इंटरनेट और मोबाइल से खबरों का विस्‍तार : प्रो.कुठियाला

E-mail Print PDF

कार्यशाला: समाचार संकलन-लेखन एवं संपादन पर लखनऊ में कार्यशाला आयोजित : लखनऊ जनसंचार एवं पत्रकारिता संस्‍थान द्वारा समाचार संकलन-लेखन एवं संपादन विषय पर एक कार्यशाला आयोजित की गई. कार्यशाला में छात्रों का मार्गदर्शन माखनलाल चतुर्वेदी राष्‍ट्रीय पत्रकारिता विश्‍वविद्यालय के कुलपति प्रो. बीके कुठियाला ने किया. प्रो. कुठियाला ने कहा कि राष्‍ट्र व समाज हित में सकारात्‍मक समाचारों पर विशेष ध्‍यान देने की आवश्‍यकता है.

उन्‍होंने कहा कि ओशो का मानना था कि नकारात्‍मक मीडिया की राष्‍ट्र को कोई आवश्‍यकता नहीं है. मीडिया सकारात्‍मक खबरों का विस्‍तार करे यही समाज के हित में है. प्रो. कुठियाला ने कहा कि आज ऐसे पत्रकारों की आवश्‍यकता है, जो पत्रकारिता मात्र अपनी जीविका के रूप में ना करे बल्कि इसे एक मिशन के रूप में करे. आज मीडिया व्‍यवसाय का रूप ले लिया है. व्‍यवसाय से कई बुराइयां भी पत्रकारिता में आईं हैं. कई नई बुराइयां पनप रहीं हैं. इन्‍हें दूर करने का दायित्‍व भी मीडिया का ही है. समाजिक हित में मीडिया ऐसी सूचनाएं दें, जो समाज के लिए उपयोगी हो.

सूचना प्रौद्योगिकी पर चर्चा करते हुए प्रो.कुठियाला ने कहा कि आज इंटरनेट व मोबाइल ने दुनिया का विस्‍तार कर दिया है. इन माध्‍यमों के साथ मुख्‍य मीडिया ने भी नित्‍य नई सूचनाएं प्रदान कर समाज को दिशा प्रदान करने का काम किया है. विभिन्‍न जिलों से आये विद्यार्थियों को प्रो.कुठियाला ने समाचार संकलन, लेखन व संपादन के विषय में उपयोगी जानकारी दिया. कार्यशाला में लखनऊ जनसंचार एवं पत्रकारिता संस्‍थान के निदेश अशोक कुमार सिन्‍हा, काशी हिन्‍दू विश्‍वविद्यालय प्राचीन इतिहास विभाग के पूर्व विभागाध्‍यक्ष प्रो. दीनबंधु पांडेय, अमरनाथ आदि लोग उपस्थित थे.


AddThis