सहारा का चमत्‍कार : निफ्टी को पहुंचाया 53 हजार के पार

E-mail Print PDF

खबरों से सबसे पहले ब्रेकिंग न्‍यूज के रूप में दर्शकों के सामने पहुंचाने के चक्‍कर में चैनल दर्शकों को कितनी गलत खबरें देते हैं इसका कोई निश्चित आंकड़ा उपलब्‍ध नहीं हैं.  पर तमाम छोटे-बड़े चैनलों पर हड़बड़ी में गलत शब्‍द, गलत सूचनाएं लोगों को देखने को मिलती हैं. अब तो खैर क्‍या ब्रेकिंग है क्‍या ब्रेकिंग नहीं है इसकी परिभाषा को समझना ही मुश्किल है. ऐसी ही एक गलती किया सहारा समय और सहार बिहार-झारखंड ने.

ब्रेकिंग न्‍यूज जल्‍द से जल्‍द पहुंचाने के चक्‍कर में सहारा समय और सहारा बिहार झारखंड ने एक गलत सूचना ब्रेक कर दी. दोनों चैनल अपने ब्रेक्रिंग न्‍यूज में बता रहे थे कि सेंसेक्‍स 18000 से नीचे तथा निफ्टी 54000 से नीचे चला गया है. जबकि हकीकत इससे इतर है. निफ्टी ज्‍यादातर समय दस हजार से नीचे ही सिमटी रहती है. आज तक निफ्टी ने कभी दस हजार के आंकड़े को पार नहीं किया, लेकिन सहारा के दोनों चैनल निफ्टी को जबरिया 54000 के आंकड़े तक पहुंचा कर चमत्‍कार कर दिया था.

इस गलती की तरफ किसी भी वरिष्‍ठ या कनिष्‍ठ पत्रकार का ध्‍यान नहीं गया. काफी देर तक ब्रेकिंग के रूप में यह खबर चलती रही. जानने वाले लोग और तमाम दर्शक इस ब्रेकिंग न्‍यूज को देखकर सहारा में काम करने वालों की बुद्धि पर तरस खाते रहे, पर सहारा वालों ने ब्रेकिंग न्‍यूज के रूप में झूठा ही सही निफ्टी को 54000 तक पहुंचाकर अपने चमत्‍कारित ताकत को तो दिखा ही दिया.

सहारा

सहारा

एक पत्रकार द्वारा भेजे गए पत्र पर आधारित.


AddThis
Comments (8)Add Comment
...
written by khushbu sharma, June 19, 2011
galti se hua hoga aisa, wise bhi galti harek insan se hoti he.खबरों से सबसे पहले ब्रेकिंग न्‍यूज के रूप में, सहार बिहार-झारखंड ने.do galti to baithe baithe maine bhi aapki nikal di, badas ka kaam galat ke khilaf awaj banna tha, ye bakwash chapne ka kya matlab?
...
written by khushbu sharma , June 19, 2011
are sir jee, pahle apna likha hua to dekho खबरों से सबसे पहले, सहार बिहार-झारखंड ने. do galti to maine bhi baithe baithe nikal di aapki. dusre ke gher me patthar marne ke pahle apne gher par nazar daal lo. maine bhi channel dekha tha. baad me theek karke chalaya gaya tha. ye ek mistake he, ispar bawal kyon kaat rahe ho? main sahara me nahi hun, dubai me rahti hun, lekin ye channel niyamit dekhti hun............bhadash main padha karti thi, ispar pehle galat ke khilaf awaj uthane ki muhim chala karti thi, lekin ab keval dusre ki tang khichne ka kaam ho raha he. to shayad ab main bhadash par dubara nahi aaun..............
...
written by anuj gupta, June 19, 2011
pahle apni khabar dekho kitna galat likhte ho, PAHLE APNE GIREBAAN ME JHANKO PHIR DUSRON KO KAHO.
...
written by ramkumar, June 18, 2011
is group ka to bhagwan ka hi sahara hai. Iske up bureau chief tiwari ne to agra me isi mahine hue adhiveshan me sp supremo mulalayam aur ramgopal ke hazro longo ki bhid me pair chuye. Agra ke journlist ne khoob hooting ki thi
...
written by ramkumar, June 18, 2011
is group ka to bhagwan ka hi sahara hai. Iske up bureau chief tiwari ne to agra me isi mahine hue adhiveshan me sp supremo mulalayam aur ramgopal ke hazro longo ki bhid me pair chuye. Agra ke journlist ne khoob hooting ki thi
...
written by ramkumar, June 18, 2011
is group ka to bhagwan ka hi sahara hai. Iske up bureau chief tiwari ne to agra me isi mahine hue adhiveshan me sp supremo mulalayam aur ramgopal ke hazro longo ki bhid me pair chuye. Agra ke journlist ne khoob hooting ki thi
...
written by ये क्या हो रहा है...., June 17, 2011
टी न्यूज़ रूम में बहुत प्रेशर होता है। और गलती भी तो इंसानों से ही होती है।
...
written by कमल शर्मा, June 17, 2011
न्‍यूज लाइन में निफ्टी 54 हजार के स्‍तर से नीचे कही जा रही है। 5400 होना चाहिए था जो टाइपिंग गलती से ऐसा हुआ होगा। शेयर बाजार में कारोबार करने वाले प्‍लेयर व निवेशक इसे आपसी समझ से समझ जाते हैं कि 5400 के नीचे है बाजार। सहारा से गलती तो हुई है मेरा मानना है कि हडबडी में ऐसा हुआ होगा। इस टिप्‍पणी से यह न मानें कि मैं सहारा का कर्मचारी हूं या था। एक निवेशक के नाते यह स्‍व समझ का विषय है। वैसे भी शेयर बाजार में कारोबार टीवी देखकर नहीं किया जाता।

Write comment

busy