दैनिक लोकदशा में कर्मचारियों की दशा खराब, समय से नहीं मिल रही सेलरी

E-mail Print PDF

राजस्‍थान में जनवरी से चालू हुए दैनिक लोकदशा अखबार में एक बार फिर कर्मचारी तनाव में हैं. कर्मचारियों को तनख्‍वाह समय से नहीं मिल रही है. और जो लोग छोड़ कर गए हैं उनकी तनख्‍वाह रोक ली गई है. अखबार के मालिक एक पॉलिटिकल पर्सन हैं और वो अखबार में भी पॉलिटिक्‍स कर रहे हैं.

जो लोग छोड़कर गए हैं उन्‍हें कहा जा रहा है कि अपने अधिकारियों से बात करें और अधिकारियों से कह दिया गया है कि उन्‍हें कुछ बोलने की जरूरत नहीं है, वो कह दें कि मालिक से बात करें. ऐसे वो दोनों तरफ से गेम खेल रहे हैं. वहां के लोगों को इतना डराया गया है कि लोग अपने मालिक का मोबाइल नम्‍बर भी किसी को नहीं दे सकते हैं.

मालिक के द्वारा कर्मचारियों को ना तो समय से पैसा दिया जा रहा है और जो लोग छोड़कर जाना चाहते हैं या जा रहे हैं उन्‍हें तनख्‍वाह रोकने की धमकी दी जा रही है. कर्मचारियों को अभी आईकार्ड भी नहीं दिए गए हैं. मालिक के द्वारा कहा जाता है कि अगर कर्मचारियों को कार्ड दे दिए गए तो उन्‍हें हमें परमानेंट करना पड़ जाएगा. और लोगों को हम हटा नहीं पाएंगे, इसलिए अभी इन्‍हें आईकार्ड उपलब्‍ध न कराया जाए.

एक पत्रकार द्वारा भेजे गए पत्र पर आधारित.


AddThis