खबर दिखाने के कारण लखनऊ में आईबीएन7 टीम पर पुलिस का धावा

E-mail Print PDF

: ब्यूरो चीफ शलभमणि त्रिपाठी को उठाकर ले गई पुलिस : बदसलूकी, मारपीट के बाद धमकी दी गई : लखनऊ के एएसपी बीपी अशोक और सीओ अनूप कुमार का कारनामा : लखनऊ। लखनऊ में आईबीएन7 की टीम पर लखनऊ पुलिस ने हमला किया है। सीएमओ हत्याकांड और डॉ. सचान की मौत की खबर का पर्दाफाश करने वाले आईबीएन7 ब्यूरो चीफ संवाददाता शलभमणि त्रिपाठी को लखनऊ पुलिस उठा कर ले गई और उनके साथ बदसलूकी की गई।

मौके पर मौजूद आईबीएन7 एक और संवाददाता मनोज राजन त्रिपाठी ने इस बारे में जानकारी देते हुए कहा कि हजरतगंज इलाके में आईबीएन7 की पूरी टीम मौजूद थी तभी एडिशनल एसपी बी पी अशोक और सीओ अनूप कुमार वहां आए और आईबीएन7 के पत्रकार शलभमणि त्रिपाठी और उनके साथ मारपीट करने लगे। यही नहीं, शलभमणि के कपड़े फाड़ दिए गए और उन्हें जबरन उठाकर हजरतगंज थाने ले जाया गया और झूठे केस में फंसाने की धमकी दी गई। इस खबर को लखनऊ में फैलते ही तमाम पत्रकार हजरतगंज थाने पहुंच गए और नारेबाजी करने लगे, जिसके बाद शलभमणि को छोड़ा गया।

पुलिस से छूटते ही शलभमणि ने खुद बताया कि पुलिस के इन दोनों अधिकारियों ने गाली-गलौज करते हुए कहा कि किसी महिला को पकड़कर लाओ और इसे गलत केस में फंसाते हैं तब इन लोगों को होश ठिकाने में आएगा। शलभमणि ने कहा कि इन दोनों अधिकारियों ने अपने जूनियर पुलिस वालों से कहा कि इसे पीटो और लाकऑप में बंद करो, जब पुलिस वालों ने पीटने से इनकार किया तो उन्हें सस्पेंड करने की धमकी दी गई।

पुलिस वालों के चंगुल से छूटकर अपने चैनल को घटना की जानकारी देते शलभमणि त्रिपाठी

शलभमणि ने बताया कि उन्हें डराने की कोशिश की गई, क्योंकि पिछले कुछ दिनों से वो डॉक्टर सचान की मौत को लेकर कई खुलासे कर रहे थे। शलभमणि ने कहा कि वो इस धमकी से डरने वाले नहीं हैं वो सच को सामने लाते रहेंगे। इस घटना की तमाम राजनीतिक पार्टियों ने कड़ी निंदा की है। तमाम पत्रकारों ने लखनऊ में मुख्यमंत्री मायावती के घर के बाहर प्रदर्शन करते हुए दोषी पुलिस अफसरों को सस्पेंड करने की मांग की है। सरकार की तरफ से अभी तक कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है। साभार : आईबीएन7


AddThis
Comments (14)Add Comment
...
written by digvijay mishra, June 28, 2011
shalabh bhaiya es sare muhim me mere jaise sabhi patrakar bandhu aapke saath hai. sacche ka bolbala, jhoothe ka muh ho gaya kala suspend ho kar
...
written by vineet kumar, June 27, 2011
Shame..shame .shame to Up government Apnni naalayki chhupane ke liye . Up police dowara patrakaron par hamala kara rahe hain .......Sharm karosmilies/angry.gifsmilies/angry.gifsmilies/angry.gif

vineet kumar
gorakhpur
9936809770
...
written by sushil shukla,shahjahanpur up, June 27, 2011
shame-shame up police&maya sarkar shame-shame.......up me badhte apradhon ko rokne me nakaam police aur maya sarkar k liye ye ghatna bahut hi sharm naak hai.. sach ko samne lane wale patrkaron per bhi ab to hamle hone lage hain ye badi baat nahi hai balki sharm ki baat to ye hai ki ye hamle police ne hi maya k ishare per kiye hain ......wo din door nahi jab maya ka bhi gaddafi aur husne-mubarak jaisa hall hoga aisa mera nahi balki karodon janta ka aisa hi manna hai.
...
written by anuj, June 27, 2011
uttar pradesh ab narak pradesh ban gya h. jaldi hi kuch karna hoga'''
jab chankya ko gananan ne apne yaha se bhaga diya tha aur vo ek braminh tha aur mayabati ne bhi ek brahmin ke satha aisa hi karwaya hai isliye iska bhi an hai...
...
written by johnsujju, June 27, 2011
तुम्हे चुनाव नजदीक आते ही उत्तरप्रदेश में ही क्राइम दिखता है क्या ?आप बिहार,मध्य प्रदेश,महाराष्ट्र या कई राज्यों में चल रहे क्राइम नहीं दीखते क्या ?
...
written by johnsujju, June 27, 2011
आप गलत रिपोर्टिंग क्यू करते हो.समाजवादी पार्टी-बीजेपी-और कांग्रेस मिलाकर ये सब खेल खेल रहे और आप उसमे शामिल है.उत्तरप्रदेश सरकार की विज्ञापन मांगने के लिए जनसंपर्क विभाग उत्तरप्रदेश के तलवे चाटते है.इतना डंके की चोट पर रिपोर्टिंग करते हौ तो फिर उत्तरप्रदेश सरकार का विज्ञपन भी नहीं लेना चाहिए.
...
written by ishwar singh, June 27, 2011
up police apni nakamiyo ko chhupane ke liye kuchh bhi kar sakti hai. patrakar shalabh mani par ki gayi karyawahi ka agar patrakaron ne khulkar virodh nhi kiya to ies tarah ki ghatnaye hoti rahengi. up govt. ko tatkal action lena chahiye. yah nihayat hi ek sharmanak ghatna hai.
...
written by ADIL SAIFI, June 27, 2011
U.p ke police to khud apradhi hai to wo patrkaro ko aresst kar rahe hai kyuki police to cmo aur dr sachaan ke hatya ka khulasa nahi kar rahi but patrkar jab enke kartoot ka parda hata te hai to u.p ke police bokhla jate hai aur waisey bhi u.p mai jo apradh ho rahe hai unka award to u.p police ko he jata waise bhi sach to qadwa hota hai u.p police farje kulasa karne se better patarkaro ko he arrest kar rahe hai
...
written by shoaib, June 27, 2011
yhe sharmnak ghatna he sabhi kalam karo ko ek hona chahiye . aur shalab bhi ki trhe hi sahas karke shi khabar ko dikhana chahye i yhe v.p. ashok ko kuan nhi janta he agr me bhi iska yhi hal tha pane ko c.m. ka rishtedar btata tha .shalab ap himmat n haro khuda apke sathhe aur kalam kar bhi . apke jazbe ko mera slam...shoaib
...
written by nkdewan shelly Haridwar , June 27, 2011
Shame..shame .shame ...Up police Apnni naalayki chhupane ke liye
patrakaron par nazlaa utaar rahe hain .......Sharm karo sharm .....
...
written by Sadashiv Tripathi, June 27, 2011
कानून के भक्षक बने ऐसे पुलिस वालों का निलंबन कत्‍तई पर्याप्‍त नहीं
इन्‍हें गिरफतार कर जेल भेजा जाना चाहिए
...
written by nkdiwan shelly, June 27, 2011
Shame..shame .shame to Up police Apnni naalayki chhupane ke liye
patrakaron par nazlaa utaar rahe hain .......Sharm karo
...
written by Harit Pradesh Vichar Manch, June 26, 2011
Harit Pradesh Vichar manch strongly condemn this action of Maya police. There is no law and order in state now. we support entire media on this issue. Maya sarkar cannot play like this with media. We will make this an issue.
...
written by Haryashva Singh, June 26, 2011
Sharamnaak Ghatna.

Write comment

busy