इस गड़बड़ी की पूरी जानकारी अखबार के संपादकों को थी

E-mail Print PDF

लंदन। ब्रिटेन में फोन हैकिंग कांड में बंद हुए न्यूज आफ द वर्ल्‍ड अखबार में विशेष संवाददाता रहे क्लाइव गुडमैन के एक खत से खुलासा हुआ है कि अखबार के प्रमुख संपादकों को फोन हैकिंग मामले की पूरी जानकारी थी। ब्रिटिश दैनिक गार्डियन के मुताबिक गुडमैन ने 2 मार्च 2007 को अखबार के मानव संसाधन विभाग के निदेशक डेनियल क्लोक को लिखे अपने खत में कहा था कि अखबार से उन्हें शाही परिवार के कुछ सदस्यों का फोन सुनने के मामले में निकाल देना सरासर गलत कदम था क्योंकि इसमें वह अकेले ही शामिल नहीं थे।

उन्होंने बताया कि उस समय अखबार के संपादक मंडल की दैनिक बैठकों में फोन हैकिंग पर होने वाली चर्चाएं आम थीं। हालांकि बाद में संपादक एंडी कल्सन ने इन चर्चाओं पर प्रतिबंध लगा दिया था। गुडमैन ने बताया कि अखबार के अधिवक्ता टाम क्रोन को इस पूरे मामले की जानकारी थी। गुडमैन ने कहा कि क्रोन और अखबार के संपादक ने कई मौकों पर मेरे आगे शर्त रखी थी कि अगर मैं कभी इस मामले में अभियुक्त बनाया जाऊं तो अखबार और इसके किसी भी कर्मचारी का जिक्र अपनी याचिका में नहीं करूं।

मैने हमेशा ही इस बात का पालन किया। न्यूज आफ द वर्ल्‍ड अखबार पर इस मामले में गुडमैन के खत को सार्वजनिक करते समय उसमें गलत तरीके से कांटछांट करने का आरोप है। अखबार की मुख्य प्रबंधक न्यूज कार्प कंपनी के कार्यकारी अधिकारी जेम्स मर्डोक के बयान से असंतुष्ट इस मामले की जांच कर रही संसद की एक समिति अब जेम्स को दोबारा बयान देने के लिए पेश होने का आदेश जारी कर सकती है। उल्लेखनीय है कि गुडमैन न्यूज आफ द वर्ल्‍ड अखबार के लिए ब्रिटेन के शाही परिवार को कवर किया करते थे। इस मामले में शाही परिवार के तीन सदस्यों का फोन टैप करने के मामले में उन्हें 2007 में जेल में डाल दिया गया था। साभार : पत्रिका


AddThis