दिल्‍ली में स्‍वयं प्रकाश करा रहे इलाज, बिहार में हिंदुस्‍तान से जुड़ने की अफवाह

E-mail Print PDF

वरिष्‍ठ पत्रकार एवं प्रभात खबर, पटना के संपादक स्‍वयं प्रकाश को लेकर पूरे बिहार में कानाफूसी चल रही है. उनके हिंदुस्‍तान के साथ जुड़ने की खबर पूरे बिहार में एक कान से दूसरे कान तक पहुंच रही है. हर कोई इस खबर की सच्‍चाई जानने की कोशिश कर रहा है. कारण है उनका दिल्‍ली में पिछले कुछ दिनों से चल रहा प्रवास. पर सच यह है कि वो दिल्‍ली में अपना इलाज करा रहे हैं.

प्रभात खबर आज बिहार में सभी प्रतिद्वंद्वी अखबारों को कड़ी टक्‍कर दे रहा है तो उसके पीछे कारण हैं स्‍वयं प्रकाश, जो प्रधान संपादक हरिवंश के निर्देशन एवं नेतृत्‍व में दिन-रात एक करके अखबार को आम लोगों का संवाद पत्र बनाया. इस दौरान उन्‍होंने एक दिन की छुट्टी नहीं ली, परन्‍तु वो पिछले कई दिनों से पटना से बाहर दिल्‍ली में जमे हुए हैं तो उनके चाहने और न चाहने वालों को हैरत तो होनी ही है. बिहार में स्‍वयं प्रकाश को लेकर अफवाह और चर्चाओं का दौर चल रहा है. भड़ास को भी लगातार उनके हिंदुस्‍तान से जुड़ने, प्रधान संपादक शशि शेखर से मिलने की खबरें दी जाती रहीं. इन चर्चाओं को इसलिए भी बल मिला कि बिहार का नम्‍बर एक अखबार जिस तरह की विषम परिस्थितियों से गुजर रहा है तथा प्रभात खबर जिस तेजी से उसे टक्‍कर दे रहा है, उसमें स्‍वयं प्रकाश उसके लिए एक मजबूत कड़ी साबित हो सकते हैं.

भड़ास ने जब इस खबर की पुष्टि अपने स्‍तर से करने की कोशिश शुरू की तो पता लगा कि स्‍वयं प्रकाश दिल्‍ली के एक अस्‍पताल में अपने रीढ़ की हड्डी की तकलीफ का इलाज करा रहे हैं. उन्‍हें डाक्‍टर ने पर्याप्‍त बेड रेस्‍ट की सलाह दी है. डाक्‍टरों का मानना है कि लगातार कई घंटे बैठकर काम करने के चलते उन्‍हें यह परेशानी आई है. उनके सेहत की जानकारी लेने उनके प्रधान संपादक हरिवंश भी आ चुके हैं. इस संदर्भ में जब स्‍वयं प्रकाश से बात की गई तो उन्‍हें इसे अफवाह बताते हुए कहा कि उनके दिल्‍ली में रहने के चलते इस तरह की चर्चाएं उठ रही हैं, परन्‍तु अभी वे इतने अनैतिक नहीं हैं कि प्रभात खबर और हरिवंश जी को छोड़ दें. उन्‍होंने कहा कि उनका सपना प्रभात खबर को बिहार में नम्‍बर एक पर पहुंचाना है उसके बाद कुछ सोचा जाएगा. हिंदुस्‍तान से जुड़ने जैसी खबरें बिल्‍कुल गलत हैं.


AddThis