सुभारती टीवी में नौकरी के लिए आवेदन करने वालों को सौ रुपये देना होगा

E-mail Print PDF

सुभारती ग्रुप अपना टीवी चैनल लांच करने जा रहा है. इनका दावा है कि वे राष्ट्रीय टीवी चैनल शुरू करने जा रहे हैं. और ये दावा इनका करीब दो वर्ष पहले से है. पर अभी तक चैनल शुरू नहीं हो सका है. ताजी सूचना ये है कि इस ग्रुप ने सुभारती टीवी चैनल के लिए एक विज्ञापन अखबारों में प्रकाशित कराया है जिसमें कई पदों पर योग्य अभ्यर्थियों की मांग की है. बात बस इतनी-सी होती तो कोई बात नहीं. पर सुभारती वालों का दिमाग देखिए कि ये टीवी चैनल लांच करने से पहले ही ठीकठाक कमाई करने के फेर में पड़ गए हैं.

ऐसा पहली बार मीडिया क्षेत्र में हो रहा है कि आवेदन करने वालों से 100 रुपये का बैंक ड्राफ्ट मांगा जा रहा है. विज्ञापन में साफ कहा गया है कि बायोडाटा, पासपोर्ट साइज फोटो और सौ रुपये का ड्राफ्ट सुभारती के पते पर भेजें. अब सोचिए जरा. 100 रुपये का ड्राफ्ट बनाकर कोई बेरोजगार पत्रकार भेजेगा लेकिन गारंटी नहीं है कि उसे रोजगार मिलेगा. बेरोजगारों की बड़ी संख्या को देखते हुए कई मीडिया हाउस अब इनके जेब से पैसे निकालने के प्रयास कर रहे हैं. हिंदुस्तान वालों ने करियर की एक मैग्जीन लांच की है, जिसे पाने के लिए मूल्य चुकाना होगा. चाहते तो ये करियर की मैग्जीन को हिंदुस्तान अखबार के साथ फ्री में पाठकों को दे सकते थे लेकिन ऐसा नहीं किया.

इन्हें लगता है कि बेरोजगारों को रोजगार की सूचना देकर उनसे पैसे निकलवाए जा सकते हैं. कई मीडिया हाउस अंग्रेजी या हिंदी में करियर की मैग्जीन निकाल रहे हैं. प्रतियोगिता दर्पण जैसी मैग्जीन सिर्फ बेरोजगारों के भरोसे खूब बिक रही है और खूब कमाई कर रही है. करियर या प्रतियोगिता पर मैग्जीन तक तो मामला समझ में आता था लेकिन कहीं पर नौकरी पाने के लिए सौ रुपये का ड्राफ्ट भेजना पड़े, यह पच नहीं रहा है. यह सीधे सीधे बेरोजगारों से छल है. इस बात की भी गारंटी नहीं है कि जिनको रोजगार नहीं मिलेगा, उनके क्या ड्राफ्ट वाले पैसे वापस मिल पाएंगे.

सुभारती ग्रुप के बारे में कहा जाता है कि ये लोग पत्थर में से भी तेल निकालने में उस्ताद है. हर चीज से पैसा बनाने की सोच रखते हैं. पर नाम देते हैं समाजसेवा का. मेडिकल हो या मीडिया, सुभारती ने सारा तामझाम समाजसेवा के नाम पर खड़ा किया है. ट्रस्ट के नाम पर कई सारे लाभ ले रहे हैं और ढेर सारे टैक्सेज से बच रहे हैं. लेकिन अंततः इनका मकसद पैसे कमाना होता है. यहां हम सुभारती के टीवी चैनल वाले विज्ञापन को प्रकाशित कर रहे हैं जो एक अखबार में छपा है. आप पढ़ सकते हैं कि इसमें आवेदकों से सौ रुपये का ड्राफ्ट मांगा गया है. भड़ास4मीडिया सभी मीडियाकर्मियों से अपील करता है कि वे किसी लालच न पड़ें और सौ रुपये गंवाने से बचें. आगे भी अगर कोई मीडिया हाउस जाब की वैकेंसी निकालता है और आवेदकों से पैसे मांगता है तो उसका बहिष्कार सभी मीडियाकर्मी करेंगे और ऐसे मीडिया हाउसों पर थू थू करेंगे.


AddThis
Comments (22)Add Comment
...
written by arvind jha, May 17, 2011
जलील मण्डली का एक और जलील कारनामा.....
इन कमीनो से यही उम्मीद की जा सकती है......
...
written by sonu, May 12, 2011
bhagwan hi malik hai.
...
written by rohit, May 12, 2011
sir app to aase nathe. ???????????
...
written by dalipkumarmeena, May 11, 2011
ऐसे चैनल मीडिया को बदनाम करने में लगे हुए है ऐसे चैनलों का भंडाफोड़ जरुरी है साथियो.. इनका सिर्फ मकसद पैसे कमाना होता है..इन्ही की वजह से आज मीडिया पर आये दिन छीटाकशी हो रही है.. भाई इसमें जाकर अपनी छवि न खराब करो? और औरो को भी बचाओ ?..
...
written by dr santosh ojha , May 11, 2011
गुरु, किसी को गरिआने से पहले हम क्यों भूल जाते है कि हम ऐसा क्यों कर रहे है , तमाम ऐसे गुप है जो पत्रकारों का हर क्षण दोहन कर रहे है जिसका जानकारी आप को भली प्रकार से है इनके लिए कौन क्या कर रहा इसका जबाब हम किसी के पास नहीं है रही बात आर पी सर क़ी उनकी शायद कुछ मज़बूरी होगी आखिर मालकन भी तो कोई चीज है
ईश्वर हमको सदबुद्धि दे !
...
written by veer chauhan, May 10, 2011
अरे ये सुभारती वाले तो चोर हैं साले मेरठ के हिस्ट्रीशीटरों में गिनती है इनकी चैनल का लाइसेंस तो दूर की चीज़ है इन्हें तो बैल गाड़ी चलाने का लाइसेंस भी नहीं मिलेगा सालों कोढ़ियों हराम के है ना गरीब पत्रकारों के पास 100 रुपये या तुम्हारी घरवाली को मुह दिखाई देने के नाम पर मांग रहे हो कंगलों भिखारियों थू थू थू थू
...
written by Rohit, May 10, 2011
ईश्वर आपको सदबुद्धि दे !
...
written by अभिषेक, May 10, 2011
जहां तक मुझे खबर है, सुभारती वालों ने एक खबरिया चैनल के लिए आवेदन किया था, लेकिन उनका लाइसेंस रिजेक्ट हो गया. बाद में क्या हुआ पता नहीं. अब लाइसेंस के लिए दोबारा आवेदन भेज दिया है शायद, लेकिन इस बार पास हो या फेल नुकसान किसी का नहीं होगा. खर्च तो आवेदन करने वाले पहले ही दे देंगे.
...
written by sachin, May 10, 2011
harma ke bachooo bhek Mang Lo

tumarrr?????????????????

Samja Gaya
...
written by sunita , May 09, 2011
rp se or umeed kya ki ja skti hai sala kamina hai
or kaminapan dikhata rhta hai
...
written by prashant, May 09, 2011
are bhai ye aise hi hai paisa kamane me aage
pata lag jaye ki koi office chodne wala hai to salary bhi nahi dete
...
written by Akhilesh kumar, May 09, 2011
SINGH SAHAB(R.P.SINGH) aap itana experienced aur profession ke prati honest hokar bhi aise kaise ho sakate hain? 100 rs. lekar interview
ke liye invite karane wali sanskriti ke aap nahi hain. hum aur aapko janane wale janate hain. pl. aisa mat kijiye. Aapki honest aur profession ke prati samarpit image ke liye bhi yeh suchana thik nahi hai. Vishwas nahi hota aapki leadeship me aise -kaise ho raha hai?
...
written by Rahul, May 09, 2011
अरे भाई ......यू.पी. में इस तरह के कई चनैलो प्रचार रन कर रहे है ,20 से 25 हजार तक ले रहे है और देने वाले दे रहे है ,100 रुपे तो मामूली बात है .......Rahul
...
written by BHARAT YADAV KAKORI LUCKNOW, May 09, 2011
ab naukre lane hay to paisa to dana padaga... ek hath lo ek hath do..tv channel ho ya sarkari naukri.. ...............brastachar
...
written by BHARAT YADAV KAKORI LUCKNOW, May 09, 2011
india ka koe jila koe dafter koe loktntr ka khamba sysaa nahe bacha hay jis per brasta char ke aroopo ke cheaty na pade ho to yay kaise pachye rah sakte thay


bharat yadav kakori
...
written by jasvinder singh sabharwal, May 09, 2011
this is the right way.....................
...
written by ajay, May 09, 2011
saalo katora lekar bheekh maago
...
written by pankaj, May 08, 2011
are iss se achha tto yahi hoga ki rp singh team kattoirra le ker sadko per baidth jaye
...
written by shaiendra, May 08, 2011
थू - थू -थू , थू - थू -थू ,थू -
...
written by bhimmanohar, May 08, 2011
khulne se pehle band ho jayega yeh channel ......................
...
written by dost, May 08, 2011
आर. पी. तुम से ऐसे उम्मीद नहीं थी तुम तो पुराने और साफ़ छवि के पत्रकार हो यार लूट खसूट का ऐसा काम कैसे कर दिया गलत है भाई अपनी छवि न खराब करो इसे बनाने में तुमने काफी संगर्ष की है मैंने देखा है तुम को
...
written by :'(, May 08, 2011
थू - थू -थू , थू - थू -थू ,थू - थू -थू .

Write comment

busy