मीडिया फालतू खबरें दिखाकर क्‍या साबित करना चाहता है

E-mail Print PDF

: जैप के कार्यक्रम में अजय चौधरी ने खड़े किए सवाल : लोगों में यह एक आम धारणा बन गयी है कि पुलिस खराब ही होती है. उससे अच्छाई की उम्मीद की ही नहीं जा सकती. मगर सच्चाई यह है पुलिस के लोग भी साधारण इंसान होते हैं और उसे हर किसी ने अपने-अपने तौर पर अत्यधिक बदनाम कर दिया है. उक्त बातें दक्षिण पूर्वी दिल्ली के नए एडिशनल पुलिस आयुक्त अजय चौधरी ने जर्नलिस्‍ट एसोसिएशन फॉर पीपल द्वारा पुलिस पब्लिक इंटेरक्‍शन के दौरान कही.

उल्लेखनीय है कि आम लोगों की भलाई के लिए काम करने वाले पत्रकारों के संगठन जर्नलिस्ट एसोसिएशन फॉर पीपल (जैप) ने नए एडिशनल पुलिस आयुक्त अजय चौधरी से जामिया नगर की जनता के साथ एक मुलाक़ात का आयोजन किया था. इस आयोजन का उद्देश्य यह था कि जामिया नगर के लोग अजय चौधरी को जान सकें और पुलिस से उनकी जो शिकायत है वह उनके सामने रख सकें.

श्रोताओं में से कई लोगों ने संबोधित किया. अधिकतर लोगों की यही शिकायत थी पुलिस का रवैया जनता के प्रति अच्छा नहीं होता. सभों की शिकायत सुनने के बाद अजय चौधरी ने कहा कि हर कोई अपनी गलती नहीं देखता बस एक ही बात की रट लगाए रहता है कि पुलिस खराब होती है. हर पुलिस वाला बेइमान ही होता है और पुलिस से सहानुभूति की उम्मीद नहीं की जा सकती. उन्होंने कहा कि यह एक गलत सोच है जो हर किसी के भीतर पैदा हो गई है.

अजय चौधरी ने कहा कि बहुत से लोग ऐसे हैं जिन से पुलिस ने कभी एक पैसा भी नहीं लिया, उनका कोई नुकसान नहीं किया इसके बाद भी वो यही कहते हैं कि पुलिस खराब होती है. उन्होंने यह बात मानी कि हमारे अंदर भी खराबी है, मगर खुद की कमी पर भी ध्यान देना चाहिए. जामिया नगर का उदाहरण देते हुए उन्होंने कहा कि यहां बड़े-बड़े पदों पर काम करने वाले लोग भी हैं और अफसोस की बात यह है कि इस इलाक़े में अपराधी लोग भी हैं. उन्होंने मीडिया को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि वह अनावश्यक समाचार कार्यक्रम दिखा कर समाज को खराब कर रहा है उसकी चिंता किसी को नहीं है.

उन्‍होंने मीडिया की शिकायत करते हुये कहा कि यदि किसी तीन साल की बच्ची के साथ कुछ बुरा हुआ है तो उसे दिन भर दिखाकर मीडिया क्‍या साबित करना चाहता है। जुर्म से संबंधित कई कार्यक्रमों का नाम लेते हुये उन्‍होंने कहा कि ऐसे बकवास प्रोग्राम से आम जनता का क्‍या भला हो रहा है। आप पुलिस को तो दोष देते हैं, मगर मीडिया को दोष नहीं देते जिनकी ग़लत खबरों से कई बार मामला बिगड़ता है। कार्यक्रम में फिरोज बख्त अहमद, मोहम्मद अखलाक, जावेद खान, जफर अब्बास व इजहरुल हसन आदि ने भी अपने विचार रखे।

समारोह में इलाक़े के महत्वपूर्ण व्यक्ति के अलावा पत्रकार तारिक हुसैन रिजवी, खालील हाशमी, प्रभात मोहन, मीडिया पोस्ट के संपादक मोहम्मद अनवर, इम्तियाज़ अहमद आजाद, एनएफसी और जामिया नगर के एसएचओ के अलावा एसीपी दाता राम भी शामिल हुए. कार्यक्रम को सफल बनाने में जैप के अध्यक्ष महमूद अहमद, उपाध्यक्ष इनमुर रहमान, महासचिव माज अली हैदर, सचिव ख़ालिद मोइन, पीआरओ एएन शिबली और अन्य महत्वपूर्ण सदस्यों में यावर रहमान, इमरान शाहिद, जफर अब्बास मोबाशिर आदि की महत्वपूर्ण भूमिका रही। प्रेस रिलीज


AddThis