तीन महीने में हो जाएगा उपेंद्र राय की किस्मत का फैसला

E-mail Print PDF

सहारा न्यूज़ नेटवर्क के डायरेक्टर (न्यूज़) उपेन्द्र राय के विरुद्ध मिली शिकायत पर देश की सर्वोच्च जांच एजेंसी सीबीआई ने प्रारंभिक जांच शुरू कर दी है. ज्ञात हो की उपेन्द्र राय के विरुद्ध प्रवर्तन निदेशालय ने सीबीआई की शिकायती पत्र लिखा था, जिसमे यह कहा गया था की कॉरपोरेट दलाल नीरा राडिया को बचाने के लिए सहारा न्यूज़ के उपेन्द्र राय ने निदेशालय के अधिकारियों को दो करोड़ बतौर रिश्वत का ऑफर दिया था ताकि मामले को प्रभावित किया जा सके.

यानि नीरा राडिया को बचाने के लिए उपेन्द्र राय खुलकर मैदान में उतर चुके हैं. प्रवर्तन निदेशालय द्वारा लिखे गए पत्र के आधार पर सीबीआई ने मामला दर्ज कर लिया है. समाचार एजेंसी पीटीआई ने अपने सूत्रों के हवाले से यह खबर दी है कि प्रारंभिक जांच के लिए मामले को रजिस्टर्ड किया जा चुका है और जल्द ही उपेन्द्र राय को पूछताछ के लिए सीबीआई कार्यालय से सम्मन भेजा जाएगा. पीटीआई के सूत्रों ने इस बात की भी जानकारी दी है कि प्रारंभिक जांच की समय सीमा तीन महीने राखी गयी है यानि तीन महीने के अंदर ही उपेन्द्र राय की किस्मत का फैसला हो जाएगा और इस बात का भी फैसला हो जाएगा कि उपेन्द्र राय सहारा में कितने दिन के मेहमान हैं.

हालाँकि उपेन्द्र राय अपने उपर लगे सभी आरोपों को बेबुनियाद करार दे रहें हो लेकिन सवालों के जच में तो वो हैं ही. आखिर आम लोगों के मन में यह सवाल तो है ही कि आखिर प्रवर्तन निर्देशालय जैसे जांच एजेंसियों को उपेन्द्र राय से कोई निजी दुश्मनी तो हो नहीं सकती कि उनके विरुद्ध सीबीआई को शिकायत करना पड़े. आखिर निदेशालय के अधिकारियों के सिर्फ उपेन्द्र राय का ही नाम क्यों लिया. हालांकि अब तो मामला सीबीआई कि जांच के दायरे में है लेकिन इसमें कहीं कोई दो राय नहीं हो सकती कि पूरे प्रकरण में मीडिया में ऊंचे पदों पर बैठे कई लोगों के दामन दागदार है. वक्त आने पर यह भी पता चल जाएगा कि हाई प्रोफाइल टू-जी स्पेक्ट्रम घोटाले और कॉरपोरेट दलाल नीरा राडिया को बचाने में किन-किन लोगों की भूमिका रही है. लेकिन एक बात तो तय है कि मीडिया कि साख दांव पर है, और यही स्थिति रही तो मीडिया का और भी वीभत्स चेहरा नज़र आएगा.

लेखक अनंत कुमार झा झारखंड की पत्रकारिता में एक दशक से सक्रिय हैं. प्रिंट और टीवी दोनों माध्यमों में काम कर चुके हैं. इन दिनों दिल्ली में हैं.


AddThis