बिन अन्ना आजतक हुआ सून, इंडिया टीवी फिर किंग

E-mail Print PDF

अन्ना के आंदोलन के दौरान आजतक पूरे फार्म में था. दर्शकों ने सबसे ज्यादा भरोसा इसी चैनल पर किया और सबसे ज्यादा इसी को देखा. इस कारण टीआरपी में यह चैनल अपनी नंबर वन की कुर्सी पर आसीन हो गया. लेकिन अन्ना आंदोलन के शांत होने के बाद अब जो टीआरपी आई है, उससे पता चलता है कि इंडिया टीवी ने फिर से नंबर एक कुर्सी पर कब्जा जमा लिया है. इंडिया टीवी थोड़े ही मार्जिन से नंबर वन बना है लेकिन कहा तो यही जाएगा कि आजतक नंबर दो पर चला गया है.

नंबर तीन पर स्टार न्यूज है. आजतक और स्टार न्यूज के बीच बेहद बारीक फासला है. कह सकते हैं कि हालात यही रहे तो स्टार न्यूज कहीं नंबर दो न बन जाए और आजतक को तीसरे पायदान पर आना पड़े. हालांकि आजतक में सुप्रिय प्रसाद की एक्जीक्यूटिव एडिटर के पद पर ताजपोशी के बाद माना जा रहा है कि यह न्यूज चैनल फिर से अपनी पुरानी स्थिति में वापस लौट आएगा लेकिन सुप्रिय के आजतक छोड़ने और वापस आने के बीच यमुना में काफी मैला पानी बह चुका है. विनोद कापड़ी के नेतृत्व में इंडिया टीवी ने बीती रात प्राइम टाइम पर अन्ना के गांव में मीडिया की स्थिति की तुलना पीपली लाइव फिल्म से करके शानदार प्रोग्राम पेश किया. पीपली लाइव फिल्म के एक-एक दृश्य दिखाकर उसी के अनुरूप बने अन्ना के गांव के मीडियामयी माहौल को पेश किया गया. यह कार्यक्रम बेहद रोचक और दर्शनीय बन पड़ा था.

कह सकते हैं कि विनोद कापड़ी नए नए तरीके आजमाकर दर्शकों को बांधने की कोशिश कर रहे हैं जबकि आजतक घिसे पिटे और आजमाए नुस्खों के जरिए दर्शकों को लुभाने की कोशिश कर रहा है. आजतक ने एक दिन पहले बिना कागजात मोबाइल सिम हासिल किए जाने की खबर को प्रमुखता से पेश किया. पर जानकारों का कहना है कि ऐसी खबरें कई बार कई अखबार और चैनल चला दिखा चुके हैं. ऐसे में अब जरूरी है कि आजतक की टीम क्रिएशन के नए फार्मेट इजाद करे अन्यथा उसे अपनी गद्दी यूं ही गंवाने को मजबूर होता रहना पड़ेगा. इस हफ्ते की टीआरपी के मुताबिक इंडिया टीवी 16.2, आजतक 15.4, स्टार न्यूज़ 15.2, आईबीएन7 10.3, जी न्यूज़ 9.5, एनडीटीवी इंडिया 7.5, लाइव इंडिया 6.3, तेज 4.5, समय 4.3, और डीडी 1.8 है.


AddThis