सीएनईबी के मैनेजमेंट का कारनामा

E-mail Print PDF

रजनीश: बिहार के 38 जिलों के रिपोर्टरों-स्ट्रिंगरों को अचानक किया बेरोजगार : लाखों रुपये का बकाया दबाया : सीएनईबी न्यूज ने बड़ी संख्या में पत्रकारों के पेट पर लात मारा है. इसकी आह इस चैनल के वरिष्ठों को लगेगी. सीएनईबी न्यूज़ के वरिष्ठों ने एक तानाशाहीपूर्ण फैसला करके बिहार के 38 जिलों के रिपोर्टरों को अचानक बेरोजगार कर दिया. इन रिपोर्टरों ने सीएनईबी न्यूज को उंचाई पर पहुंचाने के लिए एड़ी-चोटी का जोर लगा दिया था.

पर इनके खून-पसीने की कीमत को कोई समझने वाला नहीं है. बिहार में दिनेश आनंद को ब्यूरो  प्रमुख का प्रभार दिया गया. इसके बाद 38 जिलों में स्ट्रिंगर रखे गए. दो साल तक ये स्ट्रिंगर काम करते रहे और पेमेंट का इंतजार उम्मीद भरी नजरों से करते रहे. प्रबंधन के दबाव के कारण बिना पेमेंट मिले भी न्यूज भेजते रहे. जब बिहार के प्रत्येक स्ट्रिंगर का चालीस हजार से लेकर साठ हजार रुपये चैनल पर बकाया हो गया तब अचानक दिसम्बर 2010 में दिनेश आनंद को ब्यूरो से हटा दिया गया. उसके बाद तो जिले में आग लग जाये, घटना-दुर्घटना होती रहे, लेकिन चैनल की तरफ से कोई फीड नहीं मांगा गया. एक तरह से चैनल के वरिष्ठों ने मन ही मन स्ट्रिंगरों को बकाया न देने और उनसे काम न लेने का फैसला ले लिया था.

स्ट्रिंगरों ने जब डेस्क पर फोन करना शुरू किया तो जवाब मिला कि बिहार की किसी एजेंसी से हम खबर लेते हैं, स्ट्रिंगरों को खबर भेजने की कोई जरूरत नहीं. उसके बाद तो बिहार के 38 जिलों के हम रिपोर्टरों के पेट्रोल से लेकर नेट खर्च तक के लाखों रुपये सीएनईबी प्रबंधन ने हड़प लिया. अब कहें तो किससे कहें. ये लोग चलते तो हैं न्यूज़ चैनल चलाने पर इन्हें गरीबों को उनकी मेहनत के पैसे देने में शर्म आती है. बिना किसी सूचना के स्ट्रिन्गर को हटाना, पेमेंट हड़प लेना... ये कहां तक उचित है. अगर इस चैनल की कैपिसिटी नहीं थी तो क्यों स्ट्रिन्गर रखा और जब स्ट्रिंगरों से काम नहीं लेना था तो उन्हें उनका बकाया भुगतान कर उन्हें प्रापर तरीके से सूचित करना चाहिए था.

सीएनईबी जैसे चैनल से हम नौजवान स्ट्रिन्गरों को सबक मिला है. कायदे से सरकार को हर चैनल को यह निर्देश जारी करना चाहिए कि वे अपने यहां काम करने वाले सभी लोगों को समय से सेलरी व बकाया दें. और, सेलरी सबको समय से मिली या न मिली, इसकी रिपोर्ट हर महीने सूचना और प्रसारण मंत्रालय को भेजी जानी चाहिए. हम स्ट्रिंगर जो आंधी, तूफान, बरसात, सर्दी... हर मौसम में हर दुश्वारी झेलकर अपनी खबर चैनल के मुख्यालय को भेजते हैं पर बदले में हमें कुछ नहीं मिलता. ये करोड़पति कहे जाने वाले चैनल के मालिक पीछे मुड़कर भी नहीं देखते. सीएनईबी चैनल के मालिकों और संपादकों को बिहार के 38 जिलों के रिपोर्टरों व स्ट्रिंगरों की आह लगेगी. इससे ज्यादा मैं कुछ नहीं कह सकता.

रजनीश कुमार
स्ट्रिंगर
सीएनईबी न्यूज
समस्तीपुर
बिहार
फोन नंबर- 07549844005
This e-mail address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it


AddThis
Comments (17)Add Comment
...
written by Ghaus Mohd, July 16, 2011
People are coming and going in CNEB Tv channel but because of this some of the guest called by CNEB not getting thier dues and evry head only gv WADA but very unfortunate that Head i mean Chairman might not be aware about this and we are waiting ........since last FIFA world cup 2010 hope management can see to it
...
written by annonymous, May 27, 2011
I think Anuranjan jJha is a bright chap and would mnot allow such things in his channel.However if so happened in CNEB I am sure he will do the needful.
...
written by pankaj, May 09, 2011
आप की तरह मै भी एक स्टिंगर हू... और आप सभी भाइयो को यही कहूगा की पटना हाईकोर्ट के वकीलों से मिलकर चैनल के लोगो को नोटिस भेजवाइए ताकि कमसे कम हाईकोर्ट के दर्शन करने से परेसान होगे .. तो पता चले तो हो चैनल के लोगो ko... ,,,
...
written by mukesh kumar, May 07, 2011
सच कहना अगर वागवत हैं ,तो समझो हम भी बागी हैं .
रजनीश आपके हिम्मत की प्रसंशा कितनो किया जाय वह कम होगा . आप ने हिम्मत दिखा कर .और भी स्ट्रिंगरो को लडाई लड़ने की ताकत प्रदान की हैं . ये वरे चैनल वाले रिपोर्टर को वधुआ मजदुर समझ लिए हैं .
...
written by brijam pandey_reporter,mahua news, May 07, 2011
cneb ne jis din dinesh anand jaise dalal ko apna bureau banaya.mai samaj gaya tha ki channel ke sath sath stringer ka bhi beda garg hone wala hai.dinesh ko pbc jo ab p7 news hai se nikala gaya tha.sringer ke rupay khane ke chalt.agar meri bato par yakeen nahi hai to bihar ke kisi bhi patrkar se dinesh ke bare me puch ligiya.
...
written by Anuj kumar, May 06, 2011
CNEB managment ki jay ho.chale the dusro ko insaaf dilane aur managment laga khud ko pardarsita baratne me.aur khud stringero ka sosan karne lage.en stringro se dar to nahi hi hoga kyuki anuranjan jha to CNEB ke malik hai lakin sabka malik bhi koi hai ye kaise bhul gaye bewkufe kam kam uper wale se to daro.abhi bhi thora sa shram hai to stringero ka pura nahi dene ka aukat hai to kam se kam 80% bhi kar do.jab itna jaldi amir banna hai to GAAND marane ka dhanda suru karo .
...
written by jyoti kumari, May 05, 2011
yaise logo ko pani me dub kar mar jana chahiye.agar noida me pani ki ghor killat ho to gaya ke falgu nadi me dub kar mar jayo CNEB management dekhne walo kyuki yanhi marne aapki aatma ko shanti milegi aur pure bihar ke stirnger ko khusi. Sharm karo esse achcha wanha toothpaste ka factory chalate agar chhanel chalane ka aukat nahi tha to.

9097323909,Jyoti kumari,gaya
...
written by ashutosh jha , May 04, 2011
rajnish ji , aap chintaa nahi kare . mediya jagat ke ye saput rajnish ko salaam , jisne naa sirf apne liye ,balki pure bihar ke liye awaz uthaya . ab jaraa bhi sharm hongi aise channel walo ko to stringer ke saath anyay nahi karega . aapke saath agar koi pareshani hoti hai to , aap ke liye hum hajaro stringer sarak par utar jayenge . hi cneb , hum naujawano ko rajnish ko salaam karna hoga .
...
written by Sanjeev Naipuri, May 04, 2011

शाबास रजनीश आप ने आज जो दुस्साहस का कार्य किया है वो काबिले तारीफ है .आपने अपने अधिकार के लिए जिस बुलंद हौसले के साथ निडर हो कर जो इस सच को उजागर किया है .इससे निश्चित तौर आप जैसे तमाम और रिपोर्टरों का जो शोषित हुए को भी प्रेरणा मिलेगी .मै तो कहता हूँ उन तमाम शोसितो को की कम से कम आप रजनीश का हौसला जरुर बुलंद करे ताकि उपर बैठे ऐसे मक्कार झूठे लोग अब रिपोर्टरों का शोसन बंद करे .उनके दर्द और परेशानियो को समझ सके .
...
written by prasad bhosekar, May 04, 2011
anuranjan jha tumhari jai ho,tum chinta ka visay ho.
...
written by prasad bhosekar, May 04, 2011
anuranjan ne apni sampati ka khulasa kiya aur bataya ki unki salary Cneb mein 30 lack rupee salana hai,is hisaab se 2.50 lac pratimaah.ab aise bade dil ke patrakar ko apna aur apne maalik sri amandeep sran ka mobile number bhi sarvajanik kar dena chahiye taaki stringers apna paisa seede unse hi maang sake.jai ganesh
...
written by prasun singh, May 04, 2011
rajnish bhai,wakai tusi great ho,hum sabhi tumhare saath hai.ascharya to is baat ka hai ki saal....ne apne bureau tak ka paisa hazam kar liya.ab jha ji ki kurafaat dekhna jaldi hi apne kisi chamche ko phone karega aur kahega ki saal...is rajnish aur dinesh anand ke khilaaf kuch likh aur mujhe thoda badhiye se project kar taaki aisa lage ki woh rupee maine hazam nahi kiya hai. to mere mitra ab aap ready ho jaye kyuki koi bhosd...ka ab aapke khilaaf bhi likhega.
...
written by kisi se naa kehna, May 04, 2011
ना सिर्फ बिहार,बल्कि राजस्थान में तो राहुल देव की टीम को जाने के बाद और प्रबंधनके बदल जाने के बाद इसी चैनल में किसी भी तरह से किसी को भी कोई समाचार भेजने की कवायद करने की जरुरत ही नहीं है.यद्यपि गत विधान सभा चुनावों में मेने और मेरे मित्रों ने इस चैनल के लिए जी जान से पुरे राजस्थान की वास्तविक रिपोर्टिंग की थी और एक एक पल की खबरे दी थी और वो भी बिना रुके किन्तु उस पुरानी टीम के जाने के बाद कोई सुनने वाला भी नहीं.यहाँ तक की कौन क्या है इसका भी पता नहीं.इसकी तो बैंड बजनी ही है और भगवान् करे इसे ही नहीं इसके जैसे सभी चनलों को पत्रकारों का मुह ताकना पड़े और कही से एक समाचार भी ना मिले.आमीन.
...
written by sushant singh, May 04, 2011
bhai rajnish ji,apne to kamaal kar diya samastipur main baithkar anuranjan ki dhoti faadi aur rumaal kar diya.main lucknow mein ek chote se akhbaar ka sampaadak hu aur hamesha se sirf sach hi likhta raha, yahi wajah hai ki in 20 saalon mein mera akhbaar aaj tak chota hi hai.main sri dinesh anand aur sri anuranjan jha ko kaafi dinon se janta hu,yeh dono bihar ke hi hai aur motihari mein hi mera sasural hai.anuranjan ka sambandh motihari se hai lekin sri anand patna ke hi hai.sri anand ke baare mein sabhi jaante hai ki woh na sirf ek safal patrakaar hai balki usse bhi zyada ek achche insaan hai.in dono ke swabhaav ko jaante hue main sirf itna hi keh sakta hu sri dinesh ne aap stringron ka paisa dilane mein koi kami nahi rakhi hogi aur sri jha ne aapke mehnat ke paise ko hazam karne mein. sri anuranjan jha ke waqt sri dinesh anand india news ke bihar bureau the,aur jab sri jha CNEB pahunche to wahan sri anand pehle se bihar bureau the.ab sri dinesh anand taaza t.v ke bihar bureau hai aur ab yeh dekha hai ki sri anuranjan wahan kab pahuncte hai. lekin bhai rajnish ji,yeh aap sabhi stringers ki khusnasibi hi hai ki aaplogon ne sri dinesh anand ke saath kaam kiya hai
aur yeh aap logon ka durbhagya bhi hai sri anuranjan CNEB pahunche.
...
written by spsinha, May 04, 2011
yaar ye thageru channel wale aise hi hote hain, kahawat hai ki bina vichare jo kare so pichhe pachhtaye.usi tarah se aap kaam karane se pehale letter vagerah le lete to yah din nahi dekhana padata.Dar asal bhaiya malik galt nahin hote uper baide prabandan ke naam par baide mathadhish type log hi dalal hote hain jo malik ko khush kar khud laakhon rupaiya payment lete hain aur niche ke logon ka soshan karate hain
...
written by rakesh kumar, May 04, 2011
rajnish ji,sabse pehle to aapke buland hosle ko mera salaam hai ki aapne CNEB prabandhan ke khilaaf itna likhne ka saahas to dikhaya aur woh bhi danke ki chot pe apne mobile number ke saath. main aapko yaad dilana chahta hu dinank 12 march 2011 ko isi news portal pe ek khabar chapi thi jiska sirshak tha"anuranjan jha ko best channel award" waakai channel ke saikdon employee ka paisa hazam karne waale is vyakti ko isse bada award mil bhi nahi sakta.aapne bihar bhar ke stringers ke paise ki charcha to ki lekin apne tatkaalin bihar bureau chief sri dinesh anand ki charcha nahi ki,to main aapko yeh bata du ki sri jha ne aapke tatkaalin bureau chief sri dinesh anand ka bhi 1,50,000/- hadap liya hai. sri anand se jab maine delhi se phone par baat ki to unhone sirf itna hi kaha ki woh rupee shyad meri kismat mein nahi aur yadi kismat mein hoga to aaj na kal mil hi jayega. sri jha ne aap 38 zilon ke stringer aur sri dinesh anand ka hi paisa nahi pachaya hai balki bihar vidhan sabha chunav ke dauraan patna ke srikrishnapuri mein channel dwara liye gaye office ka kiraya aur travel agencey tak ka paisa aaj bhi bakaya hai.rajnish ji,Ek ceo sri rahul dev the jinhone kabhi kisi ko kisi bhi prakaar se nahi sataya aur ek hamaare sri jha saaheb hai.mujhe bhi aapki baat sach lagti hai ki is vyakti ko haaea ek din jaroor lagegi.
...
written by Y K SHEETAL, May 04, 2011
किसी कुराफाती वकील की नजर में मामले को लाइए.

Write comment

busy