एक नेशनल न्यूज चैनल पर माया की नजर टेढ़ी, अघोषित पाबंदी, केबल पर प्रसारण बंद

E-mail Print PDF

लखनऊ : उत्तर प्रदेश में बलात्कार की खबरों को मीडिया में प्रमुखता से दिखाया जा रहा है। बताया जा रहा है कि इसी के चलते मायावती सरकार की नज़र एक राष्ट्रीय न्यूज चैनल पर टेढ़ी हो गई है। चैनल के प्रतिनिधि का आरोप है कि सोमवार को दोपहर से चैनल प्रदेश भर के जिलों में केबल नेटवर्क से अचानक गायब हो गया। कई दर्शकों ने चैनल दिखाई न देने की शिकायत की तो उन्होंने केबल नेटवर्क से बात की।

केबल चलाने वाले कारोबारी दबी जुबान में मान रहे हैं कि ऊपर से दबाव है। हालांकि, चैनल पर पाबंदी के बारे में सरकार की ओर से पुष्टी नहीं की जा रही है। इस बारे में अधिकारी कह रहे है कि केबल पर कोई चैनल नही दिखाई दे रहा है तो इस मामले से उनका कोई लेना देना नही है, यह तकनीकी मामला हो सकता है। चैनल के प्रतिनिधि ने कहा कि प्रदेश की राजधानी में उनका चैनल पूरी तरह बंद है।  राज्य के दूसरे जिलों में कुछ जगह चल रहा है तो दूसरी कई जगहों पर दिखाई नहीं दे रहा है। हालांकि केबल नेटवर्क के अलावा यह चैनल अन्य दूसरे डीटूएच माध्यमों पर उपलब्ध है।

दैनिक भास्कर में विजय उपाध्याय की रिपोर्ट


AddThis
Comments (5)Add Comment
...
written by jasvinder, June 28, 2011
bilkul thik kiya.

good.
...
written by Deepak, June 25, 2011
ASE HE SACHHAI KA GALA GUT JATA HAI AGAR KOI KUCH ACHHA KAAM KARE THO USKE HAZAAR DUSHMAN PAIDA HO JAATE HAI PAR KYA KARE DESH KI JANTA HE SABSE BADI BEVKOOF HAI DIN P DIN DAAM BADH RAHE HAI LEKIN SAB CHUP AMEER AADMI KAA THO KUCH NAHI BIGDEGA GARREB AADMI KI --------- MARJAAYEGI

...
written by marisa, June 25, 2011
bhai sahab channel ki kabar toh aap likh raahey hai, channel ka naam aap bhi toh dabi likhwat nahi likh raahey hai...jis ki lathi oas ki ?????????? samjah gaaye na aap
...
written by एक सवांददाता, June 25, 2011
चलो ये भी ठीक है जब कांग्रेस सरकार के आदेश पर सभी न्यूज चैनल बाबा रामदेव और अन्ना हजारे के प्रसारणों को रोक सकते हैं तो फिर जब इस राष्ट्रीय चैनल का प्रसारण यूपी में रुक जाए तो हैरानी नहीं होनी चाहिए । क्योंकि इस देश में सबसे ऊपर सरकार है । ना कि लोकतंत्र का चौथा स्तम्भ ।
...
written by Srikant saurav, June 25, 2011
सही है भाई,पानी में रहकर मगर से बैर मोल लेने की कीमत कुछ तो चुकानी ही होगी.फिर भी लगे रहो मुन्ना भाई, क्योंकि यही मीडिया का असली धर्म है.लेकिन पराडकर बनने के चक्कर में नौकरी से ही हाथ न धोना पड़ जाए,इसका भी ख्याल जरुर रखना. SRIKANT SAURAV-9473361087

Write comment

busy