नम्‍बर दो का जश्‍न : मिठाई-गुलाल से हिंदुस्‍तान ने मनाई खुशी

E-mail Print PDF

वाराणसी से एक खबर यह है कि भास्कर को पीछे छोड़ हिन्दुस्तान के भारत का दो नंबर का अखबार हो जाने की खुशी में शुक्रवार को सुबह अखबार वितरण सेंटरों पर हिंदुस्तान की ओर से न सिर्फ बैनर लगाए गए थे, अपितु वितरकों को मिठाइयां खिलायी गयीं और गुलाल उड़ाए गए। ज्ञात हो कि दैनिक भास्कर को पीछे छोड़ कर हिन्दुस्तान देश का दूसरा सबसे ज्यादा पढ़ा जाने वाला अखबार बन गया है।

ताजा आकड़ों के अनुसार हिन्दुस्तान की कुल रीडरशिप 3.52 करोड़ हो गई है, जो दैनिक भास्कर की कुल रीडरशिप से 12 लाख ज्यादा है। हिन्दुस्तान, देश का इकलौता बड़ा अखबार है जो आईआरएस के पिछले सात चक्र (आर1- 2008 से) में निरंतर आगे बढ़ा है। इस वृद्धि दर से हिन्दुस्तान ने चौथे नंबर से आगे बढ़ते हुए दूसरा स्थान हासिल कर लिया है। इस क्रम में उसने क्यू1-2010 में पहले अमर उजाला को और अब क्यू4-2010 में दैनिक भास्कर को पीछे छोड़ा है। पिछले नौ महीने में हिन्दुस्तान ने अपने पाठक आधार में 57.8 लाख पाठक जोड़े हैं और देश का सबसे तेजी से बढ़ने वाला अखबार बना है।

सबसे ज्यादा वृद्धि उसे उत्तर प्रदेश से हासिल हुई है, जहां हिन्दुस्तान ने पिछले नौ माह में 41 लाख पाठक जोड़े हैं। अपने 1.28 करोड़ कुल पाठकों के साथ हिन्दुस्तान ने उप्र के 30 फीसदी पाठकों को अपने साथ जोड़ लिया है। हिंदुस्तान के प्रसार व्यवस्थापक सीपी राय ने बताया कि इससे बड़ी खुशी और क्या हो सकती है कि हम देश का दूसरे नंबर का सबसे बड़ा अखबार बन गए हैं। इस खुशी में वाराणसी में वितरकों के साथ फोटो भी खिंचवाए गए। श्री राय ने इसका श्रेय वितरकों को दिया और कहा कि उनके ही सद्प्रयास हैं कि वाराणसी में भी अखबार निरंतर अपनी प्रसार संख्या बढ़ाता जा रहा है। साभार : पूर्वांचलदीप


AddThis