खबर बनाने के लिए महिला को नंगा कराके क्लीपिंग बनाई

E-mail Print PDF

यशवंतजी, इस मामले को गंभीरता से लेते हुए इलेक्ट्रानिक मीडिया के इस कृत्य को उजागर करने की कृपा करें। मामला राजस्थान के श्रीगंगानगर का है. श्रीगंगानगर जिला कलक्टरी में इलेक्ट्रानिक मीडिया ने सारी हदें पार कर दीं. इलेक्ट्रानिक मीडिया से जुड़े रिपोर्टरों ने एक पीड़ित महिला को नंगा करारे उसकी वीडियो क्लीपिंग तैयार करा ली. जानकारी के अनुसार बिजयनगर थाना क्षेत्र की पीड़ित एक महिला दो दिन पूर्व अपनी गुहार लेकर जिला पुलिस अधीक्षक से मिलने पहुंची.

पुलिस अधीक्षक से मुलाकात नहीं होने पर यह महिला जब जिला कलक्टरी में पहुंची, तो इलेक्ट्रानिक मीडिया से जुड़े तीन रिपोर्टरों से उसकी मुलाकात हो गई. मीडियाकर्मियों को जब उसने अपनी व्यथा बताई, तो मीडियाकर्मियों ने खबर का एंगल सोचा और ऐसा काम किया जिसे कोई भी उचित नहीं कहेगा. दरअसल महिला यह शिकायत करने अधिकारियों के पास आई थी कि उसे कुछ लोगों ने प्रताड़ित किया और उसके गुप्तांगों में मिर्च डाली गई. रिपोर्टरों ने महिला को समझाया कि अगर वह सारी बातें बोल दे और नंगा होकर बता दे कि कैसे क्या हुआ उसके साथ तो उसे न्याय मिल सकता है.

महिला के लगाए आरोप को पिक्चराइज करने के लिए इलेक्ट्रानिक मीडियाकर्मियों ने महिला को नंगा कर उसकी वीडियो क्लीपिंग तैयार कर ली. यह कृत्य जिला कलक्टरी में ही किया गया. यहां यह बात बताना जरूरी है, जिस महिला के साथ इस तरह के कृत्य हुए हों, उसका चेहरा भी नहीं दिखाया जा सकता. ऐसे में महिला को नग्न कर उसकी क्लीपिंग बनाकर कौन सा चैनल चला सकेगा. संभव है कुछ चैनल चेहरे व गुप्तांग आदि को ब्लर कर दिखा दें लेकिन यह कौन सी पत्रकारिता है जिसमें किसी महिला की इज्जत के साथ एक बार अपराधी खेलता है तो दूसरी बार मीडिया के लोग.

श्रीगंगानगर से पत्रकार जयप्रकाश मील द्वारा भेजे गए पत्र पर आधारित


AddThis