राडिया से रिश्ता रखना महंगा पड़ रहा, उपेंद्र राय के खिलाफ सीबीआई जांच शुरू!

E-mail Print PDF

उपेंद्र राय: खुलने लगी पोल : ईडी ने सीबीआई को लिखा था पिछले साल पत्र : राडिया का काम कराने के लिए ईडी अधिकारी से मांगा था फेवर और बदले में दो करोड़ देने का किया था आफर : ईडी ने उपेंद्र राय के खिलाफ शिकायती पत्र फिर भेजा सीबीआई के पास : उपेंद्र राय ने आरोपों से इनकार किया और इसे विरोधियों की साजिश करार दिया :

स्टार न्यूज छोड़कर सहारा मीडिया में सबसे बड़े पत्रकार के पद पर नियुक्त होने वाले उपेंद्र राय कुछ ही महीनों बाद नीरा राडिया से बातचीत का टेप लीक होने के कारण चर्चा में आए. राडिया कई जगहों पर बातचीत में उपेंद्र राय एंड कंपनी का जिक्र करती है. राडिया से बातचीत में उपेंद्र राय भी दंडवत की मुद्रा में दिखते हैं. अब नए खुलासे से उपेंद्र राय के साथ-साथ सहारा की भी नींद उड़ी है और माना जा रहा है कि इस खुलासे के बाद उपेंद्र राय को सहारा से जाना पड़ सकता है क्योंकि सहारा इतने विवादित व्यक्ति को देर तक कांटीन्यू नहीं कर सकता. और इस नए खुलासे से यह भी स्पष्ट हो गया है कि उपेंद्र राय दरअसल नीरा राडिया के एजेंट के रूप में काम कर रहे थे.

वैसे, उपेंद्र राय हर बार यही कहते हैं कि वे किसी स्टोरी के चक्कर में इनसे या उनसे बात कर रहे थे.  चलिए आपको मूल कहानी बताते हैं. प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) को एक पत्र लिखकर उस घटना की जांच का अनुरोध किया है जिसमें एक पत्रकार ने ईडी के एक अधिकारी को एक मामले को सलटाने के लिए फेवर मांगा था और बदले में ठीकठाक पैसे देने का वादा किया था. उस पत्रकार ने जिस काम के लिए अनुरोध किया था, वह काम नीरा राडिया की तरफ से था.

पत्रकार का नाम है उपेंद्र राय. पैसे दो करोड़ रुपये तक देने के आफर किए थे. पिछले साल नवंबर में ईडी की तरफ से सीबीआई को यह पत्र लिखा गया और इस पत्र को अति गोपनीय श्रेणी दिया गया. हम आपको यहां यह भी बता देते हैं कि यह पत्र किस अधिकारी ने किस अधिकारी को लिखा था. ईडी के अतिरिक्त निदेशक आरपी उपाध्याय ने अपने निदेशक अरुण माथुर की सहमति से यह पत्र तत्कालीन सीबीआई डायरेक्टर अश्विनी कुमार को भेजा था. पत्र पिछले साल 25 नवंबर को भेजा गया. बताया जाता है कि उपेंद्र राय ने काम होने पर दो करोड़ रुपये देने की बात कही थी. सूत्रों के मुताबिक उपेंद्र राय ने ईडी अधिकारियों को बताया था कि वे नीरा राडिया को करीब 12 वर्षों से जानते हैं.

सीबीआई को भेजे पत्र में कहा गया है कि उपेंद्र राय के प्रस्ताव को ईडी अफसरों ने ठुकरा दिया और इस मामले को अपने निदेशक अरुण माथुर के पास भेज दिया. तब माथुर की सहमति से उपाध्याय ने सीबीआई को जरूरी कार्रवाई व जांच के लिए इस बारे में पत्र लिखकर भेज दिया. ताजी सूचना है कि कुछ दिनों पहले ईडी अफसरों ने उस शिकायती पत्र को दुबारा वर्तमान सीबीआई निदेशक एपी सिंह के पास भेज दिया. सूत्रों के मुताबिक सीबीआई ने उपेंद्र राय के खिलाफ गुपचुप तरीके से जांच शुरू कर दी है.

उधर, उपेंद्र राय ने राडिया की तरफ से किसी काम की सिफारिश ईडी अधिकारी से किए जाने से इनकार किया. उपेंद्र राय का कहना है कि ऐसा कोई मामला उन्हें याद नहीं आता. संभव है वे 2जी स्कैम से संबंधित खबर के लिए कुछ सूचनाओं की बाबत मीटिंग के इच्छुक रहे हों. पर उपेंद्र राय का कहना है कि उन्होंने राडिया की तरफ से किसी से भी आजतक कोई मीटिंग नहीं की. उपेंद्र राय के मुताबिक उनके विरोधी उन्हें नुकसान पहुंचाने के लिए भ्रामक सूचनाएं फैला रहे हैं. इस प्रकरण के बाबत जो भी पत्र या दस्तावेज हैं, वे सब झूठे और आधारहीन हैं.

नीरा राडिया - उपेंद्र राय के बीच रिश्ते के जो कुछ टेप व खबरें हैं, उन्हें नीचे दिए गए शीर्षकों पर क्लिक करके सुन पढ सकते हैं-

उपेंद्र राय ने भी की थी नीरा राडिया से बातचीत

उपेंद्र राय और नीरा राडिया के बीच बातचीत का टेप

ये जो उपेंद्र राय का ब्रदर इन ला या कजिन ब्रदर है, प्रदीप राय, वो यही तो काम करता है

दिल्ली हाईकोर्ट के जज विजेंद्र जैन ने 9 करोड़ रुपये रिश्वत लिए थे


AddThis