata de. sub editors k sath dhokha nahi chalega. lagta hai rajul maheshwari se amar ujala nahi samhal raha werna unhe pata hota ki sub editor hi amarujala chala rahe hain werna jyadatar sampadak to amar ujala k chutiye hain. unhe sansthan b aisa hi samjhta hai tabhi to unhe promotion k bare mei jankari nahi hai
...
written by Ankush, July 13, 2011
What a HR Dept. of Amar Ujala.?
...
written by Aliya Khan, July 11, 2011
pramotion aur increament jahan kuch logon ko khushi dete hain vahin kai karon se promotion aur increament se vanchit logon ko dukh aur asantosh hota hai. Sahi baat to yah hai ki promotion ki thos policy banni chahiye. Darashal kai karamchari ya fir yah kahen ki patrkar aise bhi hain jo pichchle 15 se bees saalon se amarujala se judhe hue hain. lekin promotion aur increament ke naam par unhen hamesha nirash hona padhta hai. Shayad unko work culture ya fir apni marketing karne ka gyan nahin hota is vajah se ve hamesha increament athva promotion ki roshni men aane se vanchit rah jaate hain. Main Amar Ujala ke sampadakon aur MD se poochhna chahta hun ki ve hamesha se hashiye par kyun rahte hain? kya ve bekar hain? khya unse kaam nahin liya jaata? pichhle 15-20 saal se ve kaise naukri kar rahe hain? kya ve vafadaar nahin hain? thek hai tej tarrar ko promotion do lekin jo anubhavi hain jinko AU ki rag-rag test adi ka pata hai unhen bhi samman dena chahiye. Fir kahna chahunga ki aik employer keval vyapaari nahin balki vah rozgaar dekar samaaj ko majboot karne ka kaam bhi karta hai. yahi samaj seva hai par Rajul Maheshvari ko isse kya lena dena. Shayad vah to bujurg patrakaron ko bahar ka rasta hi dikha den. MD sahab parivar kaise chalta hai yah dekhiye. koi aik beta ya beti priya ho sakti hai lekin anya sadasyon ki upeksha to nahin ki jaati naa.
...
written by mini sharma, July 11, 2011
Jab kisee cheej kaa jyada failaw ho jata hai too ek samay aisa aata hai kee woo phir se sikudne lagta hai..................
...
written by abhishk, July 10, 2011
राजुल जी, मेरा आपको सुझाव है कि प्रभात जैसे संपादकों से बचिए और बॉय लाइन तो बिलकुल ही बंद करा दीजिए, क्यों कि दुधवा प्रबंधन ने तो बुरा नहीं माना, लेकिन आम्रपाली, बरेली ने आपको अपने विज्ञापन देने बंद कर दिए हैं, हां अगर आपको लगता है कि प्रभात ने अखबार को नई दिशा, मैं तो कहूंगा कि सिर्फ नाटकों की दिशा खबरों की नहीं, तो एसे ही चलने दीजीए, आपको हश्र जल्द ही पता चल जाएगा।
आपका
अपना
...
written by abhay singh munna, x rep, amar ujala, July 10, 2011
jab se amar ujala me hr department ka hold sampadkiy me hua hai reporter se lekar sampadk tak khud ko ashay aur asahaj mahshus kar rahe hai. reporter tak ki niyukti ka adhikar sampadak ko nahi hai, pramotion se lekar inkrement tak antim faisala hr hi kar raha hai, atul maheswari sampadkiy se jude thhe tabtak thikthhak raha, rajul maheswari gm rahe. ab md hone ke karan hr ka varchasw aur ho gaya. yadi yahi hal raha to amar ujala ka bhagwan hi malik hai. abhay singh, varanasi....9453358950

Write comment

busy