दैनिक 'विश्‍व लहर' से बचकर रहना!

E-mail Print PDF

कैथल के एक पत्रकार राजेश शर्मा ने आजकल पंजाब को टारगेट किया हुआ है। चंडीगढ़ से रजिस्टर टाइटल 'विश्व लहर' नाम से हिन्दी दैनिक को उसने एफिडेविट पर खरीदा हुआ है। इस अखबार के नाम पर उसने अमर उजाला, आज समाज से न जाने कितने लोगों को लाखों रुपये और हमारी तरह के फ्रीलांस डिजाइन करने वाले डिजाइनरों को हजारों रुपये का चपत लगा चुका है।

यह शख्‍स बड़े-बड़े वादे करता है। फर्जी चेक देकर एग्रीमेंट करता है। और जब तक दूसरा व्यक्ति उसके झांसे में रहता है, वो उससे अपना अखबार निकलवाता है। बाद में पैसा इकट्ठा कर अचानक फुर्र हो जाता है। इतना ही नहीं, इसने कैथल, अंबाला, दिल्ली और पंजाब के कई होटल व टैक्सी मालिकों को भी धोखा दिया है। पेमेंट के लिए फोन करने पर यह फोन नहीं उठाता था। कभी गलती से उठा लेता था तो कहता, सर, आज का काम करवा दीजिए, कल आपके एकाउंट में पैसे आ जाएंगे। उसके दिए गए पैसे एकाउंट में तो नहीं आते, हां, चेक बऊंस होने का मैसेज मिल जाता है।

एक महीने बाद भी पेमेंट ने होने पर जब सुबह इनके कैथल स्थित मकान पर कुछ पीड़ित पहुंचे तो इनके परिवार वालों ने कहा कि इसे शख्स को तो हमने अपनी संपत्ति से बेदखल किया हुआ है। आपको जो भी करना है करो, हमारा इससे कोई लेना देना नहीं है। वहां कुछ पत्रकार साथियों से बात की तो उन्होंने बताया कि उसके परिवार वाले सही कह रहे हैं। यहां के कोर्ट में इसके खिलाफ कई केस दर्ज है और जिनको पैसे लेने हैं, ऐसे कई लोग इसे ढूंढ रहे हैं। इतना सब कुछ सुनकर हम लोग भी मुंह लटका कर वहां से चले आए।

एक पत्रकार द्वारा भेजे गए पत्र पर आधारित.


AddThis