पेड न्यूज़ के ख़िलाफ़ आज महासम्मेलन

E-mail Print PDF

: लालू और पासवान भी शामिल होंगे : पेड न्यूज़ को रोकने की गरज़ से बिहार-झारखंड के पत्रकारों की ओर से शनिवार को पटना के एलएन मिश्रा इंस्टीट्यूट में एक महासम्मेलन किया जा रहा है। पूरे देश में  इस तरह का ये पहला सम्मेलन  है जहाँ पत्रकारों की पहल  पर पत्रकार और समाज के विभिन्न वर्गों से जुड़े प्रतिष्ठित लोगों के अलावा राजनीतिक दलों के नेता भी जुटेंगे और पेड न्यूज़ के ख़िलाफ आवाज़ बुलंद करेंगे। सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए देश के दूसरे हिस्सों से भी पत्रकार आ रहे हैं। पैसे देकर न्यूज़ छपवाने का प्रचलन पिछले कुछ सालों में बहुत तेज़ी से बढ़ा है।

ख़ासतौर पर चुनाव के दौरान इस तरह की गतिविधियां बड़े पैमाने पर होती हैं। इससे पत्रकारों और पत्रकारिता की विश्वसनीयता पर चोट पहुंची है। इस प्रवृत्ति से पाठकों और दर्शकों के सच जानने के अधिकारों का हनन हुआ है और लोकतंत्र के चौथे स्तंभ की स्वतंत्र भूमिका को लेकर संदेह पैदा हो गए हैं। महासम्मेलन के आयोजन के पीछे यही चिंता काम कर रही है। पेड न्यूज़ के खिलाफ होने जा रहे इस सम्मेलन में पेड न्यूज़ को रोकने के लिए रणनीति बनाने का काम  किया जाएगा। साथ ही, पेड न्यूज़ को परिभाषित करने के साथ-साथ इसके बारे में जागरूकता पैदा करना और सभी का सहयोग लेकर इस कुप्रवृत्ति पर रोक लगाना इस सम्मेलन का मक़सद है। आयोजन में लालू यादव व राम विलास पासवान के भी शिरकत करने की सूचना है।

पत्रकारों ने पेड न्यूज़ को रोकने  की दिशा में सक्रिय हस्तक्षेप  करने की गरज़ से एंटी पेड न्यूज़ फोरम का गठन किया है। ये संगठन पेड न्यूज़ के कारोबार पर नज़र रखेगा और इस तरह की तमाम गतिविधियों को लोगों के सामने लाने की कोशिश भी करेगा। अभी तक इस संगठन से लगभग डेढ़ सौ पत्रकार जुड़ चुके हैं। ये पत्रकार देश के तमाम विभिन्न मीडिया संस्थानों में कार्यरत हैं और इस विचार से सहमत हैं कि पेड न्यूज़ पत्रकारिता के बुनियादी उसूलों के ख़िलाफ़ है। महासम्मेलन में पेड न्यूज़ और जाने माने पत्रकार स्व. राजेंद्र माथुर पर वृत्त चित्रों  का प्रदर्शन भी किया जाएगा। मीडिया पर नज़र रखने और लोगों को इस मामले में जागरूक बनाने के लिए एक वेबसाइट भी शुरू की जा रही है। महासम्मेलन दोपहर दो बजे से शुरू होगा।


AddThis