मीडिया के लोगों के साथ खराब बर्ताव न करें अफसर : मायावती

E-mail Print PDF

लखनऊ से खबर है कि उत्तर प्रदेश की मुख्यमंत्री मायावती ने अपने अफसरों को निर्देश दिया है कि वे मीडिया के लोगों के साथ कतई खराब व्यवहार न करें. उन्होंने कहा कि जो भी अफसर मीडियाकर्मियों के साथ गलत व्यवहार करने के दोषी पाए जाएंगे, उनके खिलाफ कानूनी कार्यवाही की जाएगी. मायावती ने ये बातें यूपी में कानून व्यवस्था के मुद्दे पर अफसरों की एक बैठक में कहीं.

उल्लेखनीय है कि आईबीएन7 के शलभमणि त्रिपाठी और मनोज राजन के खिलाफ यूपी पुलिस के दो अफसरों ने मारपीट और दुर्व्यवहार किया. पत्रकारों के कड़ा विरोध जताए जाने के बाद उन दोनों अफसरों को सस्पेंड कर दिया गया और उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज करा दी गई है. इस घटना की देश भर में निंदा हो रही है. उत्तर प्रदेश की सभी राजनीतिक पार्टियों ने शलभ और मनोज पर पुलिसिया हमले की तीव्र निंदा की. अपने साथ हुए हादसे के बारे में पत्रकार शलभ का कहना है कि वे जब सहकर्मियों के साथ सड़क किनारे खड़े थे तो उस दौरान रोड पर जाम लगा था.

तभी दो पुलिस अफसर आए और कालर पकड़ कर बोले कि गुंडागर्दी करता है, उल्टी खबरें दिखाता है. उन लोगों ने जिप्सी में डाल दिया और थाने ले गए. सीओ लगातार गाली देता रहा, साथ ही धमकी दी कि सरकार के खिलाफ खबरें दिखाना बंद कर दो वरना बुरा अंजाम होगा. पुलिसवालों ने शलभ के साथ खड़े आईबीएन7 के मनोज राजन का भी कालर पकड़ लिया पर मनोज जिप्सी से निकल भागने में कामयाब हो गए. मनोज को निकल भागते देख एएसपी बीपी अशोक और हजरतगंज थाने के सीओ अनूप कुमार ने उन्हें दौड़ा लिया. मनोज ने बाद में मीडिया के लोगों को सूचित किया. उधर, हजरतगंज थाने में अफसरों ने सिपाहियों को कहा कि शलभ को लॉकअप में बंद कर लाठियों से पीटो. पर पुलिस वालों ने पत्रकार की पिटाई करने के अपने अफसरों के आदेश को मानने से इनकार कर दिया. बाद में सैकड़ों मीडियाकर्मी थाने पहुंचे और शलभ को निकलवाने में कामयाब हुए.


AddThis