3.71 करोड़ पाठकों के साथ भास्‍कर को पीछे छोड़ हिंदुस्‍तान दूसरे नम्‍बर पर

E-mail Print PDF

हिन्दुस्तान एक बार फिर पाठकों का चहेता अखबार बन कर सामने आया है। पिछले एक वर्ष में इसके पाठकों का भरोसा और बढ़ा है। हिन्दुस्तान ने देश के अग्रणी अखबारों की पंक्ति में अपना दूसरा स्थान बरकरार रखते हुए अपनी स्थिति को और मजबूत किया है। इंडियन रीडरशिप सर्वे (आईआरएस क्यू-2 2011) के ताजा परिणाम के मुताबिक आपके प्रिय अखबार हिन्दुस्तान की कुल पाठक संख्या 3.71 करोड़ हो गई है।

पिछले वर्ष के इंडियन रीडरशिप सर्वे क्यू-2 2010 के मुकाबले अखबार की कुल पाठक संख्या में 62 लाख पाठकों का इजाफा हुआ है। जबकि हिन्दुस्तान के निकटतम प्रतिद्वंद्वी अखबार दैनिक भास्कर की कुल पाठक संख्या में इस अवधि में कमी आई है और इस वक्त उसकी कुल पाठक संख्या 3.35 करोड़ है। पिछले तीन वर्ष के दौरान हिन्दुस्तान की पाठक संख्या में निरन्तर वृद्धि दर्ज की गई है।

गौरतलब है कि आईआरएस के पिछले 11 दौर में यह अखबार देश का तेजी से बढ़ता अखबार बनकर उभरा है। पाठक संख्या में वृद्धि पिछले तीन वर्ष में अखबार द्वारा चलाए गए विस्तार कार्यक्रम का नतीजा है। पिछले एक वर्ष में हिन्दुस्तान ने उत्तर प्रदेश में 42 लाख पाठक जोड़े हैं। हिन्दुस्तान अपनी 1.41 करोड़ पाठक संख्या के साथ प्रदेश के 33 प्रतिशत पाठकों का चहेता बन चुका है। साभार : हिंदुस्‍तान


AddThis
Comments (1)Add Comment
...
written by kumarkalpit, October 01, 2011
koee aage koee peeche ho rashtriya sahara pa koee fhark nahi padta ?ke vah hamesha nambar-1 rahtaa hai niche sesmilies/smiley.gifsmilies/wink.gifsmilies/cheesy.gifsmilies/grin.gif

Write comment

busy