गांडीव प्रकरण : एक एक कर्मचारी दो-दो हजार दस्तखत कैसे करेगा?

E-mail Print PDF

वाराणसी से प्रकाशित सांध्य दैनिक गांडीव से एक खबर यह आ रही है कि प्रबंधन ने हालांकि स्थायी कर्मचारियों से वेतन/हाजिरी रजिस्टर नाम से एक रजिस्टर पर दस्तखत करा लिया है, पर समाचार पत्र कर्मचारी यूनियन के महामंत्री दादा अजय मुखर्जी ने साफ कह दिया है यह रजिस्टर मान्य नहीं होगा, यह तो कूड़ा है। पांच साल का रजिस्टर गांडीव प्रबंधन को पेश करना है।

इन पांच सालों में एक साल का 365 दिन यदि देखा जाए तो एक एक कर्मचारी को दो हजार दस्तखत करने होंगे। वाराणसी के मीडिया जगत में यह चर्चा जोरों पर है कि एक एक कर्मचारी दो-दो हजार दस्तखत कैसे करेगा और प्रबंधन कैसे दस्तखत कराएगा। कुल मिलाकर अब भी घालमेल है। हालांकि श्रम विभाग नाटी इमली में गुरुवार को दो डिब्बा मिठाई गांडीव प्रबंधन ने भिजवाया था पर चूंकि रजिस्टर अधूरा था इसलिए इसे पेश नहीं किया जा सका।

गांडीव प्रबंधन और कर्मचारियों में हालांकि सहमति हो गयी है पर प्रबंधन को देखकर ऐसा लगता है कि वह कागजातों को ठीक नहीं कर सका है। सहायक लेबर कमिश्नर के यहां गुरुवार को मिठाई आदि खाई गयी और जो लोग आ रहे थे सभी को गांडीव प्रदत्त मिठाई खिलायी जा रही थी। इस मिठाई की बनारस में काफी चर्चा रही। साभार : पूर्वांचलदीप


AddThis