भास्‍कर शहर में सबसे ज्‍यादा पढ़ा जाने वाला अखबार

E-mail Print PDF

दैनिक भास्कर समूह ने एक बार फिर अपनी श्रेष्ठता साबित करते हुए पांच लाख नए पाठक जोड़े हैं। इंडियन रीडरशिप सर्वे (आईआरएस)-2010 की चौथी तिमाही के आंकड़ों के मुताबिक, दैनिक भास्कर समूह एक करोड़ 79 लाख पाठकों के साथ देश का सबसे बड़ा अखबार समूह है। समूह का प्रमुख अखबार दैनिक भास्कर अपने प्रसार क्षेत्र में बढ़त कायम रखे हुए है और शहरी क्षेत्र में देश का सबसे ज्यादा पढ़ा जाने वाला अखबार है।

भास्कर ने यह उपलब्धि पिछले 18 महीनों में 11 लाख नए पाठक जोड़कर हासिल की है। रिपोर्ट के आंकड़े हरियाणा में दैनिक भास्कर की ग्यारह साल की गाथा दुहरा रहे हैं। 13.89 लाख पाठकों के साथ दैनिक भास्कर अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी से 32 प्रतिशत ज्यादा लोगों की पसंद है। पिछले साल दैनिक भास्कर ने झारखंड में कदम रखा और आईएमआरबी के आंकड़ों ने दैनिक भास्कर को पहले दिन ही रांची का अव्वल अखबार घोषित कर दिया था।

मध्य प्रदेश में सिर्फ तीन महीनों में 1.77 लाख नए पाठकों के जुडऩे के साथ ही वहां दैनिक भास्कर के पाठकों की संख्या अब 35 लाख से ऊपर पहुंच गई है। छत्तीसगढ़ में 10 लाख से ज्यादा पाठकों के साथ भास्कर फिर पहले नंबर पर है। राजस्थान में अकेले जयपुर में दैनिक भास्कर के दस लाख से ज्यादा पाठक हो गए हैं जो इस शहर के लिए कीर्तिमान है।

चंडीगढ़ में 1.82 लाख पाठकों के साथ दैनिक भास्कर अपने बाद के तीन प्रतिद्वंद्वियों की कुल पाठक संख्या से भी ज्यादा विस्तृत है। इसमें 11 हजार नए पाठक हैं, जो पिछली चौमाही में जुड़े हैं। पंजाब में जालंधर, लुधियाना और अमृतसर शहरों की कुल पाठक संख्या में दैनिक भास्कर सबसे ऊपर है और जालंधर और अमृतसर में अपना वर्चस्व बनाए हुए है। अकेले जालंधर में एक पिछले साल के अंतिम चार महीनों में दैनिक भास्कर ने 7 प्रतिशत की बढ़त दर्ज की है।

पंजाब प्रदेश में चालीस हजार नए पाठकों के साथ, आपका अखबार 4.6 प्रतिशत प्रति चौमाही वृद्धि दर्ज कर रहा है। गुजरात में दिव्य भास्कर, अहमदाबाद 10.58 लाख पाठकों के साथ एकमात्र ऐसा गुजराती अखबार है जिसके एक संस्करण के पाठकों की संख्या दस लाख से ज्यादा है। साभार : भास्‍कर


AddThis