सीएनईबी की नई पहल ‘ऑल इज़ वेल’

E-mail Print PDF

जिंदगी के खेल में सब हैं पास नहीं है कोई फेल। अपनी नई पहल के जरिए सीएनईबी ने यही संदेश  देने की कोशिश की है उन लाखों  युवाओं को जो अपने करियर के निर्णायक मोड़ पर खड़े होते हैं। 12वीं के नतीजे आने  के बाद देश भर के छात्र-छात्राओ में कई तरह का भ्रम का होता है। कुछ लोग अच्छे नंबर आने के बावजूद तय नहीं कर पाते कि कौन सा कोर्स उनके लिए बेहतर रहेगा जबकि दूसरी ओर कम अंक पाने वाले इस बात को लेकर निराश रहते हैं कि उन्हें पसंद के कॉलेज में एडमिशन नहीं मिल पाएगा।

लेकिन क्या इससे करियर खत्म हो जाएगा? क्या अच्छे कॉलेज में एडमिशन सफलता की निशानी है? दिल्ली विश्वविद्यालय में एडमिशन को लेकर किस तरह की परेशानियां आती हैं? ऐसे ही कई सवालों के जवाब देने की कोशिश कर रहा है सीएनईबी अपने कार्यक्रम ‘ऑल इज़ वेल’ में। इस कार्यक्रम में करियर काउंसिलर आपको बताएंगे जीने की राह।

दिल्ली के टॉप  कॉलेजों में एडमिशन के मिशन पर आए छात्र-छात्राएं तो परेशान रहते हीं है उनके अभिभावक भी कम परेशान नहीं होते हैं। ऑल इज वेल के जरिए सीएनईबी ने उनकी इस परेशानी  को दूर करने का भी अभियान चलाया है। इसमें विशेषज्ञों के जरिए दर्शकों को दिल्ली के कॉलेजों में एडमिशन के सभी पहलुओं के बारे में जानकारी दी जाएगी। इसी के मद्देनजर यह कार्यक्रम दिल्ली विश्वविद्याल में एडमिशन शुरू होने से लेकर उसके खत्म होने तक चलेगा।

‘ऑल इज़ वेल’ में जाने-माने करियर काउंसिलर के जिरए यह बताया जाता है कि व्यक्ति विशेष के लिए कौन सा कोर्स बेहतर हो सकता है। कई बार कम अंक आने पर छात्र-छात्राएं बेहद निराश हो जाते हैं लेकिन सीएनईबी अपने कार्यक्रम के जरिए यह बताने का प्रयास कर रहा है नंबर कम हैं तो भी घबराने की जरूरत नहीं है रास्ते और भी हैं। सीएनईबी के इस कार्यक्रम का प्रसारण रोजाना शाम 6 बजे होता है। प्रेस विज्ञप्ति


AddThis
Comments (2)Add Comment
...
written by jyoti kumari, May 30, 2011
CNEB ke all is well kahne se sirf managment ko hi all is well ho raha hoga.un stringro ka kaun ka well hone wala hai,besharm managment.
...
written by viplava awasthi, May 27, 2011
अरे भइया..पहल करनी है तो उन लोगों के लिए कीजिए ..जिनका विकेट लगातार गिर रहा है....सीएनईबी के ऑल इज वेल कह कर भड़ास में छपवाने से चैनल का कोई भला नहीं होगा। सोचिए बेचारे कर्मचारियों का क्या हाल है...जिनके बारे में रोज खबर मिलती है कि आज ये गया तो आज वो...

Write comment

busy