दैनिक 'विश्‍व लहर' से बचकर रहना!

E-mail Print PDF

कैथल के एक पत्रकार राजेश शर्मा ने आजकल पंजाब को टारगेट किया हुआ है। चंडीगढ़ से रजिस्टर टाइटल 'विश्व लहर' नाम से हिन्दी दैनिक को उसने एफिडेविट पर खरीदा हुआ है। इस अखबार के नाम पर उसने अमर उजाला, आज समाज से न जाने कितने लोगों को लाखों रुपये और हमारी तरह के फ्रीलांस डिजाइन करने वाले डिजाइनरों को हजारों रुपये का चपत लगा चुका है।

यह शख्‍स बड़े-बड़े वादे करता है। फर्जी चेक देकर एग्रीमेंट करता है। और जब तक दूसरा व्यक्ति उसके झांसे में रहता है, वो उससे अपना अखबार निकलवाता है। बाद में पैसा इकट्ठा कर अचानक फुर्र हो जाता है। इतना ही नहीं, इसने कैथल, अंबाला, दिल्ली और पंजाब के कई होटल व टैक्सी मालिकों को भी धोखा दिया है। पेमेंट के लिए फोन करने पर यह फोन नहीं उठाता था। कभी गलती से उठा लेता था तो कहता, सर, आज का काम करवा दीजिए, कल आपके एकाउंट में पैसे आ जाएंगे। उसके दिए गए पैसे एकाउंट में तो नहीं आते, हां, चेक बऊंस होने का मैसेज मिल जाता है।

एक महीने बाद भी पेमेंट ने होने पर जब सुबह इनके कैथल स्थित मकान पर कुछ पीड़ित पहुंचे तो इनके परिवार वालों ने कहा कि इसे शख्स को तो हमने अपनी संपत्ति से बेदखल किया हुआ है। आपको जो भी करना है करो, हमारा इससे कोई लेना देना नहीं है। वहां कुछ पत्रकार साथियों से बात की तो उन्होंने बताया कि उसके परिवार वाले सही कह रहे हैं। यहां के कोर्ट में इसके खिलाफ कई केस दर्ज है और जिनको पैसे लेने हैं, ऐसे कई लोग इसे ढूंढ रहे हैं। इतना सब कुछ सुनकर हम लोग भी मुंह लटका कर वहां से चले आए।

एक पत्रकार द्वारा भेजे गए पत्र पर आधारित.


AddThis
Comments (4)Add Comment
...
written by anurag sharma, February 25, 2012
Bhdas nahe bakwas hai aapka ye portel.Nakara,nikema,faltu logo k time paas ka jaria hai ye porte. aap nihayet he gairjimedar log hai jo kisi k prti bina kisi uchit prtal k kuch bhee ulta sidha chap dete ho.aap logon ko shrm aani chahiye
...
written by rajesh sharma, March 11, 2011
bhole bhale logon se thagi marne walo ke khilaf sakat karwayin honi chiaya
aur punjab sarkar ko chayia ka aisa logo ke kelaf sakat sa sa sakatkarwayikare taki media ke nam par thagi marne waloke nasiyataye
...
written by parmod, March 03, 2011
ye admi to nkli h pr iski bato me aane wale logo me se jyadatar whi log honge jo jrurtmando k kam nhi aa skte or ese logo ki bato me aa jate h. ese case me jyadatr badmash log hi badmashiyon ka sikar bna krte h.
...
written by ssss, March 01, 2011
ye nakli aadmi hai

Write comment

busy