ईटीवी वालों के पास राज्यसभा चैनल से पहुंचने लगा काल लेटर

E-mail Print PDF

ईटीवी, हैदराबाद से खबर है कि यहां कार्यरत लोगों के पास राज्यसभा चैनल के लिए लेटर आने शुरू हो गए हैं. ये लेटर असिसटेंट,एसोसिएट और सीनियर प्रोड्यूसर तक के लिए जारी किए गए हैं. ईटीवी के हेड ऑफिस से लेकर ब्यूरो तक में लोगों ने इन पदों के लिए आवेदन भरा था. इसकी लिखित परीक्षा के लिए लोगों को बुलाया जा रहा है. हैदराबाद में ईटीवी के चलने वाले चार क्षेत्रीय चैनलों के डेस्क पर काम करने वालों में से 20-25 लोगों को कॉल लेटर आए हैं.

 

 

चूंकि ईटीवी में काम करने वाले 70-80 फीसदी लोगों के मई या जून में बांड पूरे होने वाले हैं लिहाज़ा ईटीवी ने पैंतरा बदलते हए बड़े पैमाने पर एंकर और बुलेटिन प्रोड्यूसर के लिए टेस्ट लिए थे. एंकरों की ट्रेनिंग तो फटाफट करा कर कुछ चुनिंदा लोगों को एंकर बना दिया गया, मगर बुलेटिन प्रोड्यूसर का रिज़ल्ट नहीं घोषित किया गया. अब जो ख़बर राज्यसभा चैनल की मिल रही है उससे मैनेजमेंट को लग रहा है कि ज्यादा से ज्यादा लोग एक्ज़ाम के लिए जा सकते हैं लिहाज़ा ईएसआई डिपार्टमेंट से बात की जा रही है, सबकी छुट्टी रोकने के लिए. इसके अलावा बुलेटिन प्रोड्यूसर का रिज़ल्ट घोषित करके इंटरव्यू भी छह तारीख से लेकर आठ तारीख के बीच कराने की तैयारी है.

दूसरी तरफ एक नया प्रकरण ईटीवी में सामने आया है. ईटीवी के एक कर्मचारी जो कि एंकर है और हैदराबाद हेड ऑफिस में चलने वाले एक संस्थान जो कि फिल्म एकेडमी के नाम से प्रचारित है, के लड़कों के बीच कैंटीन में पानी के जग को लेकर कहासुनी हुई. मामला मैनेजमेंट तक पहुंचा तो एंकर को समझा दिया गया कि ये सब बड़े बाप की औलाद हैं जिनसे संस्थान को पैसा मिलता है, लिहाजा ज्यादा उछलकूद मचाने की ज़रूरत नहीं है, तुम्हारे जैसे बहुत आएंगे यहां. इसके बाद एमपी चैनल के एंकर को उनके डीआई महोदय ने कैंटीन में नाश्ता और खाना खाने से मना कर देने का फरमान सुना दिया है.


AddThis