मर चुके वाहिद खां को अमर उजाला ने किया जिंदा

E-mail Print PDF

बरेली। दूसरे अखबारों की खबर चुरा कर छापने में माहिर अमर उजाला, बरेली ने दूरसंचार सलाहकार समिति की बैठक की बेजोड कवरेज की। जिसका मजाक पूरे बरेली शहर में बना हुआ है। हुआ यूं कि 14 सितम्बर को बरेली में दूरसंचार सलाहकार समिति की बैठक वरिष्‍ठ महाप्रबंधक राजीव यादव की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई। इस बैठक की अमर उजाला के स्टाफ रिपोर्टर ने बेहतर कवरेज की।

अमर उजाला के 15 सितम्बर के अंक में पेज 4 पर 'बीएसएनएल से मोहभंग को विभाग ही जिम्मेदार' हेडिंग से दो कालम की खबर छापी गयी। इस खबर के अंतिम पैरे में लिखा गया कि बैठक में डीजीएम बाबू राम, सदस्य विमला शुक्ला, अमिताभ सिंह, राजीव सक्सेना, नीलम गंगवार , वाहिद खां समेत कई अन्य लोग मौजूद रहे। इस पैरे में सबसे उल्लेखीय बात यह है कि वाहिद खां को इस बैठक में शामिल होना दर्शाया गया है जब कि वाहिद खां तो कई महीने पहले ही गुजर चुके हैं और 14 सितम्बर से पूर्व 6 अप्रैल को हुई दूरसंचार सलाहकार समिति की बैठक में वाहिद खां को श्रद्धांजलि भी दी जा चुकी हैं। बीएसएनएल से मोहभंग को विभाग ही जिम्मेदार खबर पढ़ने के बाद बरेली में अमर उजाला की जमकर थू-थू हुई और पता चला कि अमर उजाला के रिपोर्टरों की क्या वर्किंग हैं।

सुरेन्‍द्र शर्मा

बरेली


AddThis
Comments (4)Add Comment
...
written by deva, September 22, 2011
Rajul yeh Bareilly me kya ho raha hai. Pilibhit Bureau ke karmchari to randibaji karte pakde jaa cuke hai. tab se Pilibhit ka bureu bhi chupat hai. kab tak yese pilibhit me akhbar bechoge. yesha na ho ki amar ujala teesre number par aa jaye.
...
written by ek reporter, September 22, 2011
amar ujala ki jo halat hai, uska to bhagwan hi malik hai....kuch unit main to RE hi aise baitha diye gaye hai jo mamla khabro ka ho ya employee ka , na samajh pate hai unko aur na hi achi samajh rakhte hain...kewal apni duty baja rahe hain...
...
written by C.P., September 22, 2011
AMAR UJALA ME SAB ANDHE BAITEHE HAI. REPORTAR SIRF DALLALI ME MASGOOL HAI.
...
written by Pawan Tripathi , September 22, 2011
अमर उजाला ka hr jageh hei hal hi

Write comment

busy