ट्रिब्यून समाचार पत्र समूह में चिंगारियां भड़कीं, सात कर्मचारी सस्पेंड

E-mail Print PDF

चंडीगढ़ : लगभग 130 बरस पुराने ट्रिब्यून समाचार पत्र समूह में पिछले सप्ताह से सुलग रही चिंगारियां भड़क उठी है. समाचार प्रबंधन ने ट्रिब्यून कर्मचारी यूनियन के पदाधिकारियों सहित कुल सात कर्मचारियों को मंगलवार को निलंबित कर दिया. बुधवार को कर्मचारियों ने एक रैली कर प्रबंधन को दो दिन में निलंबन वापिस लेने को कहा है और ट्रिब्यून ट्रस्ट से अपील की है कि संस्थान में शांति बहाल करने के लिए समुचित कदम उठाये.

जिन कर्मचारी नेताओं को निलंबित किया गया है उन में ट्रिब्यून कर्मचारी यूनियन के अध्यक्ष बलबीर सिंह जंडू, महासचिव अनिल गुप्ता, उपाध्यक्ष राजीव कपलिश, कार्यकारिणी के सदस्य बलविंदर सिप्रे, चंडीगढ़ प्रेस क्लब के पूर्व अध्यक्ष जगतार सिंह सिद्धू, सुरिंदर सिंह और बलविंदर सिंह जम्मू शामिल हैं. इस घटनाक्रम के चलते जहां यूनियन ने एक वरिष्ठ प्रबंधक पर एक महिला पत्रकार के साथ दुर्व्यवहार का आरोप लगाया है वहीं प्रबंधन ने इस पत्रकार पर अनुशासनहीनता का आरोप लगाया है.

चंडीगढ़ से प्रकाशित होने वाले दो पंजाबी समाचार पत्रों में इस घटनाक्रम के समाचार छपे हैं (कतरनों की छवियां संलग्न हैं) और पत्रकार समुदाय में घटनाक्रम पर गहरी चिंता नज़र आरही है. लंबे समय तक कर्मचारियों तथा प्रबंधकों में स्वस्थ संबंधों की मिसाल माने जाने वाले ट्रिब्यून समाचार पत्र समूह के प्रबंधन और कर्मचारियों में लगातार कई वर्ष से तनाव चला आरहा है. यह प्रकाशन समूह पंजाब, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश में सबसे ज्यादा असर रखता है इसलिए इसमें तनाव का पूरे क्षेत्र के पाठकों पर असर पड़ सकता है.


AddThis