ब्‍लैकस्‍टोन ने जागरण प्रकाशन लिमिटेड में 225 करोड़ निवेश किया

E-mail Print PDF

जागरण प्रकाशन लिमिटेड (जेपीएल) की होल्डिंग कंपनी जागरण मीडिया नेटवर्क इनवेस्‍टमेंट प्राइवेट लिमिटेड में मारिशस की प्राइवेट इक्विटी फर्म ब्‍लैकस्‍टोन जीपीवी कैपिटल पार्टनर्स ने 225 करोड़ रुपये का निवेश किया है.जेपीएल ने बांम्‍बे स्‍टॉक एक्‍सचेंज को इसकी सूचना दे दी है. ब्‍लैक स्‍टोन ने जेपीएल को पैसे स्‍थानांतरित कर दिए हैं. कंपनी के अनुसार ये सीधा विदेशी निवेश है, इसके लिए फॉरेन इंवेस्‍टमेंट बोर्ड से जून महीने में ही इसकी अनुमति मिल गई थी.

जागरण मीडिया नेटवर्क इंवेस्‍टमेंट प्राइवेट लिमिटेड (जेएमएनआईपीएल) पिछले सप्‍ताह जागरण प्रकाशन लिमिटेड में 59.46 प्रतिशत इक्विटी शेयर के साथ होल्डिंग कंपनी बन गई है.

Blackstone invests Rs 225 cr in Jagran

New Delhi (PTI) : Media firm Jagran Prakashan Ltd (JPL) today said private equity firm Blackstone GPV Capital Partners, Mauritius, has invested Rs 225 crore in its holding company Jagran Media Network Investment Pvt Ltd.

In a filing to the Bombay Stock Exchange, JPL said Blackstone has invested Rs 225 crore in accordance with various government approvals.

The company, however, did not disclose the quantum of stake picked up by Blackstone in Jagran Media Network Investment Pvt Ltd. (JMNIPL).

"At this point of time we cannot disclose the amount of stake dilution in JMNIPL," JPL Company Secretary Amit Jaiswal told PTI.

JMNIPL recently became a holding company of JPL with all the 21 promoters consolidating their 59.46 per cent stake of the total issued and paid-up capital.

It is 100 per cent owned by JPL's promoters and their family.

JPL's scrips were trading at Rs 109.50 per share, down 0.77 per cent in the later afternoon trade on the BSE.


AddThis
Comments (1)Add Comment
...
written by ajay singh, July 23, 2011
गुरु मजे आ गए जागरण को अब जल्दी से कोई बड़ा चैनल खरीद ने की कोसिस करेगा मीडिया की मंडी नहीं मीडिया की रंडी कहा जाये इस अखबार को तो कोई बुरी बात नहीं होगी danik जागरण inext मिड डे जागरण पूंजाबी जागरण इन्कुलाब और जाने क्या क्या अब है ना मीडिया की मंडी नहीं जनाब मीडिया की रंडी हैं यह जो डेली रात को नेताओं के साथ हमबिस्तर होती हैं हा वैसे मेरी माने तो मोहन गुप्त जी जल्दी से वोइस ऑफ़ इंडिया खर्रीद लो १०० करोरे मांग रहा हैं एक और night मिल जाएगी रात को नेताओं के साथ सोने के लिए /

Write comment

busy