मैग्जीन-अखबार चला नहीं, अब चैनल चलाने में जुटेंगे

E-mail Print PDF

पिछले दिनों मध्यप्रदेश-छत्तीसगढ़ से ''प्रदेश टुडे'' नामक सांध्य दैनिक लांच हुआ. यह अखबार सिर्फ मीडिया वालों के बीच चर्चा का विषय बनकर रह गया क्योंकि इस अखबार में मीडिया वालों की खबरें भी नमक मिर्च लगाकर छपा करती हैं. अखबार के अलावा ''प्रदेश टुडे'' नाम से मासिक मैग्जीन का भी प्रकाशन किया जाता है जो कहीं चर्चा में नहीं आ पाया और किसी भी तरह का प्रभाव छोड़ने में असफल रहा.

आम जनता तक पैठ बना पाने में नाकाम रहे इस अखबार व मैग्जीन के संपादक और प्रबंधक अब इसी नाम से चैनल चलाने की तैयारी कर रहे हैं. भोपाल से मिली जानकारी के अनुसार  हृदयेश दीक्षित की चेयरमैनशिप वाला वीएनएस ग्रुप अब प्रदेश टुडे के नाम से रीजनल न्यूज चैनल लांच करेगा.  मजेदार यह कि इस चैनल को अभी लाइसेंस नहीं मिला है लेकिन चैनल लाने की चर्चा मार्केट में तेजी से फैलाई जा रही है. मध्य प्रदेश छत्तीसगढ़ में पहले से ही कई रीजनल चैनल हैं जिनमें ज्यादातर उगाही, ब्लैकमेलिंग, पेड न्यूज जैसे कामों में लिप्त हैं. ऐसे में एक और चैनल पत्रकारिता या जनता का कितना भला करेगा, देखने लायक होगा.

प्रदेश टुडे के जनरल मैनेजर उपदेश अवस्थी हैं, जो पहले राज एक्सप्रेस में थे. स्ट्रिंगर नियुक्ति से लेकर कई तरह के कामों को उपदेश देख रहे हैं. हृदयेश दीक्षित भी पहले राज एक्सप्रेस में थे. प्रदेश टुडे में काफी संख्या में ऐसे लोग हैं जो राज एक्सप्रेस से हटने या हटाए जाने के बाद कहीं सेटल नहीं हो पाए तो इस नए प्रदेश टुडे अखबार के हिस्से बन गए. हालांकि इस अखबार से जुड़े कई लोग बाद में चुपचाप चले भी गए.


AddThis