पत्रकार कुमार संजय त्यागी लहराते रहे पिस्तौल! प्रेमी जोड़ों पर मंडराई मौत!!

E-mail Print PDF

'पिस्तौल' लहराते कुमार संजय त्यागीकैथल (हरियाणा) में अंबाला रोड स्थित पीडब्ल्यूडी रेस्ट हाउस में रात को एक बजे के करीब कुछ लोग चुपचाप दाखिल होते हैं. इनमें पत्रकार कुमार संजय त्यागी भी हैं. हाथ में है एक 'पिस्तौल'.

रेस्ट हाउस में उपर है सेफ हाउस का कमरा. इस सेफ हाउस में चार प्रेमी जोड़े अदालत से सुरक्षा हासिल कर जान बचाने के लिए शरण लिए हैं. कमरे के बाहर पुलिसकर्मी नाइट ड्रेस में सो रहा है. इसी पुलिसकर्मी पर प्रेमी जोड़ों की सुरक्षा का जिम्मा है. अंदर दाखिल हुए लोग सीढ़ियां चढ़कर सेफ हाउस तक पहुंच जाते हैं और पिस्तौल लहराते हैं. इन्हीं में से कुछ लोग तस्वीर खींचते हैं. और फिर बेरोकटोक वापस लौट आते हैं. अगले दिन यह पूरी सच्चा कहानी आज समाज के कैथल-जींद के लांचिंग एडिशन में मय तस्वीर प्रकाशित होती है. क्या है पूरी कहानी, और कौन कौन लोग थे टीम में, जानने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें...

रात में प्रेमी जोड़ों पर मंडराती रही 'मौत'


AddThis
Comments (3)Add Comment
...
written by rakesh singh, October 01, 2011
this is a job of very enthujistic journalsim. i appreciate it. well done big brother. carry on to renaisance of society.
...
written by arti dalal, September 30, 2011
sanjay sir... very very xelent work haii...


good job....
...
written by tejwani girdhar, ajmer, September 30, 2011
ये तो दिलेरी की बात है जनाब

Write comment

busy