जनसंदेश टाइम्‍स का फर्रूखाबाद, औरैया, इटावा और कन्‍नौज एडिशन लांच

E-mail Print PDF

कानपुर में सफलता के बाद जनसंदेश टाइम्स ने अन्य शहरों में तेजी से कदम बढ़ाना शुरू कर दिया है। आम जनता के बीच अपनी पहचान बनाते हुए 8 सितम्‍बर से 12 सितम्‍बर के दौरान जनसंदेश टाइम्स प्रबंधन ने फर्रूखबाद, औरैया, इटावा और कन्नौज में समाचार पत्र की सफलता पूर्वक लांचिंग की। ज्यादा से ज्यादा पाठकों को अपने साथ जोड़ने के लिए प्रबंधन ने उनके सामने 20 पृष्ठों का रंगीन अखबार रखा है।

प्रबंधन से मिली जानकारी के मुताबिक पाठकों को इस पूर्ण रंगीन अखबार के लिए अन्य समाचार पत्रों की अपेक्षा कम कीमत चुकानी होगी। यहां पर समाचार पत्र की कीमत 2 रुपये रखी गई है। अखबार को पहले ही दिन से जनता ने हाथों-हाथ लिया। इस अवसर पर अखबार के चीफ मैनेजर अनिल पांडे, न्यूज एडीटर अनूप बाजपेयी, प्रसार प्रबंधक श्याम सुंदर श्रीवास्तव, मार्केटिंग हेड अनंत जौहरी, चीफ रिपोर्टर योगेश त्रिपाठी सहित कई लोग मौजूद रहे। मालूम हो कि जनसंदेश टाइम्स बीते 10 अप्रैल को कानपुर एडीशन लांच किया था। कानपुर में पाठकों के मध्य समाचार पत्र ने कम समय में ही अपनी अच्छी पहचान बना ली।


AddThis
Comments (4)Add Comment
...
written by DEVVRAT YADAV, September 14, 2011
I LOVE JANSANDESH NDLIKE JANSANDESH
...
written by Mohit, September 13, 2011
Dher sari subhkamnaye...amoop sir....or aage badna hai abhismilies/smiley.gif
...
written by raja, September 13, 2011
चल चल मेरे साथी ओ मेरे हाथी यह गाना तो सुना ही ही गुरु तो फिर खामाखाम जनसंदेश की सफलता का वाखान भड़ास पर कर रहे हो मायावती का अखबार है पाठक क्या उसका बाप भी पड़ेगा भाई। और बड़िया तनख़ाह देने में क्या जा रहा है जरा मुझे बता दो मेरे भाई जितनी दलाली यूपी में चल रही हैं फिर क्या इटावा क्या ओरेया और क्या कानपुर कल को यूपी में जागरण को भी पीट दे तो कोई बड़ी बात नहीं । मोटा इनाम बाटकर पीसीसी करकर तो कोई भी 50000 का सर्कुलेसन आराम से कर सकता हैं इसका जीता जागता उदाहरण आगरा का हिंदुस्तान है जोकि पीसीसी के बलबूते ही चल रहा है।

Write comment

busy