सीईओ योगेद्र शुक्‍ला एमके न्‍यूज को ले डूबे

E-mail Print PDF

: दूसरे को मूर्ख समझते हैं शुक्‍ला जी : यशवंतजी,  नमस्कार.  कल भड़ास में एमके न्यूज़ के बारे में पढ़ा काफी रोचक जानकारियां सामने आईं,  लेकिन साथ ही कुछ लोग जिन्होंने इस न्यूज़ चैनल को खड़ा करने में अपना योगदान दिया, उन्हें ही वह सम्मान नहीं मिला जिसके वो हकदार थे. वो चाटुकारिता करना नहीं जानते थे.  अतः वो चैनल को छोड़ कर जाने के लिए मजबूर थे.

अब बात करते है एमके न्यूज़ चैनल के सीईओ योगेद्र शुक्‍ला की.  शुक्ला जी की एक ख़ास आदत है कि वे अपने आपको बहुत सम्मान देते है और अपने सामने के हर आदमी को बेवकूफ समझते हैं. मेरा भी वास्ता शुक्ला की बेवकूफी भरी हरकत से पड़ा मैं एमके न्यूज़ में बतौर रिपोर्टर ज्वाइन किया और कथित सीईओ ने मुझ से भी पैसों की मांग का मामला सिर्फ यहीं पर नहीं ख़त्म हुआ शुक्ला ने छत्तीसगढ़ में लगने वाले सभी सेट अप बॉक्स के एवज में भी पैसे मांगे एमके न्यूज़ के चेयरमैन संजय तिवारी वास्तव में एक बिल्डर है और योगेन्द्र शुक्ला वहीं मुनीम का काम किया करता था.

पत्रकारिता का अ ब स नहीं जानने वाले इस शख्स ने एमके न्यूज़ में काम करने वाले मेरे कई और साथियों को भी काफी परेशान किया है. संजय तिवारी के न्यूज़ चैनल में घोड़ों और गधों को एक ही नजर से देखने की कोशिश की गई नतीजा सबके सामने है कई लोगों ने धीरे-धीरे चैनल से किनारा कर लिया और आखिरकार चैनल बंद हो गया मनोज सैनी ने कई काबिल लोगों को भी जोड़ा था,  लेकिन उनके जाने के बाद सीईओ और केबल न्यूज़ से जुड़े चन्द्रशेखर और इस चैनल के ब्यूरोचीफ ने सभी रिपोर्टर से विज्ञापन के नाम से पैसे की डिमांड शुरू कर दी.  दूसरी तरफ संजय तिवारी कई उपकरणों की खरीद के लिये भी कहते थे,  लेकिन भुगतान सीईओ को करने को कहते थे. सीईओ रसीद तो ले लेते थे पर भुगतान अभी तक नहीं किया.

कुल मिला कर इस चैनल में काम करना किसी उत्पीड़न से कम नहीं था.  अभी भी जो लोगो काम कर रहे हैं उन्हें भी सीईओ किनारे करने की कोशिश में हैं,  लेकिन खबर यह भी है कि सीईओ महोदय की कारगुजारियों की भनक चेयरमैन को भी लग चुकी है और उसकी छुट्टी भी हो गई है. और कल भड़ास में जो पढ़ने को मिला वो भी निश्चित तौर पर शुक्ला की दिमाग की उपज है.

जरीन सिद्दीकी

पूर्व पत्रकार एमके न्‍यूज

छत्‍तीसगढ़

This e-mail address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it


AddThis